Home /News /uttar-pradesh /

फतेहपुर के सेमरहा गांव में 12 बंदरों की मौत से मचा हड़कंप, जहरीला पदार्थ खाने की आशंका, FIR

फतेहपुर के सेमरहा गांव में 12 बंदरों की मौत से मचा हड़कंप, जहरीला पदार्थ खाने की आशंका, FIR

Fatehpur: एसओ हथगाम अश्विनी सिंह ने बताया कि एफआईआर दर्ज कर ली गई

Fatehpur: एसओ हथगाम अश्विनी सिंह ने बताया कि एफआईआर दर्ज कर ली गई

Fatehpur News: वन उप निरीक्षक शैलेंद्र अपनी टीम के साथ 12 बंदरों के शव को लेकर खागा पहुंचे और उच्चाधिकारियों को जानकारी दी. देर शाम वन उप निरीक्षक शैलेंद्र कुमार द्वारा हथगाम थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है. इसमें उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया बंदरों की मौत जहरीला पदार्थ खाने या किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा जानबूझकर उन्हें जहर दिया गया है. एसओ हथगाम अश्विनी सिंह ने बताया कि एफआईआर दर्ज कर ली गई और शवों के पोस्टमार्टम को लेकर विधिक कार्यवाही कराई जा रही है. फिलहाल पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है.

अधिक पढ़ें ...

फतेहपुर. फतेहपुर (Fatehpur) के छिवलहा में सेमरहा गांव में एक पेड़ के नीचे 12 बंदरों (Monkey) के शव मिलने से सनसनी फैल गई. देखते ही देखते भीड़ जमा हो गई. छह बंदर बेसुध थे और तड़प रहे थे. मृत बंदरों के मुंह से झाक निकल रहा था. कुछ ही देर बाद वहां पुलिस टीम, पशु चिकित्सकों की टीम व वन उप निरीक्षक पहुंचे और जांच की. 12 बंदरों के शवों को वन विभाग की टीम खागा आफिस ले आई है. शनिवार को इनका पोस्टमार्टम कराया जाएगा. वन विभाग ने पुलिस थाने में तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया है.

सूत्रों के मुताबिक इसमें जहर खाने अथवा खिलाने की आशंका जताई गई है. जानकारी के अनुसार हथगाम थानाक्षेत्र के सेमरहा गांव के बाहर सड़क किनारे एक आम के पेड़ के नीचे लोगों ने बंदरों को तड़पते देखा. इसकी खबर पर रामदल अध्यक्ष आगेंद्र साहू व मीडिया प्रभारी अजय गुप्ता लोगों के साथ वहां पहुंचे और तुरंत पुलिस, पशु चिकित्सकों व वन विभाग को सूचना दी. पलिया पशु अस्पताल से डा. अनुपम, वन दरोगा शैलेंद्र व हथगाम पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और जांच शुरू हुई.

UP: योगी सरकार का बड़ा ऐलान, श्रमिकों को मिलेगा 5 लाख रुपये तक का इलाज और दुर्घटना बीमा

इलाज के दौरान 12 बंदरों ने दम तोड़ दिया. वन उप निरीक्षक शैलेंद्र अपनी टीम के साथ 12 बंदरों के शव को लेकर खागा पहुंचे और उच्चाधिकारियों को जानकारी दी. देर शाम वन उप निरीक्षक शैलेंद्र कुमार द्वारा हथगाम थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है. इसमें उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया बंदरों की मौत जहरीला पदार्थ खाने या किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा जानबूझकर उन्हें जहर दिया गया है. एसओ हथगाम अश्विनी सिंह ने बताया कि एफआईआर दर्ज कर ली गई और शवों के पोस्टमार्टम को लेकर विधिक कार्यवाही कराई जा रही है. फिलहाल पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है.

Tags: CM Yogi, Fatehpur News, Monkeys problem, Up forest department, UP police, Yogi government, फतेहपुर

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर