होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP ATS ने फतेहपुर में डाला डेरा, JeM के संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह की खंगाल रही कुंडली, दोस्तों में हड़कंप

UP ATS ने फतेहपुर में डाला डेरा, JeM के संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह की खंगाल रही कुंडली, दोस्तों में हड़कंप

Fatehpur: जैश के संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह के अन्य साथियों की तलाह में यूपी ATS ने शहर में डाला डेरा

Fatehpur: जैश के संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह के अन्य साथियों की तलाह में यूपी ATS ने शहर में डाला डेरा

Fatehpur JeM Suspect Terrorist Saifullah: मोबाइल नंबरों के आधार पर अलग-अलग वर्चुअल आईडी सैफुल्लाह ने बनाई थी. जांच में आईडी के आईपी एड्रेस के जरिए कुछ संदिग्धों को ट्रेस किया गया है, जिसके आधार पर टीम ने फतेहपुर में पूछताछ शुरू कर दिया है. जांच में पता चला है कि सैफुल्लाह के करीबी महाराष्ट्र और गुजरात में हैं. गुजरात से ही सैफुल्लाह आया था, जिसके बाद उसकी ग‌तविधियां तेज हो गई थी. टीम परिवार और मिलने-जुलने वालों पर नजर बनाए हुए है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

मोबाइल नंबरों के आधार पर अलग-अलग वर्चुअल आईडी सैफुल्लाह ने बनाई थी
जांच में पता चला है कि सैफुल्लाह के करीबी महाराष्ट्र और गुजरात में हैं

फतेहपुर. पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के संदिग्ध आतंकी हबीबुल उर्फ सैफुल्लाह की गिरफ़्तारी के बाद उसकी कुंडली खंगालने यूपी एटीएस मंगलवार को फतेहपुर पहुंची. खबर है कि एटीएस ने नई बस्ती और सैयदवाड़ा में कुछ लोगों से पूछताछ की है. उसके बाद सैफुल्लाह के नजदीकी लोगों से संपर्क में जुटी है. एटीएस को सैफुल्लाह के मोबाइल से कुछ संदिग्ध नंबर मिलने की खबर है. उन नंबरों की जांच करते हुए टीम जिले में पहुंची है.

दरअसल, मोबाइल नंबरों के आधार पर अलग-अलग वर्चुअल आईडी सैफुल्लाह ने बनाई थी. जांच में आईडी के आईपी एड्रेस के जरिए कुछ संदिग्धों को ट्रेस किया गया है, जिसके आधार पर टीम ने फतेहपुर में पूछताछ शुरू कर दिया है. जांच में पता चला है कि सैफुल्लाह के करीबी महाराष्ट्र और गुजरात में हैं. गुजरात से ही सैफुल्लाह आया था, जिसके बाद उसकी ग‌तविधियां तेज हो गई थी. टीम परिवार और मिलने-जुलने वालों पर नजर बनाए हुए है.

पिता ने कहा आरोप सच होंगे तो बेटे को नहीं करेंगे माफ़
उधर, सैफुल्लाह के पिता जफरूल इस्लाम ने बताया कि वह बेटे से मुलाकात करने जाएंगे और देशद्रोह का सच जानेंगे। वह दोषी होगा तो उसे कभी माफ नहीं करेंगे. चार में से एक बेटे को मरा मान लेंगे. बड़ी मुश्किलों से बच्चों की परवरिश की है. सीओ सिटी डीसी मिश्रा ने बताया कि एलआईयू और आईबी की टीमें भी सक्रिय हैं. एटीएस के बारे में जानकारी नहीं है.

गुजरात के मदरसे से भगाया गया था सैफुल्लाह
यूपी एटीएस की गिरफ्त में आने वाला जैश-ए-मोहम्मद का संदिग्ध आतंकी हबीबुल अपनी गलत गतिविधियों के चलते गुजरात के मदरसे से भगाया गया था. यह बात उसके परिचित लोगों ने बताई है. जिसके बाद उसका प्रतापगढ़ में नाम लिखाया गया, वहां से भी पढ़ाई छोड़कर वह चला आया था. उसकी गतिविधियों की जानकारी पड़ोसियों और दोस्तों को थी. पड़ोस के लड़कों ने उससे मतलब रखना बंद कर दिया था. वह सभी को जिहाद के लिए उकसाता था. पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में रहने वाले कौम के लोगों की मदद के लिए कहता था. वह मुस्लिमों के साथ होने वाली क्रूरता के वीडियो दिखाकर जिहाद के लिए उकसाता था. घरवाले कहीं न कहीं उसकी मानसिकता जान चुके थे. घर में काफी दिनों से सैफुल्लाह और उसके पिता के बीच विवाद चल रहा था. पिता ने उसे सही राह पर लाने के लिए घर में खाना पानी बंद कर दिया था.

ऐसे बनाता था फर्जी आईडी
गलत राह दिखाने वाले इस्लामिक संगठनों के वीडियो देखकर जैश-ए-मोहम्मद से वह जुड़ा था. उसे आतंकी संगठन के लोगों ने ही फर्जी आईडी बनाना सिखाया था. उसे यह भी बताया था कि कुछ दिनों में उसे आईडी फिर से नई बनानी होगी. कुछ करीबी लोगों ने बताया कि आईडी बनाने के लिए दोस्तों के मोबाइल का इस्तेमाल करता था. वह बहाने से मोबाइल लेता था, उसके बाद आईडी बनाता था. आईडी बनाने के दौरान मोबाइल अपने पास ही रखता था. ओटीपी मैसेज को चेक करने के बाद डिलीट कर देता था. उसकी अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बांग्लादेश के संगठनों से अक्सर बातचीत होती थी.

पिता ने सैफुल्लाह को घर से था भगाया
पिता जफरूल ने सैफुल्लाह को घर से भगा दिया था. इसके बाद वह अलग-अलग दोस्तों के घरों में कुछ दिन के लिए रुकता था. धरपकड़ के दिन बाइक से दोपहर करीब तीन बजे वह नमाज पढ़ाकर अपने किसी दोस्त के घर लौट रहा था. रास्ते में एटीएस ने उसे पकड़ लिया. सैफुल्लाह के पकड़े जाते ही लोगों में चर्चा हो गई थी कि बड़ी घटना को अंजाम दिया होगा या फिर घटना की योजना बना रहा होगा. एटीएस ने सैफुल्लाह और उसके साथी को पकड़ने के बाद सीधे कानपुर हाईवे पर ले गई थी. एटीएस ने उसकी बाइक फतेहपुर के मलवां थाने में पुलिस को सुपुर्द की. बाइक सैफुल्लाह के बड़े भाई फकरूल इस्लाम के नाम पर है.

10 दिन पहले ही उसे मस्जिद का पेश इमाम बनाया गया था
साल 2019 में कोरोना के समय इटावा से सैफुल्लाह लौटकर घर आया था. वह मोबाइल में आतंकी संगठनों के वीडियो देखकर जिहाद की तरफ आकर्षित हो गया था. वह मोबाइल पर वीडियो देखने के बाद लिंक के जरिये आतंकी संगठनों के संपर्क तक पहुंचा। उसका ब्रेन वॉश संगठनों ने किया था. वह अपने साथ चाकू भी रखता था. उसके पास मौजूद चाकू को कई लोगों ने देखा था. आतंकी हबीबुल इस्लाम उर्फ सैफुल्लाह के मामले में सनसनीखेज बात सामने आई है. पकड़े जाने के करीब 10 दिन पहले उसे मस्जिद का पेश इमाम बनाया गया था. हालांकि उसे पेश इमाम बनाने वाले का पता नहीं लग सका है. माना जा रहा है कि समय रहते पकड़े जाने से कई जिदंगी बर्बाद होने से बची हैं. सैय्यदवाड़ा निवासी मदरसा शिक्षक जफरूल इस्लाम के बेटे सैफुल्लाह को एटीएस ने 14 अगस्त को गिरफ्तार किया था.

सैफुल्लाह की गिरफ़्तारी पर अलग-अलग चर्चाएं
सैफुल्लाह के पकड़े जाने पर नई बस्ती, आबूनगर और सैय्यदवाड़ा मोहल्ले में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं. उसके साथ रहने वाले लोगों से बातचीत में सामने आया कि नई बस्ती पकड़े जाने से 10 दिन पहले नई बस्ती की मस्जिद में पेश इमाम बना था. वहां लोगों को पांचों वक्त की नमाज पढ़ाता था. वह नमाज में आने वाले नमाजियों को भटका सकता था. इसके अलावा खर्चा-पानी के लिए आबूनगर, सैय्यदवाड़ा में कुछ बच्चों का ट्यूशन पढ़ाता था. बच्चों के अभिभावकों ने बताया कि सही समय पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है, वरना उनके बच्चों को भी बरगला सकता था.

सैफुल्लाह के साथ गिरफ्तार उसका साथी अभी भी दहशत में
नई बस्ती से एटीएस ने आतंकी सैफुल्लाह के साथ उसके एक साथी को भी पकड़ा था. सैफुल्लाह बचपन से उसके साथ पढ़ा था. इसी वजह से दोनों के बीच दोस्ती थी. एटीएस की गिरफ्त से छूटने के बाद सैफुल्लाह का यह दोस्त घर पहुंचा है. इसके बाद से वह घर से बाहर नहीं निकला। उसके भाई ने बताया कि उसका छोटा भाई करीब 16 साल का है. उसके अंदर धरपकड़ की दहशत भरी हुई है. लखनऊ से आने के बाद एक कमरे में रह रहा है. पकड़े जाने के बाद ही एटीएस ने उसे पहले ही छोड़ने का आश्वासन दिया था. उसका नसीब अच्छा और अल्लाह का रहम था. एटीएस ने सैफुल्लाह और उसे अलग-अलग कमरे में रखकर पूछताछ की. उसके भाई से कुछ खास पूछताछ नहीं हुई. उससे सैफुल्लाह के साथ कब से होने और सैफुल्लाह की हरकतों के बारे में पूछताछ की गई.

Tags: Fatehpur News, UP ATS, UP latest news

अगली ख़बर