Firozabad: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर अभद्र टिप्पणी मामले में प्रोफेसर शहरयार अली को जेल, जानें पूरा मामला

प्रोफेसर शहरयार अली ने इलाहाबाद हाईकोर्ट से राहत न मिलने पर कोर्ट में सरेंडर किया था.

Firozabad News: यूपी के फिरोजाबाद कोर्ट ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) के खिलाफ अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने को लेकर एसआरके कॉलेज के प्रोफेसर शहरयार अली (Professor Shahryar Ali) को जेल भेज दिया है. इस मामले में भाजपा युवा मोर्चा और हिंदूवादी संगठनों ने मिलकर पुलिस पर दबाव बनाया था.

  • Share this:
    देवेंद्र चौहान 

    फिरोजाबाद. यूपी के फिरोजाबाद (Firozabad) में मार्च 2021 को थाना रामगढ़ में भाजपा युवा मोर्चा के नेताओं द्वारा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Union Minister Smriti Irani) के खिलाफ अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने को लेकर एसआरके कॉलेज के प्रोफेसर शहरयार अली (Professor Shahryar Ali) के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी. इसके बाद लगातार हिंदूवादी नेता प्रोफेसर की गिरफ्तारी को लेकर प्रशासन पर दबाब बनाते रहे. यही नहीं, कई बार थाने का घेराव भी किया गया. इसके साथ ही कोर्ट में भी हिंदूवादी संगठनों ने जमकर पैरवी की जिसके चलते फिरोजाबाद न्यायालय से जेल भेज दिया गया.

    बता दें कि पूरा मामला 6 मार्च 2021 का है. जब एसआरके कॉलेज के प्रोफेसर शहरयार अली द्वारा फेसबुक पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए टिप्पणियां की गईं थीं. जिसके बाद हिंदूवादी नेताओं में रोष व्याप्त हुआ और फिर दूसरे दिन भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के नेताओं ने थाना रामगढ़ में प्रार्थना पत्र देकर प्रोफेसर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई. हालांकि इस मामले में प्रोफेसर की गिरफ्तारी नहीं की गई जिसके चलते तमाम हिंदूवादी संगठनों ने कई बार थाना रामगढ़ का घेराव किया और अधिकारियों को उनको समझाने में भारी मशक्कत करनी पड़ी. यही नहीं, पुलिस और प्रशासन कानूनी अड़चनों के चलते जेल प्रोफेसर शहरयार अली को भेज पाने में अक्षम बताती रही.

    ये भी पढ़ें- योगी सरकार का बड़ा कदम, अब यूपी के 14 शहरों में फर्राटा भरेंगी इलेक्ट्रिक बसें

    ऐसे पहुंचा जेल
    हालांकि हिंदूवादी संगठन के लोग न्यायालय में पहुंचकर पैरवी करने लगे. इस मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट से राहत न मिल पाने के कारण आरोपी प्रोफेसर शहरयार अली ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया. वहीं, अब इस मामले में न्यायालय ने अगली सुनवाई 26 जुलाई तय कर दी. जबकि न्यायालय ने मंगलवार को सुनवाई के दौरान प्रोफेसर शहरयार अली को जेल भेज दिया है.

    हालांकि बवाल होने के बाद प्रोफेसर शहरयार अली ने कहा था कि उसका फेसबुक एकाउंट हैक कर लिया गया था, लेकिन इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 25 मई को अली की अग्रिम जमानत याचिका खारिज करते हुए कहा था कि यहां ऐसा कोई तथ्य दिखाने को नहीं है, जिससे पता चलता हो कि याचिकाकर्ता का फेसबुक एकाउंट हैक कर लिया गया था. वास्तव में उसने अपने फेसबुक एकाउंट पर माफी मांगी, जिससे पता चलता है कि प्रथम दृष्टया वह एकाउंट अब भी उसके द्वारा ही चलाया जा रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.