खाताधारक के रुपये अपने खाते में ट्रांसफर करने वाला HDFC बैंक का पूर्व असिस्टेंड मैनेजर गिरफ्तार
Firozabad News in Hindi

खाताधारक के रुपये अपने खाते में ट्रांसफर करने वाला HDFC बैंक का पूर्व असिस्टेंड मैनेजर गिरफ्तार
पुलिस ने आरोपी पूर्व बैंक मैनेजर को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है.

बैंक खाते (Bank Account) से अपना मोबाइल नंबर (Mobile Number) लिंक कराने के बाद धोखाधड़ी (Fraud) की वारदात को एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) के पूर्व असिस्‍टेंट मैनेजर ने अंजाम दिया था.

  • Share this:
फिरोजाबाद: उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फ़िरोज़ाबाद (Firozabad) शहर में एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) के पूर्व असिस्टेंड मैनेजर को ठगी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. आरोपी पूर्व असिस्‍टेंट मैनेजर की पहचान अजित यादव (Ajit Yadav) के रूप में हुई है. अजित यादव पर आरोप है कि इसने धोखाधड़ी कर एक खाताधारक के खाते से 1.56 लाख रुपये अपने बैंक खाते में ट्रांसफर कर लिये थे. पीडित खाताधारक की शिकायत के बाद मामले की जांच में जुटी पुलिस की साइबर सेल ने आरोपी पूर्व असिस्‍टेंट मैनेजर की पहचान की और उसे गिरफ्तार कर लिया.

क्‍या है पूरा मामला
फ़िरोज़ाबाद के रसूलपुर इलाके के रहने वाले इमरान खान ने रसूलपुर थाने में एक रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि उसके खाते से 1.56 लाख से अधिक की राशि गायब हो गई है. रसूलपुर थाना पुलिस ने इमरान खान की शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर जांच साइबर सेल के जिम्‍मे सौंप दी. जब साइबर सेल ने जांच की तो पता चला कि इमरान के खाते से धनराशि अजित यादव नामक एक सख्श के खाते में ट्रांसफर हुई है. जिसके बाद, उत्‍तर प्रदेश पुलिस के साइबर सेल ने आरोपी अजित यादव की तलाश शुरू कर दी.

बैंक का पूर्व मैनेजर निकाल आरोपी



पुलिस के अनुसार, अजीत यादव एचडीएफसी बैंक में असिस्टेंड मैनेजर के पद पर काम करता था. विभिन्‍न अनियमितताओं के चलते बैंक उसे नौकरी से बर्खास्त कर चुकी थी. पुलिस के अनुसार, आरोपी अजीत यादव ने बड़े ही शातिराना अंदाज से इमरान के फोन नंबर को खाते से बदला और फिर बदले नंबर के जरिये ऑन लाइन ट्रांजेक्शन कर पैसा अपने खाते में ट्रांसफर कर लिया. वहीं, जब इमरान खान को इस बाबत पता चला तो उन्‍होंने इसकी शिकायत पुलिस को दी.



सलाखों के पीछे पहुंचा आरोपी
फिरोजाबाद के एसएसपी ने बताया कि अजीत को धोखाधड़ी के आरोप में जेल भेजा जा रहा है. साथ ही, इस बात का भी पता लगाया जा रहा कि उसने अन्‍य किन-किन खातों से उसने पैसा ट्रांसफर किया है. उन्होंने लोगों से अपील की है कि वह खुद जागरूक हो किसी को अपने खाते का विवरण न दें और खाते, खाते से अटैच नंबर की जांच भी करते रहें. उन्होंने लोगों से कहा है कि अगर उनके साथ धोखाधड़ी हो भी गयी है तो तत्काल पुलिस को इसकी जानकारी भी दें.

यह भी पढ़ें: 

सुप्रीम कोर्ट का काशी विश्वनाथ मंदिर प्रबंधन मामले में यूपी सरकार को नोटिस


लखीमपुर खीरी: गांव के युवक ने घर में घुसकर किया नाबालिग लड़की से रेप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading