बुर्का पहनकर कॉलेज आई थीं छात्राएं, प्रिंसिपल ने कैंपस से भगाया

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 11, 2019, 9:32 AM IST
बुर्का पहनकर कॉलेज आई थीं छात्राएं, प्रिंसिपल ने कैंपस से भगाया
बुर्का पहनकर कॉलेज आने पर प्रिंसिपल ने छात्राओं को भगा दिया. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

मामला फिरोज़ाबाद स्थित एसआरके डिग्री कॉलेज (SRK Degree College) का है. छात्राओं का कहना है कि उनसे बस स्टॉप पर बुर्का उतार कर कॉलेज परिसर में प्रवेश करने को कहा जाता है.

  • Share this:
फिरोजाबाद. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फिरोजाबाद (Firozabad) में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है, जहां बुर्का (Burka) पहन कर कॉलेज (College) आने पर प्रिंसिपल (principal) ने छात्राओं को भगा दिया. बताया जाता है कि प्रिंसिपल छड़ी लेकर बुर्के में आईं छात्राओं को कॉलेज से भगा रहे हैं. पीड़ित छात्राओं ने भी मामले पुष्टि की है. छात्राओं की मानें तो उनको स्कूल प्रशासन की तरफ से कहा गया है कि रास्ते में बुर्का को उतारकर कॉलेज में प्रवेश करें.

एसआरके डिग्री कॉलेज का है मामला
जानकारी के मुताबिक, मामला फिरोजाबाद स्थित एसआरके डिग्री कॉलेज का है. कहा जा रहा है कि इस डिग्री कॉलेज में बुर्का पहन कर आने पर रोक है. पीड़ित छात्राओं का कहना है कि उनसे कहा जाता है कि वो बुर्क़ा उतार कर कॉलेज में प्रवेश करें. वहीं, कॉलेज के प्रिंसिपल प्रभासकर राय का कहना है कि यह नियम काफी पुराना है. यहां पर लड़कों को यूनिफॉर्म में आना होता है. उन्होंने कहा कि कॉलेज में अभी एडमिशन चल रहे थे. ऐसे में इस नियम को कुछ दिनों से सख्ती के साथ पालन नहीं किया जा रहा था.

एडमिशन प्रोसेस पूरा हो गया है

प्रभासकर राय ने आगे कहा कि एडमिशन प्रोसेस पूरा हो गया है. इसलिए 11 सितम्बर के बाद से बिना परिचय पत्र और बिना यूनिफॉर्म के कॉलेज कैंपस में प्रवेश नहीं दिया जाएगा. प्रभासकर राय के अनुसार बुर्का ड्रेस कोड में नहीं आता है. जो कॉलेज प्रशासन द्वारा निर्धारित ड्रेस है सिर्फ उसे ही पहन कर कॉलेज में आने की अनुमती दी जाएगी.

छात्राओं से कहा जाता है कि बस स्टैंड पर जाकर बुर्का उतारें
एनडीटीवी के मुताबिक,
, कॉलेज में पुलिस का पहरा है. पुलिस बुर्का पहन कर कॉलेज आने वाली लड़कियों को रोक देती है. फिर छात्राओं से कहा जाता है कि बस स्टैंड पर जाकर बुर्का उतारें. इसके बाद कॉलेज में आएं. वहीं, क्लास के अंदर बुर्का उतारने की इजाजत नहीं है. तमाम बुर्का वाली लड़कियों का कहना है कि वह हमेशा बुर्का में कॉलेज आती हैं, लेकिन अचानक यह नियम लागू कर दिया गया.
Loading...

ये भी पढ़ें-

CM नीतीश के काफिले में टूटते हैं ट्रैफिक नियम, परिवहन मंत्री नहीं मानते कानून

JDU बोली- किसी के रहमोकरम से CM नहीं हैं नीतीश कुमार, कांग्रेस की चुनौती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फिरोजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 8:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...