Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav 2022: फर्रुखाबाद में कश्यप अधिकार सम्मेलन का मंच टूटा, कई नेता गिरे, लगी चोट

UP Chunav 2022: फर्रुखाबाद में कश्यप अधिकार सम्मेलन का मंच टूटा, कई नेता गिरे, लगी चोट

मंच के दूसरे हिस्से में बैठे नेताओं को सावधानीपूर्वक नीचे उतारा गया.

मंच के दूसरे हिस्से में बैठे नेताओं को सावधानीपूर्वक नीचे उतारा गया.

Stage broken, fallen leaders : इस मंच पर कई ऐसे नेता भी चढ़ आए थे, जिन्हें मंच पर बुलाया ही नहीं गया था. मंच पर इतनी भीड़ हो गई कि वह बोझ सह नहीं सका और उसका आधा हिस्सा भरभरा कर नीचे आ गिरा. इस हादसे में सपा जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फारुखी, अरशद जमाल सिद्दीकी, पूर्व विधायक अजीत कठेरिया, सुबोध यादव और महेंद्र सिंह कटियार को चोटें आई हैं. मंच टूटते ही भगदड़ की स्थिति बन गई. हालांकि मंच के दूसरे हिस्से में मौजूद नेताओं को सावधानी के साथ मंच से नीचे उतारा गया.

अधिक पढ़ें ...

फर्रुखाबाद. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर चल रहे कश्यप अधिकार सम्मेलन का मंच अचानक भरभरा कर टूट गया. इस मंच पर मौजूद सुहेल देव भारतीय समाज पार्टी और सपा के कई नेता टूटे मंच के साथ नीचे आ गिरे. मंच के टूटने से कई नेता चोटिल हुए हैं. समाजवादी पार्टी और सुहेल देव भारतीय समाज पार्टी की ओर से कश्यप अधिकार सम्मेलन का आयोजन मोहद्दीनपुर गांव में किया गया था.

बता दें कि इस मंच पर कई ऐसे नेता भी चढ़ आए थे, जिन्हें मंच पर बुलाया ही नहीं गया था. मंच पर इतनी भीड़ हो गई कि वह बोझ सह नहीं सका और उसका आधा हिस्सा भरभरा कर नीचे आ गिरा. इस हादसे में सपा जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फारुखी, अरशद जमाल सिद्दीकी, पूर्व विधायक अजीत कठेरिया, सुबोध यादव और महेंद्र सिंह कटियार को चोटें आई हैं. मंच टूटते ही भगदड़ की स्थिति बन गई. हालांकि मंच के दूसरे हिस्से में मौजूद नेताओं को सावधानी के साथ मंच से नीचे उतारा गया. इस अफरातफरी के शांत होने के बाद सुहेल देव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने उपस्थित लोगों को संबोधित किया.

अपने भाषण में राजभर ने राज्य और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि योगी जी अनुपयोगी हैं. एसआई की भर्ती रुकी हुई है. बांदा से बलिया तक कोरोना के दौरान हालत खराब होने के बावजूद ये लोग बंगाल चुनाव में वोट मांग रहे थे. उन्होंने कहा कि यूपी चुनाव में कई दल एकसाथ आ गए हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार हमने ही बनवाई थी और हम ही सरकार को विदा भी कराएंगे. उन्होंने सरकार को चुनौति देते हुए कहा कि ईडी या सीएबीआइ कुछ भी लेकर आइए, लेकिन प्रदेश में बीजेपी हार रही है.

राजभर ने यूपी की व्यवस्था को कोसते हुए कहा कि सांढ़ों से लड़कर लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं, बीजेपी 85 फीसदी समाज के लोगों को इन्साफ देने में नाकाम हुई है. वह आरक्षण को लेकर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है. चार घंटे पहले कुछ कह रहे हैं और दबाब में आकर फिर अपने बयान से पलट गए संजय निषाद बीजेपी का कुछ भी फायदा नहीं करा पाएंगे. मंच टूटने को लेकर राजभर ने साफ कहा कि यह सरकार बनने के लक्षण हैं. भाजपा का एक ही एजेंडा है कि जनता को हिंदू-मुस्लिम के नाम पर बांटा जाए. विधानसभा चुनाव में भाजपा को जमीन में दफनाने के बाद ही दम लूंगा. उन्होंने कहा कि सरकार जातीय जनगणना करने से बच रही है. जब जानवरों की गणना हो सकती है तो फिर आदमी की क्यों नहीं.

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आई तो प्रदेश की जनता के लिए 5 साल तक बिजली, पानी, शिक्षा और इलाज की मुफ्त व्यवस्था की जाएगी. उन्होंने पीएम मोदी पर निशान साधते हुए कहा कि देश में यदि सबसे ज्यादा झूठ बोलने वाला व्यक्ति कोई है, तो वह मोदी है. उन्होंने नारा दिया था की देश नही बिकने दूंगा, लेकिन रेलवे, एलआईसी, बीएसएनएल और बैंकें बेच दीं. भाजपा जातीय जनगणना नहीं कराना चाहती, लेकिन जिस दिन अखिलेश यूपी के सीएम पद की शपथ लेंगे, उस दिन 300 यूनिट मुफ्त बिजली की घोषणा कराई जाएगी. जब तक जातिवाद जनगणना नहीं कराई जाएगी, तब तक विकास नहीं होगा. हम चाहते हैं कि देश एक है तो शिक्षा एक सी हो. अमीर का बेटा क से कंप्यूटर और गरीब का बेटा क से कबूतर नहीं पढ़ेगा. सपा सरकार आनें पर एक समान शिक्षा को मंजूरी दी जाएगी.

Tags: Farrukhabad news, Om Prakash Rajbhar, UP Chunav 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर