Assembly Banner 2021

फतेहपुर: करोड़ों की जमीन पर बीजेपी MLA के प्रतिनिधि का कब्जा, आमरण अनशन पर बैठा पीड़ित परिवार

फतेहपुर में आमरण अनशन पर बैठा पीड़ित परिवार

फतेहपुर में आमरण अनशन पर बैठा पीड़ित परिवार

Fatehpur News: फतेहपुर जिले में बिंदकी तहसील से महज चंद कदम की दूरी पर बसा जाफराबाद गांव में कई ऐसे पीड़ित परिवार हैं, जिनकी करोड़ों रुपए की जमीन पर भू-माफियाओं का अवैध कब्जा है.

  • Share this:
फतेहपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) जिले में एक परिवार आमरण अनशन (Fast Unto Death) पर बैठा है और सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) से न्याय की गुहार लगा रहा है. पीड़ितों का आरोप है कि बीजेपी विधायक करन सिंह पटेल (BJP MLA Karan Singh Patel) के प्रतिनिधि विपिन पटेल ने उनकी करोड़ों रूपये की बेशकीमती जमीन पर अवैध कब्जा कर रखा है. जब उन्होंने अवैध कब्जा का विरोध किया तो दबंगो ने जेसीबी मशीन लगाकर उनकी जमीन का नक्शा ही मिटा दिया और उनके साथ मारपीट की गई. पिछले एक साल से वह इंसाफ के लिए पुलिस प्रशासन से गुहार लगा रहे है, लेकिन आज तक उनकी कोई सुनवाई नही हुई. जिससे थक हार कर अब वे आमरण अनशन पर बैठे हैं.

फतेहपुर जिले में बिंदकी तहसील से महज चंद कदम की दूरी पर बसा जाफराबाद गांव में कई ऐसे पीड़ित परिवार हैं, जिनकी करोड़ों रुपए की जमीन पर भू-माफियाओं का अवैध कब्जा है. पीड़ितों का आरोप है कि उनकी बेशकीमती जमीन पर बीजेपी एमएलए करन सिंह पटेल के प्रतिनिधि विपिन पटेल की नीयत खराब हो चुकी है और उसने अवैध कब्जा कर रखा है. उन्होंने इस मामले की शिकायत थाना-पुलिस और तहसील दिवस में, एसडीएम-डीएम से भी किया, लेकिन आज तक उनकी कोई सुनवाई नही हुई. जिससे अब वह थक हार कर आमरण अनशन पर बैठ गए हैं और सीएम योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगा रहे हैं.

Youtube Video




पीड़ित परिवारों का ये है आरोप 
पीड़ित रीता वर्मा, मंजूसा देवी और अंकित तिवारी ने बताया कि उन्होंने वर्ष 2017 में यह जमीन खरीदी थी, जिसकी रजिस्ट्री-नक्षा और दाख़िल खरीज भी उनके पास है. इसी आराजी संख्या की जमीन में बीजेपी एमएलए करन सिंह पटेल के प्रतिनिधि का भी कुछ हिस्सा है, लेकिन वह सत्ता के बल पर जेसीबी मशीन लगवाकर हमारी जमीन का पूरा नक्शा ही मिटवा दिया और जबरन कब्जा कर लिया. जब हम लोगों ने विरोध किया तो हमारे साथ गाली-गलौज और मारपीट की गई. हम लोग पिछले एक साल से न्याय के लिए भटक रहे हैं, लेकिन उसकी पहुंच के आगे हमारी कोई सुनवाई नही हो रही है. इस लिए हम लोग परिवार सहित आमरण अनशन पर बैठे हैं और हमें पूरा भरोसा है कि सीएम योगी आदित्यनाथ हमारी फरियाद जरूर सुनेंगे.

पीड़ित परिवार ने आमरण अनशन से उठने से किया इनकार 
भू-माफियाओं के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठने की खबर के बाद जिला प्रशासन के होश उड़ गए. जिसके बाद बिंदकी तहसीलदार गणेश प्रसाद पुलिस बल के साथ अनशनकारियों के पास पहुंचे और उन्हें कार्यवाई का आश्वासन देकर अनशन से उठने की बात कही. पीड़ित परिवार ने तहसीलदर को यह कहते हुए आमरण अनशन से उठने से साफ मना कर दिया कि जब तक उन्हें इंसाफ नही मिल जाता तब तक वह आमरण अनशन पर बैठे रहेंगे.

तहसीलदार ने कही ये बात 
इस दौरान मीडिया के सवालों पर पहले तो तहसीलदार ने जवाब देने से ही साफ इनकार कर दिया. बाद में खुद को सवालों के कटघरे में घिरता देख उन्होंने कहा कि अनशनकारियों का पूर्व से ही जमीन पर कब्जा नहीं है. ऐसे में अब शांति भंग का खतरा उत्पन्न हो रहा है. इसलिए वह एसडीएम साहिबा से बात कर 145 की कार्यवाई करेंगे. वहीं अनशनकारी पीड़ितों ने सीएम योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाते हुए कहा कि जब तक उन्हें इंसाफ नही मिल जाता, तब तक वह आमरण अनशन पर बैठे रहेंगे. फिर चाहे उनकी जान ही न क्यों चली जाए.

(रिपोर्ट: धारा सिंह)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज