बागपत में बेटे के केस की पैरवी करने पर पिता को विरोधी पक्ष के लोगों ने मारी गोली, इलाज जारी

गोली लगने के बाद अस्पताल में इलाज कराता सख्श.
गोली लगने के बाद अस्पताल में इलाज कराता सख्श.

बागपत (Baghpat) में बेटे की कथित हत्या (Murder) के केस की पैरवी करने पर पिता को विरोधी पक्ष के लोगों ने गोली (Shot) मार दी है, जिसमें वकील नाम का व्यक्ति घायल (Injured) हुआ है. इलाज के लिए उसे अस्पताल (Hospital) में भर्ती कराया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2020, 7:17 PM IST
  • Share this:
बागपत. बागपत (Baghpat) जनपद के शहर कोतवाली क्षेत्र में बेटे की हत्या (Murder) के मामले में पैरवी कर रहे बाप को पर जानलेवा हमला किया गया है. पूरी वारदात शहर कोतवाली के हरचंदपुर गांव की है. यहां वकील नाम के शख्स पर आधा दर्जन लोगों ने फायरिंग(Firing) कर दी, जिसमें वकील के पैर में गोली लगी है और वह बाल-बाल बच गये. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस (Police) ने वकील को जिला अस्पताल (Hospital) में भर्ती कराया है, जहां उसका इलाज चल रहा है.

वकील ने बताया कि कुछ दिन पूर्व गांव के ही कुछ लोगों ने उसके बेटे की हत्या कर दी थी और बेटे की हत्या के मामले में वह पैरवी कर रहे हैं. इसी के चलते उसके विरोधी पक्ष उसकी हत्या करने के लिए उस पर हमला किया है. वकील ने कहा कि वो 4 हमलावरों को पहचानते हैं, जबकि बाकी दो लोग अज्ञात बताए जा रहे हैं. वारदात को अंजाम उस वक्त दिया गया जब वकील अपनी दुकान से घर जा रहा था. फिलहाल पुलिस ने घायल वकील को जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया है और उनकी शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया है.

बांगरमऊ उपचुनाव: कुलदीप सेंगर की इस सीट पर चौतरफा है मुकाबला, जानिए क्या है समीकरण



जानकारी के अनुसार हरचंदपुर गाव के 50 वर्षीय वकील इलेक्ट्रीशियन हैं. उनकी बागपत में दुकान है. उनके मुताबिक वह बुधवार रात करीब 8.00 बजे बागपत से अपने घर लौट रहे थे. गाव के स्कूल और तालाब के निकट पहुंचने पर अचानक ही ईख के खेत से छह लोग निकले और उनको घेरकर जानलेवा हमला कर दिया. वह पैर में गोली लगने से घायल हुए, बाद में आरोपित धमकी देते हुए दो बाइक से फरार हो गए.
पीड़ित का आरोप है कि गत 13 जून को उसके बेटे शाहनवाज की हत्या कर शव को पेड़ पर लटका दिया गया था. इस मामले में अदालत के आदेश पर पुलिस ने आत्महत्या के लिए प्रेरित करने की धारा में मुकदमा दर्ज किया था. आरोपित खुलेआम गांव में घूम रहे हैं और केस में समझौते का दबाव बना रहे हैं. केस की पैरवी करने पर ही उन पर जानलेवा हमला किया गया है. चार हमलावरों को पहचान लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज