लाइव टीवी

UP में लेखपालों की हड़ताल जारी, फतेहपुर में भी 27 सस्पेंड, 317 की सर्विस ब्रेक...

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 24, 2019, 6:03 PM IST
UP में लेखपालों की हड़ताल जारी, फतेहपुर में भी 27 सस्पेंड, 317 की सर्विस ब्रेक...
फतेहपुर में धरने पर बैठे लेखपाल

प्रदर्शनकारी लेखपालों को फतेहपुर जिले (Fatehpur district) में अब दूसरे कर्मचारी संगठनों (Employee organizations) का भी समर्थन मिलने लगा है. जिले में प्राथमिक शिक्षक संघ और कर्मचारियों के संगठन अटेवा ने अब हड़ताली लेखपालों (lekhpal strike) का समर्थन करने की घोषणा की है.

  • Share this:
फतेहपुर. उत्तर प्रदेश में लेखपालों की हड़ताल (lekhpal strike) एस्मा (ESMA) लगाए जाने के बावजूद जारी है. पूरे प्रदेश में हड़ताली लेखपालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है. फतेहपुर जनपद (Fatehpur district) में भी निलंबन (suspension) और सर्विस ब्रेक (service break) करने जैसी कार्रवाई के बावजूद लेखपालों का प्रदर्शन (lekhpal's protest) जारी है. प्रदर्शनकारी लेखपाल अपनी मांगों के समर्थन में लगातार धरने पर डटे हुए हैं. डीएम फतेहपुर (DM Fatehpur) ने आज 27 लेखपालों को सस्पेंड करते हुए 317 लेखपालों की सर्विस ब्रेक कर दी है.

दूसरे संगठन भी आए समर्थन में
प्रदर्शनकारी लेखपालों को फतेहपुर जिले में अब दूसरे कर्मचारी संगठनों का भी समर्थन मिलने लगा है. जिले में प्राथमिक शिक्षक संघ और कर्मचारियों के संगठन अटेवा ने अब हड़ताली लेखपालों का समर्थन करने की घोषणा की है. लेखपालों के समर्थन में उतरे दूसरे संगठनों ने हड़ताल तो नहीं है लेकिन उनके समर्थन की घोषणा से लेखपालों के हौसले और बुलंद हो गए है. हड़ताल पर बैठे लेखपाल संग़ठन के सभी पदाधिकारियों समेत 27 लेखपालों को अब तक जिलाधिकारी संजीव सिंह के आदेश पर निलंबित करने के साथ ही जिले के 317 लेखपालों की सर्विस ब्रेक की जा चुकी है. लेकिन लेखपाल सरकारी कामकाज को छोड़कर हड़ताल पर डटे हुए हैं.

अपनी आठ सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठे लेखपाल पे-ग्रेड बढ़ाए जाने और साइकिल भत्ता की जगह पर मोटर-साइकिल भत्ता दिए जाने जैसी मांग कर रहे हैं. 10 दिसंबर से चल रही लेखपालों की हड़ताल के चलते तहसीलों में राजस्व विभाग का काम-काज पूरी तरह से प्रभावित हुआ है. शासन द्वारा एस्मा लगाए जाने और लेखपालों पर कठोर कार्रवाई किए जाने के बावजूद हड़ताली लेखपाल अपनी नौकरी को दांव पर लगा कर हड़ताल जारी रखे हुए हैं. जिले में लेखपालों के समर्थन में अब कर्मचारियों के दूसरे संगठन भी सामने आने लगे हैं. सदर तहसील में चल रहे लेखपालों के समर्थन में धरना स्थल पहुंचे जिले के प्राथमिक शिक्षक संघ पदाधिकारियों ने भी लेखपालों को अपने समर्थन की घोषणा की है. प्राथमिक शिक्षक संघ के लाल प्रताप सिंह का कहना है कि उनका संगठन लेखपालों के समर्थन में सड़क से संसद तक कि लड़ाई लड़ेगा.

अपनी मांगों के समर्थन में हड़ताल पर बैठे लेखपाल अपनी मांगे माने जाने से कम कुछ भी सुनने को तैयार नहीं है. लेकिन जिलाधिकारी संजीव सिंह का कहना है अगर लेखपाल जल्द अपने काम पर वापस नहीं आए तो और भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी. प्रदेश के अन्य जनपदों में भी हड़ताली लेखपालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है लेखपाल संघ के अध्यक्ष समेत तमाम पदाधिकारियों को बर्खास्त तक किया जा चुका है लेकिन हड़ताली लेखपाल अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं लेकिन इस बार सरकार भी इनके इस अड़ियल रवैये के आगे झुकने को तैयार नहीं है.

ये भी पढ़ें- CAA Protest: इंटरनेट ठप होने के Side effects- मरीज, छात्र, आम आदमी हलकान, व्यापार में भी अरबों का घाटा...

  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 24, 2019, 5:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर