लाइव टीवी

निर्दलीय पर्चा भरने के बाद बोले पूर्व मंत्री, 'रामगोपाल और शिवपाल से है जान का खतरा'

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 1, 2019, 9:43 PM IST

निर्दलीय प्रत्याशी चौधरी बशीर ने कहा, “रामगोपाल और शिपावाल उनकी जान भी ले सकते हैं. फिरोजाबाद लोकसभा सीट से मेरे चुनाव लड़ने से इन नेताओं का मुस्लिम वोट न कट जाए इसलिए ये नेता ऐसा कुचक्र रच रहे हैं.”

  • Share this:
कभी यूपी की बसपा सरकार में मंत्री रहे चौधरी बशीर भी फ़िरोज़ाबाद संसदीय सीट से चुनाव मैदान में कूद गए हैं. सोमवार को जिला मुख्यालय पहुंचकर उन्होंने अपना नामांकन दाखिल किया. इस दौरान मीडिया से रूबरू होते हुए चौधरी बशीर ने सैफई परिवार के दो दिग्गजों पर निशाना साधा और नाम लेकर आरोप लगाया कि सपा के नेता रामगोपाल यादव और प्रसपा नेता शिवपाल सिंह यादव उनपर हमला करा सकते हैं.

निर्दलीय प्रत्याशी चौधरी बशीर ने कहा, “रामगोपाल और शिपावाल उनकी जान भी ले सकते हैं. फिरोजाबाद लोकसभा सीट से मेरे चुनाव लड़ने से इन नेताओं का मुस्लिम वोट न कट जाए इसलिए ये नेता ऐसा कुचक्र रच रहे हैं.” उन्होंने कहा कि 2014 में मुझ पर झूठा केस दर्ज कराया गया और मुझे चुनाव लड़ने से रोका गया था. इसी तरह मेरे खिलाफ इस बार भी साजिश की जा रही है. लेकिन में चुनाव जरूर लड़ूंगा.

बसपा सरकार में पूर्व मंत्री रहे चौधरी बशीर अपना नामांकन पत्र दाखिल करने दोपहर को पहुंचे. उन्होंने सहायक रिटर्निंग ऑफीसर राजेश कुमार वर्मा के सामने नामांकन प्रस्तुत किया. नामांकन दाखिल करने के बाद पूर्व मंत्री चौधरी बशीर ने कहा मुझे चार दिन से जिला प्रशासन की ओर प्रस्तावकों की प्रमाणित प्रति नहीं दी जा रही थी. मैंने चुनाव आयोग से शिकायत की है तब मैं नामांकन कर सका.

ये भी पढ़ें--

आजम खान पर जया प्रदा का हमला, कहा- 'कैसे भाई हैं, जो मुझे नाचने वाली बुलाते हैं'

JDU में भूमिका को लेकर प्रशांत किशोर को कोई भ्रम है तो यह उनकी दिक्कत: नीतीश कुमार

तेजप्रताप से मिलीं अर्शी खान, कहा- मौका मिला तो राजनीति में आजमाऊंगी किस्मतलोकसभा चुनाव 2019: यूपी में दूसरे चरण की इन 8 सीटों पर कांटे की टक्कर

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फिरोजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2019, 9:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर