फतेहपुर: दो दलित बहनों की तालाब में डूबने से हुई मौत, पुलिस का दावा- रेप और हत्या नहीं

दो दलित बहनों की तालाब में डूबने से हुई मौत (File photo)
दो दलित बहनों की तालाब में डूबने से हुई मौत (File photo)

बता दें कि असोथर थाना इलाके के छिछनी गांव में सोमवार रात दो सगी बहनों की लाश तालाब (Pond) में मिली थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 8:42 PM IST
  • Share this:
फतेहपुर. उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले (Fathepur) में दो दलित बहनों के शव तालाब से मिलने के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. प्रयागराज रेंज के आईजी जोन कवींद्र प्रताप सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक दोनों बच्चियों की मौत तलाब में डूबने से हुई है. उन्होंने बताया कि डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी कराई गई. जहां रिपोर्ट में रेप और हत्या की पृष्टि नहीं हुई है. आईजी जोन ने बताया कि पोस्टमार्टम के दौरान आंखों का डॉक्टर शामिल किया गया था. वहीं सिर, कान और नाक में कोई चोट के निशान नहीं है.

बता दें कि असोथर थाना इलाके के छिछनी गांव में सोमवार रात दो सगी बहनों की लाश तालाब में मिली. परिवारवालों के मुताबिक दोनों बहनों के सिर, कान और आंख में चोट के निशान पाये गये. ऐसे में रेप (Rape) के बाद हत्या (Murder) की आशंका जाहिर की गई है. परिजनों ने पुलिस को शव उठाने से रोका दिया. जिसके बाद पुलिस ने सुनियोजित ढंग से हल्का बल प्रयोग कर देर रात दोनों शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया था. आईजी जोन प्रयागराज ने सोमवार को घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की छानबीन की.


इससे पहले एसपी प्रशांत वर्मा ने बताया कि दोनों बहनें सोमवार दोपहर करीब 2 बजे तालाब में सिंघाड़ा तोड़ने गई थी. इस दौरान डूबने से उनकी मौत हो गई. बतौर एसपी घटना को लेकर भ्रामक सूचना सोशल मीडिया में फैलाई जा रही है. कहा ये जा रहा है कि दोनों बच्चियों की आंखें फोड़ दी गई. उनके हाथ बंधे हुए थे. लेकिन बच्चियों के साथ ऐसी कोई घटना नहीं हुई. प्रथमदृष्टया मामला डूबने से मौत का प्रतीत हो रहा है. तीन डॉक्टरों के पैनल में पोस्टमार्टम कराया जा रहा है.



(रिपोर्ट- धारा सिंह)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज