• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Fatehpur News: पहले हिंदू बनकर प्यार में फंसाया, फिर गैंगरेप कर धर्मांतरण कराया, अब रच रहा था हत्या की खौफनाक साजिश

Fatehpur News: पहले हिंदू बनकर प्यार में फंसाया, फिर गैंगरेप कर धर्मांतरण कराया, अब रच रहा था हत्या की खौफनाक साजिश

फतेहपुर में लव जिहाद का शिकार हुई दिल्ली की महिला

फतेहपुर में लव जिहाद का शिकार हुई दिल्ली की महिला

Fatehpur Love Jehad Case: पीड़ित युवती का आरोप है कि इस बार आरोपी युवक उसे लेकर फतेहपुर पहुंचा और वहां एक मौलवी के साथ मिलकर पहले गन पॉइंट पर गैंगरेप किया, फिर उसकी गोली मारकर हत्या करने का प्लान बना रहे थे.

  • Share this:

फतेहपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फतेहपुर (Fatehpur) जिले में लव जिहाद (Love Jehad) का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. आरोप है कि एक मुस्लिम युवक ने हिन्दू बनकर पहले एक युवती को अपने प्यार में फंसाया, फिर कई दिनों तक उसे कमरे में कैद कर दुष्कर्म किया. इतना ही नहीं आरोपी ने युवती को 10 लाख रुपये का लालच देकर जबरन धर्मांतरण भी करवा दिया. इस दौरान आरोपी उससे जबरन निकाह करना चाहता था, लेकिन युवती किसी तरह उसके चंगुल से छूटकर घर भाग गई. फिर शातिर आरोपी ने करीब छह महीने बाद एक मुकदमे की आड़ में ऐसी खौफनाक साजिश रची की युवती को मजबूरन फिर उसके पास भागकर आना पड़ा.

पीड़ित युवती का आरोप है कि इस बार आरोपी युवक उसे लेकर फतेहपुर पहुंचा और वहां एक मौलवी के साथ मिलकर पहले गन पॉइंट पर गैंगरेप किया, फिर उसकी गोली मारकर हत्या करने का प्लान बना रहे थे. तभी मौका-ए वारदात के पास से पुलिस की जीप हूटर-सायरन बजाते हुए गुजरती है. इससे युवती की जान तो बच जाती है, लेकिन आरोपी मौलवी को लेकर फरार हो जाता है. घटना सदर कोतवाली क्षेत्र के लोधीगंज राष्ट्रीय राज्यमार्ग की बताई जा रही है.

IGRS पोर्टल पर शिकायत 
पीड़िता ने इस मामले में IGRS पोर्टल पर शिकायत दर्ज करवाते हुए सीएम योगी से कार्यवाई की गुहार लगाई है. वहीं पुलिस ने अभी पीड़िता का केस भी दर्ज नहीं किया है, और न ही इस मामले पर पुलिस अधिकारी कुछ बोलने को तैयार है. एसपी राजेश कुमार सिंह ने ऑफ रिकार्ड कहा कि पीड़िता थाने आएगी तो उसका बयान दर्ज करने के बाद आगे की कार्यवाई की जाएगी.

दिल्ली की रहने वाली है पीड़िता
पीड़िता के मुताबिक वह दिल्ली के बदरपुर इलाके के एक क्षत्रिय परिवार की है. पूर्व में वह अपने परिवारवालों के साथ प्रयागराज घूमने आई थी. तभी उसकी मुलाकात एक शख्स से हुई थी, जिसने अपना नाम उसे संजय सिंह बताया था. फिर दोनो में बातचीत होने लगी थी. जनवरी 2021 में युवती उससे मिलने प्रयागराज आई तो उसके चंगुल में फंस गई. बाद में उसे पता चला कि वह हिन्दू नहीं बल्कि मुसलमान है और उसका असली नाम संजय सिंह नही बल्कि सेबू है. आरोप है कि असलियत सामने आने के बाद आरोपी ने युवती को कमरे में कैद कर कई दिनों तक रेप किया.

10 लाख रुपये का लालच देकर धर्मान्तरण
पीड़िता ने बताया फिर एक दिन आरोपी का पिता मकसूद उल्ला उसके पास आया और मुझे 10 लाख रुपये का लालच देकर कहा कि तुम धर्मांतरण कर मेरे बेटे से निकाह कर लो. अगर तुमने मेरी बात नहीं  मानी तो फिर तुम्हारे साथ अच्छा नही होगा. फिर 12 जनवरी को आरोपी अपने पिता के साथ मुझे लेकर तहसील पहुंचा. वहां उसके पिता ने अपनी एक बीघा खेत किसी के हाथ बेंचकर उससे 20 लाख रुपये लिया. इस दौरान आरोपी ने मुझसे भी स्टाम्प पेपर पर गवाह बनाकर दस्तखत करवाया. फिर अपने पिता के साथ मुझे कार में बिठाकर थोड़ी देर के लिए कहीं चला गया. कार में उसके पिता ने उसके साथ अश्लील हरकत करते हुए गाल को चूमने लगा, और कहा कि तुम परेशान मत होना मैं तुम्हारे बैंक अकाउंट में 10 लाख रुपये जमा करवा दूंगा. जिसका मैंने वीडियो भी बनाया है.

दो मौलवियों के कराया धर्मांतरण
पीड़िता के मुताबिक फिर अगले दिन सेबू का भाई मून अकरम अपने साथ दो मौलवियों को लेकर घर आया. उसमें से एक मौलवी अपने आप को कौशांबी का बता रहा था, तो दूसरा फ़तेहपुर का रहने वाला था. दोनों मौलवी अपने आपको ताकतवर बताकर बड़ी-बड़ी बातें कर रहे थे. फिर आरोपी सेबू ने मुझे बुर्का पहनाकर दोनों मौलवियों के पास बैठा दिया. दोनो मौलवी मुझे घंटो इस्लामधर्म के बारे में समझाते रहे. वह हिन्दू धर्म की बुराई कर इस्लाम धर्म को अच्छा बता रहे थे. कह रहे थे कि इस्लाम धर्म अपनाने के बाद आपकी गरीबी दूर हो जाएगी. देश-विदेश के बड़े-बड़े मौलाना आपकी मदद के लिए लाखों रुपये देंगे. फिर मेरा नाम पता पूछकर एक कागज पर मुझसे दस्तखत करवा लिया.

खरीददारी के बहाने भागी पीड़िता
पीड़िता ने बताया कि मेरा धर्मांतरण होने के बाद मैं ये जान चुकी थी कि सेबू अब मुझसे निकाह किए बगैर नहीं मानेगा. मैं चाहकर भी उनके कैद में कुछ नहीं कर सकती थी. इसलिए मैंने उसे विश्वास में लेकर कहा कि शादी से पहले मुझे कपड़ों की ख़रीददारी करनी है. फिर वह मुझे अपने साथ लेकर प्रयागराज शहर गया. वहां मैं मौका पाकर भीड़-भाड़ वाले इलाके में जाकर छिप गई. इस दौरान सेबू मुझे बहुत खोज रहा था. फिर मैं बस पकड़कर अपने घर दिल्ली लौट आई.

6 महीने बाद झूठे मुकदमे की आड़ में वापस बुलाया
पीड़िता आगे बताती है कि लगभग 6 महीने बाद मेरे पास एक कॉल आई. वह अपने आप को पूरामुफ़्ती थाना का दारोग़ा बताता है, और मुझसे कहता है कि आप जमीन की किसी रजिस्ट्री में गवाह थी, उसमें आपके खिलाफ भी धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज है. अगर आपने समझौता नहीं किया तो मैं तुम्हे गिरफ्तार करने दिल्ली आऊंगा। दारोग़ा की इतनी बात सुनकर मैं बहुत घबरा गई. मुझे इस बात कर भय था कि अगर पुलिस मेरे घर आ गई तो मेरे परिवार का मान सम्मान सब खत्म हो जाएगा. फिर मैंने सेबू को फोन किया, और उससे केस के बारे में पूछा तो वह मुझसे बोला कि जिसने पिता जी से खेत खरीदा था उसने अभी तक 15 लाख रुपये नही दिया है, तुम वापस मेरे घर चली आओ, उससे 15 लाख मिलने के बाद मैं तुम्हारे खाते में भी 10 लाख रुपये जमा करवा दूंगा और केस भी खत्म करवा दूंगा, नही अंजाम बुरा होगा.

16 सितंबर पहुंची आरोपी के घर
पीड़िता ने बताया कि मैं दारोग़ा और आरोपी की धमकी से बहुत डर गई थी. अपने परिवारवालों के मान-सम्मान के खातिर मैं केस खत्म करवाने के लिए 16 सितंबर को फिर दिल्ली से सेबू के घर अहमदपुर पावन गांव आ गई. उसी रात सेबू ने मुझे पहले मारपीट कर बहुत डराया धमकाया और फिर मेरे मुंह में टेप लगाकर कमरे में बंद कर दिया और मेरे साथ जबरन रेप किया. उसी रात अचानक सेबू मुझे लेकर फ़तेहपुर चल दिया.

गाड़ी में आरोपी और मौलवी ने किया रेप
पीड़िता ने कहा कि जब सेबू मुझे फ़तेहपुर लेकर जा रहा था तो रास्ते में कौशांबी वाले मौलवी साहब मिले. सेबू ने उसे भी कार में बिठा लिया. भोर में करीब 4 बजे फ़तेहपुर शहर के अंदर जाने वाले मार्ग से थोड़ा आगे एक सुनसान जगह पर लेजाकर कार खड़ी कर दी. फिर सेबू मुझे कार के पीछे वाली सीट पर लेजाकर मेरे साथ जबरन रेप किया. जब मैंने विरोध किया तो उसने पिस्टल निकालकर मुझे डरा धमकाकर बहुत मारा पीटा. उसके बाद मौलवी ने भी मेरे साथ गलत काम किया. फिर दोनो आपस में मुझे जान से मारने की बात कर रहे थे. तभी हाईवे पर मुझे सायरन बजते हुए पुलिस की गाड़ी आती दिखी. जिसके बाद मैं कार से कूदकर हाइवे की तरफ भागी. कुछ दूर तक सेबू ने मेरा पीछा भी किया, लेकिन मैं हाईवे पर आकर पास के एक दुकान छिप गई. थोड़ी देर बाद सुबह होने पर जब मैंने वहां लोगो से पूछा कि ये कौन सी जगह है और बस कहां से मिलेगी तो, लोगों ने मुझे बताया कि यह लोधीगंज है, आगे जाओगी तो बस स्टैंड मिलेगा। फिर मैं वहीं से बस पकड़कर वापस इलाहाबाद चली आई.

अधिकारियों ने साधी चुप्पी
फ़तेहपुर में लव ज़िहाद का मामला सामने आने के बाद भी पुलिस अधिकारियों ने चुप्पी साध रखी है. मीडिया के सवालो पर वह कुछ भी बोलने से बच रहे है. ऑफ रिकार्ड बस एक ही रटा रटाया जवाब दे रहें है कि पीड़ित युवती थाने आएगी तो पहले उसका बयान दर्ज किया जाएगा, उसके बाद केस दर्ज कर आगे की कार्यवाई की जाएगी. जबकि पीड़िता अपनी शिकायत IGRS पोर्टल पर फ़तेहपुर डीएम, एसपी, एडीजी जोन प्रयागराज, यूपी डीजीपी व सीएम को 17 सितंबर को ही दर्ज करवा चुकी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज