लाइव टीवी

फतेहपुर: 6 महीने में प्राइमरी स्कूलों के बच्चों के जूतों ने खोला मुंह, स्कूल बैग भी फटे

KARUNA SINDHU CHATURVEDI | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 13, 2020, 12:55 PM IST
फतेहपुर: 6 महीने में प्राइमरी स्कूलों के बच्चों के जूतों ने खोला मुंह, स्कूल बैग भी फटे
फतेहपुर के सरकारी स्कूलों में बच्चों को बांटे गए जूते फट चुके हैं.

फतेहपुर (Fatehpur) जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि परिषदीय विद्यालयों में समय-समय पर जूते और स्कूली बैगों का वितरण किया जाता है. इनके फटने की जानकारी शासन स्तर पर दे दी गई है, जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी

  • Share this:
फतेहपुर. उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) प्राथमिक शिक्षा (Primary Education) को बेहतर बनाने के लिए चाहे जितने प्रयास कर रही हो लेकिन भ्रष्ट हो चुके तंत्र में प्रदेश सरकार के प्रयास भी नाकाफी साबित हो रहे हैं. प्रदेश सरकार ने प्राथमिक विद्यालयों (Primary Schools) में पढ़ने वाले बच्चों को निशुल्क जूते-मोजे (Shoes-Socks) और बैगों (School Bags) का वितरण किया था मगर शैक्षणिक सत्र पूरा होने के पहले ही जूते और बैग फट गए. ऐसी हालत में बच्चों को फ़टे हुए बैग और जूतों के साथ स्कूल आने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है. तमाम बच्चे तो अब चप्पल पहन कर स्कूल आने पर मजबूर हैं. फतेहपुर जिले की हालत तो यह है कि यहां बांटे गए 60 फीसदी जूते फट गए हैं.

फतेहपुर जिले में कुल 2650 परिषदीय विद्यालय स्थित हैं, जिनमे पढ़ने वाले 2 लाख 36 हजार बच्चो को जूते-मोजे और बैग बांटे गए थे. सरकारी खजाने से करोड़ों रूपये खर्च किये गए थे. उम्मीद थी इनसे बच्चों को पढ़ाई करने के लिए स्कूल आने में आसानी होगी लेकिन अब स्थिति यह है कि बीच सत्र में ही सरकार की तरफ से बांटे गए जूतों ने अपना मुंह खोल दिया है. तमाम बच्चे फ़टे हुए जूते सिलवाकर स्कूल आ रहे रहे हैं, जबकि कुछ जूतों की हालत तो यह है कि वे इतनी बुरी तरह से फट गए हैं कि उन्हें सिलाया भी नही सकता है.

60 फीसदी बच्चों के जूते-मोजे और बैग फटे
यही हाल बच्चों को मिले सरकारी बैगों का भी है, जिसमे पैबंद लग चुके है और फ़टे हुए बैग लेकर बच्चे स्कूल आ रहे हैं. सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले मासूम तो फ़टे हुए जूते और बैग दिखा कर अपनी बेबसी जाहिर कर रहे हैं. लेकिन स्कूलों में पढ़ाने वाले अध्यापकों का कहना है कि बांटे गए जूते और बैग में से 60 फीसदी से ज्यादा फट चुके हैं और इसकी जानकारी अधिकारियों को भी दे दी गई है.

शासन को भेजी गई रिपोर्ट: बीएसए
जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि परिषदीय विद्यालयों में समय-समय पर जूते और स्कूली बैगों का वितरण किया जाता है. इनके फटने की जानकारी शासन स्तर पर दे दी गई है, जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें:खुफिया रिपोर्ट: गोरखनाथ मंदिर में हो सकता है सीएम योगी पर आतंकी हमला

CAA-NRC Protest: 50 घंटे बाद सड़क से हटीं महिलाएं, वापस पार्क में धरने पर बैठीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 12:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर