फर्रुखाबादः श्रीमद्भागवत कथा में कंस वध प्रथा के दौरान हुए हादसे में युवक की मौत

परंपरा के मुताबिक सतीस चन्द्र पाल नामक आरोपी ने जैसे ही दोनाली बंदूक से मटकी रुपी कंस पर फायर किया, लेकिन गोली छिटक कर युवक के सीने में जा लगी और मौके पर ही युवक की मौत हो गई


Updated: June 6, 2018, 11:24 AM IST

Updated: June 6, 2018, 11:24 AM IST
फर्रुखाबाद जिले में बुधवार को अचानक गोली चलने से एक युवक की दर्दनाक मौत हो गई. हादसा श्रीमद भागवत कथा के दौरान कंस मारने की प्रथा के दौरान हुआ. सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई है. बताया जाता है हादसे के बाद आरोपी फरार चल रहा हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक हादसा थाना जहानगंज क्षेत्र के गांव पकड़िया में हुआ. दरअसल, गत 31 मई को इलाके में रामकिशन पाल नामक निवासी ने श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन किया था. प्रवचन में कंस वध का प्रसंग चल रहा था, जिसमें मटकी रूपी कंस का मारा जाता है.

परंपरा के मुताबिक सतीस चन्द्र पाल नामक आरोपी ने जैसे ही दोनाली बंदूक से मटकी रुपी कंस पर फायर किया, लेकिन गोली छिटक कर युवक के सीने में जा लगी और मौके पर ही युवक की मौत हो गई. यही नहीं, गोली का छर्रा उड़कर पड़ोस में खड़े एक युवक के कंधे में लग गया.

मृतक युवक की शिनाख्त विजय पाल पुत्र शेरसिंह के रूप में हुई है, जो दिल्ली में रहकर टैक्सी चलाता था और करीब दो माह पहले ही गांव लौटा था. श्रीमद्भागवत कथा दौरान हुए हादसे के बाद मौके पर अफरातफरी मच गई. मृतक के पिता की तहरीर ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करने के बाद फरार आरोपी की तलाश में दबिश दे रही है.

मामले पर अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह ने बताया कि भागवत कथा चल रही थी और कथा में कंस का प्रसंग चल रहा था. गांव के ही अशोक नामक युवक ने मटकी रूपी कंस मारने के लिए फायर किया, जिसमें युवक की मौत हो गई. उन्होंने बताया कि आरोपी की तलाश की जा रही है और आरोपी की दोनाली बंदूक का लाइसेंस को निरस्त कराने के बाद जेल भेजा जाएगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर