अयोध्या में संदिग्ध परिस्थितियों में चार लोगों की मौत, जांच के लिए गांव में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम

अयोध्या के एक गांव में संदिगध परिस्थितियों में चार लोगों की मौत से डर का माहौल है.

अयोध्या के एक गांव में संदिगध परिस्थितियों में चार लोगों की मौत से डर का माहौल है.

अयोध्या (Ayodhya) के एक गांव में सप्ताह भर के अंदर चार लोगों की मौत (Death) से हड़कंप मच गया है. वहीं इस गांव में तीन लोग कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) मिले हैं. जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में पहुंची है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 3:53 PM IST
  • Share this:
अयोध्या. अयोध्या (Ayodhya) में हैरिंग्टनगंज ब्लाक क्षेत्र के भाऊपुर गांव में अचानक चार लोगों की मौत (Death) से इलाके में दहशत फैल गई. इन मौतों को लेकर लोग तरह-तरह की चर्चा कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि सभी मौतें कोरोना (Corona) की वजह से हुई हैं. लोग दावा कर रहे हैं कि सभी मृतकों के गले में खरास और दर्द के साथ सांस लेने में दिक्कत थी.

गांव इन मौतों के बारे में जैसे ही स्वास्थ विभाग की टीम को पता चला टीम गांव में पहुंची है. गांव के सैंकड़ों लोग बीमार बताए जा रहे हैं, जिनकी टीम ने जांच शुरू कर दी है. सीएमओ डॉ. घनश्याम सिंह ने बताया कि एक गांव में चार लोगों के मौत की सूचना और दर्जनों लोगों के बीमार होने की सूचना मिली थी. भाऊपुर गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंच कर जांच कर रही है.

ग्रामीणों के अनुसार अभी तक तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव बताई जा रही है. अभी जांच जारी है. बताया गया कि हैरिंग्टनगंज ब्लॉक के ग्राम भाऊपुर में 19 मार्च से 27 मार्च तक महेश तिवारी उर्फ सोनू सिक्रेटरी के यहां श्रीमद भागवत कथा हो रही थी. जिसमें इनकी बहन नीलम पत्नी सुभाष लखनऊ से आई थीं. जो  कोरोना पॉजिटिव थीं.

लखनऊ: भैंसाकुंड पर कोविड संक्रमित शवों के अंतिम संस्कार के लिए लगी लंबी कतारें, परिजनों ने लगाया ये आरोप
इनके क्वारंटीन से इनकी माता कलावती और बुआ विद्या भी पॉजिटिव हो गईं. जिसमें कलावती (50) की 9 अप्रैल को मृत्यु हो गई. इसके पहले 7 अप्रैल को राम किशुन पासी की 48 वर्षीय पत्नी की गले में दर्द एवं जुकाम बुखार से मौत हो गई. विद्या का इलाज लखनऊ में चल रहा है. नीलम के भाई ललित की भी तबीयत ठीक नहीं है. सोनू की बेटी मांडवी 21 वर्ष भी पॉजिटिव बताई जा रही है.

चूंकि गांव के भण्डारे में सभी लोगों का खानदान था, जिससे पवन तिवारी 45 वर्ष संक्रमित हुए और शनिवार रात लगभग 8 बजे उनकी मृत्यु हो गई. इसके पूर्व शनिवार को ही सुबह पुजारिन 50 वर्षीय पत्नी दिनेश तिवारी की भी मृत्यु हो गई. भाऊपुर गांव में दो घंटे पहले स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची है. गांव वालों की कोविड-19 जाच की जा रही है. गांव वालों के मुताबिक अभी तक तीन लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजटिव आयी है. अभी जांच जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज