फतेहपुर जिले के बीएससी तृतीय वर्ष की परीक्षा में 3500 विद्यार्थी फेल, कार्रवाई की मांग

जिले के 4000 परीक्षार्थियों ने बीएससी तृतीय वर्ष की परीक्षा दी थी जिसमें से 3500 छात्रों को अनुत्तीर्ण कर दिया गया है. इन छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो गया है


Updated: May 30, 2018, 10:08 PM IST

Updated: May 30, 2018, 10:08 PM IST
फतेहपुर जिले के छत्रपति शाहू जी विश्वविद्यालय कानपुर से संबद्ध कॉलेजों का बीएससी तृतीय वर्ष का रिजल्ट बहुत खराब आया है. जिले के 4000 परीक्षार्थियों ने बीएससी तृतीय वर्ष की परीक्षा दी थी जिसमें से 3500 छात्रों को अनुत्तीर्ण कर दिया गया है. इन छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो गया है.

परेशान छात्र नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे. कलेक्ट्रेट में विद्यार्थियों ने नारेबाजी करते हुए हंगामा किया और डीएम के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजा. 28 अप्रैल 2018 को बीएससी तृतीय वर्ष का रिजल्ट जारी किया गया था. छात्रों की मांग है कि परीक्षा की कापियों का पुनः मूल्यांकन कराया जाए.

साथ ही कानपुर विश्वविद्यालय को निर्देशित किया जाए की बैक पेपर लिमिट को दो प्रश्नपत्र से हटाकर सभी प्रश्नपत्रों में बैक पेपर भरने का मौका दिया जाए, जिससे छात्रों का एक वर्ष खराब न हो. जिन कॉलेजों का परिणाम 50 प्रतिशत से कम आया है उन विद्यालयों को बंद किया जाए. छात्रों ने शिक्षा माफियाओं पर कार्रवाई किए जाने की मांग भी की.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर