लाइव टीवी

फतेहपुर: धान खरीद का लक्ष्‍य पार, अब भुगतान के लिए एजेंसियों के चक्‍कर लगा रहे हैं किसान
Fatehpur News in Hindi

KS CHATURVEDI | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 26, 2020, 6:47 PM IST
फतेहपुर: धान खरीद का लक्ष्‍य पार, अब भुगतान के लिए एजेंसियों के चक्‍कर लगा रहे हैं किसान
महीनों से किसान लगा रहे अधिकारियों के चक्कर.

उत्‍तर प्रदेश सरकार (Uttar Pradesh Government) ने किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य देने के लिए ना सिर्फ धान का समर्थन मूल्य बढ़ाया बल्कि पर्याप्त संख्या में कांटे भी लगवाए, लेकिन अब किसानों को उनका पैसा नहीं मिल पा रहा है. एजेंसियों पर किसानों का नौ करोड़ दस लाख रुपए से भी ज्यादा का बकाया चल रहा है.

  • Share this:
फतेहपुर. उत्‍तर प्रदेश सरकार (Uttar Pradesh Government) ने किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य देने के लिए ना सिर्फ धान का समर्थन मूल्य बढ़ाया बल्कि उसकी खरीद के लिए पर्याप्त संख्या में कांटे भी लगवाए, लेकिन अब किसानों को उनका पैसा नहीं मिल पा रहा है. यही नहीं, फतेहपुर जिले (Fatehpur District) में तो हालत यह है कि सरकार की मंशा के विपरीत धान खरीद एजेंसियों पर किसानों का नौ करोड़ दस लाख रुपए से भी ज्यादा का बकाया चल रहा है. जबकि परेशान किसान धान का मूल्य पाने के लिए लगातार एजेंसियों के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उनकी सुनने वाला कोई नहीं है.

एजेंसियों ने इतने में खरीदा था धान
1 नवम्बर 2019 से शुरू हुई धान खरीद के लिए जिले में कुल 68 खरीद केंद्र खोले गए थे, जिसमें 1835 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब किसानों को धान का भुगतान किया जाना तय हुआ. जबकि 1 नवम्बर से 29 फरवरी तक होने वाली खरीद में जिले को कुल एक लाख दस हजार मीट्रिक टन धान खरीदने का लक्ष्य दिया गया था, जिसके विपरीत अब तक एक लाख 77 हजार मीट्रिक टन धान खरीदा गया है.

बेटियों को शादी कैसे करें किसान



हालांकि सरकारी धान खरीद एजेंसियों तय समय से पहले लक्ष्य से ज्यादा धान खरीद कर अपनी पीठ तो थपथपा रही हैं, लेकिन महीनों पहले धान तौल चुके किसानों को अभी तक भुगतान नहीं किया गया, जिसमें से कई किसानों के घरों में बेटियों की शादियां तक होनी थीं. यकीनन उन्होंने इस उम्मीद के साथ सरकारी खरीद एजेंसी पर अपनी उपज बेची थी कि धान की अच्छी कीमत मिल जाने से उन्हें बेटी की शादी में काफी सहूलियत मिल जाएगी.

जिलाधिकारी ने कही ये बात
किसानों को उनकी उपज का मूल्य समय पर क्यों नहीं के सवाल पर जिलाधिकारी संजीव सिंह का कहना है कि किसानों को जल्द से जल्द धान का मूल्य मिल सके. इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों को निर्देश जारी किया गया है. अगर कर्मचारियों की लापरवाही पाई गई तो उनके खिलाफ कार्यवाई की जाएगी.

 

ये भी पढ़ें-

CM योगी के सलाहकार की प्रियंका गांधी को नसीहत, बोले-कुछ दिन तो गुजारिए UP में!

 

विधानसभा में बोले CM योगी- विपक्ष को राम के नाम पर लगता है करंट, जानिए भाषण की 10 बड़ी बातें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 6:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर