फतेहपुर: पड़ोसियों को जेल भिजवाने के लिए मां ने रची अपनी ही बेटी के अपहरण की साजिश, ऐसे हुआ खुलासा

अपनी बेटी का अपहरण करवाने वाली मां गिरफ्तार

अपनी बेटी का अपहरण करवाने वाली मां गिरफ्तार

Fatehpur News: विशाल ने पुलिस को बताया कि उसने महिला कुसुमा देवी के कहने पर ही उसकी आठ साल की मासूम बच्ची को बहला फुसलाकर अगवा किया और कानपुर के चकेरी इलाके में छोड़ दिया.

  • Share this:

फतेहपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) जिले में बिंदकी थाना क्षेत्र के जहानपुर गांव में रिश्तों को कलंकित कर देने वाला एक बड़ा मामला सामने आया है. यहां एक मां ने मामूली खुन्नस में अपने दो पड़ोसियों को जेल भिजवाने के लिए अपनी ही आठ साल की मासूम बेटी की अपहरण की नापाक साजिश रच डाली. महिला ने पहले पड़ोस के रहने वाले एक युवक की मदद से अपनी मासूम बेटी आरुषि का अपहरण करवाया और फिर बिंदकी थाने पहुंचकर अपहरण का झूठा आरोप पड़ोस के रहने वाले छोटू और किशन पर लगाकर केस दर्ज कराया.

मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की तहकीकात ही कर रही थी तभी महिला दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेजने के लिए पुलिस पर लगातार दबाव बना रही थी. महिला की इस हरकत से पुलिस की शक की सुई उस पर गहराती जा रही थी. जिसके बाद पुलिस ने अपनी तफ़्तीश तेज करते हुए सर्विलांश की मदद से महिला के सहयोगी विशाल श्रीवात्सव तक पहुंच गई. पुलिस ने जब विशाल श्रीवात्सव को गिरफ्तार कर उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अपने गुनाहों को कबूल लिया.

विशाल ने पुलिस को बताया कि उसने महिला कुसुमा देवी के कहने पर ही उसकी आठ साल की मासूम बच्ची को बहला फुसलाकर अगवा किया और कानपुर के चकेरी इलाके में छोड़ दिया. जिसके बाद फ़तेहपुर पुलिस ने कानपुर पुलिस की मदद से अपहृत बच्ची की तलाश शुरू की. पुलिस ने घटना के पांचवे दिन चकेरी इलाके से आरुषि को सकुशल बरामद कर लिया. घटना के बाबत सीओ बिंदकी योगेंद्र सिंह मलिक ने बताया कि पुलिस ने बड़ी तत्परता के साथ घटना के पांचवें दिन आरुषि अपहरणकांड का पर्दाफाश करते हुए आरोपी मां और घटना में शामिल विशाल श्रीवात्सव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

(रिपोर्ट- धारा सिंह)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज