• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • वायरल फीवर और डेंगू के चपेट में वेस्ट यूपी के कई जिले, अब तक 40 बच्चों समेत 68 की मौत

वायरल फीवर और डेंगू के चपेट में वेस्ट यूपी के कई जिले, अब तक 40 बच्चों समेत 68 की मौत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज में बीमार बच्चों का हालचाल जाना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज में बीमार बच्चों का हालचाल जाना

Firozabad Viral Fever Menace: फिरोजाबाद की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नीता कुलश्रेष्ठ ने बताया कि 12 बच्चे पिछले 24 घंटों में वायरल बुखार से मर गए हैं. डॉक्‍टरों की टीम प्रभावित इलाकों में जाकर दवा वितरित करने में जुटी है.

  • Share this:

    फिरोजाबाद. कोरोना की तीसरी संभावित लहर की आशंका के बीच पश्चिम उत्तर प्रदेश (West UP) में वायरल फीवर (Viral Fever) और डेंगू (Dengue) कहर बरपा रहा है. मेरठ, फिरोजाबाद, आगरा, मैनपुरी, मथुरा, एटा और कासगंज में लगातार मरीज सामने आ रहे हैं. सबसे ज्यादा प्रभावित जिला फिरोजाबाद है, जहां पिछले 24 घंटों के अंदर 12 और बच्चों की मौत हो गई. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में तेज वायरल बुखार ने पिछले एक सप्ताह के अंदर 40 बच्चों सहित 68 लोगों की जान ले ली है.

    मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने फिरोजाबाद में हुई मौतों का संज्ञान लेते हुए सोमवार को जिले का दौरा किया. साथ ही स्वास्थ्य अधिकारियों संग बीमारी को फैलने से रोकने के उपायों पर चर्चा की. इतना ही नहीं डॉक्टरों के एक पैनल को फिरोजाबाद भेजने का भी निर्देश दिया है. सबसे ज्यादा प्रभावित फिरोजाबाद है, जहां मेडिकल टीम गांव-गांव जाकर जांच और दवाएं वितरित करने में लगी हुई है.

    मरीजों में डेंगू जैसे लक्षण
    फिरोजाबाद की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नीता कुलश्रेष्ठ ने कहा कि बारह बच्चे पिछले 24 घंटों में वायरल बुखार से मर गए हैं. इस वायरल और मरनेवाले लोगों के सटीक कारणों का अध्ययन किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि जो भी लोग एडमिट हो रहे हैं, वे कोरोना पॉजिटिव नहीं हैं. इस बुखार की तीव्रता चिंताजनक है. वायरल खत्म होने में 10-12 दिन लग रहे हैं. साथ ही 50 फ़ीसदी मरीजों में डेंगू जैसे लक्षण दिख रहे हैं. इतना ही नहीं मरीजों को 102 डिग्री तक तेज बुखार आ रहा है और प्लेटलेट्स भी गिर रहा है.

    सतर्कता बरतने की सलाह
    सीएमओ का कहना है कि सर्वाधिक मौतें बच्चों की हुुई हैं. उन्हें बुखार की वजह से डिहाइड्रेशन हो रहा है और मौत हो जा रही है. प्लेटलेट्स भी तेजी से गिर रहा है. इतना ही नहीं कुछ मरीजों को प्लेटलेट्स भी चढ़ाए गए, लेकिन उनका काउंट नहीं बढ़ा. सीएमओ का कहना है कि घर के आस-पास साफ सफाई पर विशेष ध्यान दें. ताजा और सादा खाने का प्रयोग करें और उबला हुआ पानी पीएं. इतना ही नहीं बुखार आने पर सिंपल पैरासिटामोल की टेबलेट और फीवर चार्ट बनाते रहें. बुखार न उतरने की स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज