Home /News /uttar-pradesh /

बरेली मैराथन में भगदड़ पर NCPCR ने दिखाई सख्ती, कांग्रेस के जिला अध्यक्ष पर दर्ज हुई FIR

बरेली मैराथन में भगदड़ पर NCPCR ने दिखाई सख्ती, कांग्रेस के जिला अध्यक्ष पर दर्ज हुई FIR

इस मैराथन में शहर से लेकर देहात की दस हजार लड़कियां शामिल हुईं. इस दौरान वहां भगदड़ जैसे हालात बन गए. (फाइल फोटो)

इस मैराथन में शहर से लेकर देहात की दस हजार लड़कियां शामिल हुईं. इस दौरान वहां भगदड़ जैसे हालात बन गए. (फाइल फोटो)

UP Chunav 2022: कांग्रेस पार्टी की यूपी प्रभारी और महासचिव प्रियंका गांधी के अभियान 'लड़की हूं लड़ सकती हूं' के तहत मंगलवार को बरेली में मैराथन रेस में अव्यवस्थाएं देखने को मिली. इस रेस में शहर और देहात की 10000 लड़कियां शामिल हुईं. इस दौरान वहां भगदड़ जैसे हालात भी बन गए, कई छात्राएं गिरकर मामूली रूप से चोटिल भी हो गई.

अधिक पढ़ें ...

बरेली. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव (UP Chunav 2022) से पहले बरेली में कांग्रेस (Congress Marathon) की ओर से आधी आबादी को साधने के लिए आयोजित मैराथन रेस में अव्यवस्था और कोरोना गाइडलाइन के उल्लंघन को लेकर कांग्रेस के जिला अध्यक्ष अशफाक सकलेनी के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. दरअसल राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने बरेली (Bareilly News) के जिला अधिकारी को पत्र लिखकर कांग्रेस की मैराथन रैली में भगदड़ को लेकर प्राथमिकी दर्ज करने का आग्रह किया था, जिसके बाद डीएम ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दे दिए.

दरअसल प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के अभियान ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ के तहत हुई मंगलवार को बरेली में हुई मैराथन रेस में भारी अव्यवस्थाएं देखने को मिली. इस रेस में शहर से लेकर देहात की दस हजार लड़कियां शामिल हुईं. भारी भीड़ के दौरान भगदड़ जैसे हालात बन गए, कुछ छात्राएं गिरकर मामूली रूप से चोटिल हो गई.

ये भी पढ़ें- सपा MLC पुष्पराज जैन के ठिकानों से आयकर विभाग को अब तक क्या-क्या मिला? जानें डिटेल

कांग्रेस नेता का अजब बयान

कांग्रेस की मैराथन दौड़ में फैली अव्यवस्था के चलते मची भगदड़ पर कांग्रेस नेत्री और पूर्व मेयर सुप्रिया ऐरन ने बेतुका बयान देते हुए कहा कि जब वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ मच सकती है तो ये तो बच्चियां हैं. इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि ये साजिश भी हो सकती है. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस के बढ़ते जनाधार की वजह से इस तरह की साजिश हो सकती है.’

ये भी पढ़ें- कोरोना के चलते यूपी में स्कूल, जिम और शादी तक के लिए नई गाइडलाइन जारी, जानें सबकुछ

बरेली डीएम को नोटिस

वहीं इस घटना पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने मंगलवार को बरेली के डीएम को नोटिस भेजा. वहीं NCPCR के प्रमुख प्रियांक कानूनगो ने कहा, ‘हम नोटिस जारी कर रहे हैं, यह अधिकारियों की जिम्मेदारी है कि वे ध्यान रखें, यह स्वीकार्य नहीं है. बच्चों को राजनीतिक रैलियों के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है. हमारा देश राजनीतिक उद्देश्यों के लिए 18 साल से कम उम्र के बच्चों का इस तरह दुरुपयोग करने की अनुमति नहीं देता है. हम सुनिश्चित करेंगे कि एक जांच शुरू की जाए.’

Tags: Congress, Priyanka gandhi, UP chunav, UP Election 2022

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर