बिना लोन लिए 19 लाख का कर्जदार बना युवक, बैंक ने भेजा रिकवरी का नोटिस

बैंक के शाखा प्रबंधक का कहना है कि यह मामला साल 2013 का है. इस मामले में एक शिकायत के आधार पर पहले से ही जांच चल रही है.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 27, 2018, 11:17 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 27, 2018, 11:17 PM IST
फिरोजाबाद में एक प्राइवेट बैंक का फर्जीबाड़ा सामने आया है. एक व्यक्ति जिसने लोन के लिए कभी आवेदन तक नहीं किया, बैंक ने उसे 19 लाख रुपये का कर्जदार बना दिया. हालांकि मामला बैंक के संज्ञान में भी है और जांच भी चल रही है. लेकिन बैंक की तरफ से जारी की गई आर.सी.के आधार पर अमीन उस व्यक्ति को जेल भेजने की धमकी दे रहा है.

फर्जीबाड़े का यह मामला एचडीएफसी बैंक के जुड़ा है. उत्तर थाना क्षेत्र के बघेल कालोनी में रहने वाले प्रमोद कुमार ने कभी ऋण के लिए आवेदन तक नहीं किया. लेकिन जब उसके घर अमीन रिकवरी का नोटिस लेकर पहुंचा तो प्रमोद के पैरों तले जमींन ही खिसक गई. मजदूरी कर अपना जीवन यापन करने वाले प्रमोद को रिकवरी का जो नोटिस मिला, वह छोटी मोटी धनराशि का नहीं बल्कि साढ़े 19 लाख रुपये का है.

पीड़ित प्रमोद कुमार ने बताया कि उसने अमीन से कहा कि उसने कोई लोन लिया ही नहीं तो फिर रिकवरी कैसी. इस पर अमीन ने उसे जेल भेजने की धमकी दी. पीड़ित ने बताया कि इसके बाद वो कुछ स्थानीय भाजपा नेताओं के साथ बैंक पहुंचा और पूरी बात शाखा प्रबंधक को बताई.

इस मामले पर एचडीएफसी बैंक के शाखा प्रबंधक का कहना है कि यह मामला साल 2013 का है. इस मामले में एक शिकायत के आधार पर पहले से ही जांच चल रही है. बैंक के शाखा प्रबंधक ने पीड़ित को भरोसा दिलाया है कि उनके साथ पूरा न्याय होगा.

लेकिन सवाल यह है कि आखिर इतने बड़े स्तर पर यह फर्जीबाड़ा कैसे हो गया. जब प्रमोद ने लोन के लिए आवेदन किया ही नहीं तो फिर उसके नाम से लोन कैसे मंजूर हो गया और तो और जब प्रमोद के पास खेत ही नहीं है तो फिर खेत के कागजों पर बगैर सत्यापन के कैसे लोन मंजूर हो गया.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...