अपना शहर चुनें

States

इटावा पुलिस के एक्शन के बाद कुख्यात गैंगस्टर अनीश पाशू और उसके बेटे ने कोर्ट में किया सरेंडर

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार अपराधियों, हिस्ट्री शीटर और माफिया के खिलाफ कठोर कार्रवाई कर रही है. (सांकेतिक तस्वीर)
उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार अपराधियों, हिस्ट्री शीटर और माफिया के खिलाफ कठोर कार्रवाई कर रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा (Etawah) में गैंगस्टर (Gangster) अनीश पाशू और उसके बेटे की संपत्ति कुर्क करने के बाद बाप बेटे दोनों ने अदालत मं आत्मसमर्पण कर दिया है. कोर्ट (Court) ने दोनों को जेल (Jail) भेज दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 23, 2020, 11:01 PM IST
  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा (Etawah) जिले के कुख्यात इनामी गैंगस्टर (Gangster) अनीश पाशू और उसके 25 हजार के इनामी अपराधी (Criminal) बेटे इरफान उर्फ मुन्ना ने अदालत में समर्पण कर दिया है. एसएसपी आकाश तोमर ने मीडिया (Media) को इसके बारे में जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि इटावा पुलिस के एक्शन के बाद दोनों ने अदाल में समर्पण किया है.


करोड़ों रुपये की कीमत की संपत्ति कुर्क करने और पुलिस के लगातार दबाव के चलते पिता-पुत्र को न्यायालय के समक्ष समर्पण करना पड़ा है. पाशू ने औरैया में तो उसके बेटे ने इटावा के न्यायालय में समर्पण किया है. कोर्ट ने दोनों को जिला कारागार भेज दिया है. अब पुलिस दोनों को रिमांड पर लेने की कवायद में जुट गई है. पाशु के खिलाफ 45 और बेटे इरफान के खिलाफ 9 अपराधिक मामले दर्ज हैं.
मेरठ: महिला किसानों के हौसले को सलाम, किसी ने रेशम तो किसी ने गन्ना उत्पादन में मनवाया लोहा
50 हजार के इनामी हिस्ट्री शीटर अनीस उर्फ पाशू और उसके पुत्र इरफान उर्फ मुन्ना को पुलिस तमाम कोशिशों के बावजूद पकड़ नहीं सकी. पाशू के पुत्र इरफान उर्फ मुन्ना पर कई अभियोग विचाराधीन हैं. सोमवार को पुलिस ने उसकी शहर में करीब 6 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क कर दी थी. सीओ सिटी राजीव प्रताप सिंह ने बताया कि रंगदारी मांगने और जानलेवा हमला के मामले में रिमांड पर लेने का प्रयास न्यायालय से किया जाएगा.



उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार अपराधियों, हिस्ट्री शीटर और माफिया के खिलाफ कठोर कार्रवाई कर रही है. योगी सरकार आने के बाद से प्रदेश के अपराधी एनकाउंटर के डर से खुद सरेंडर कर रहे हैं या फिर उत्तर प्रदेश छोड़कर बाहर जा रहे हैं. बता दें कि मुख्यमंत्री मीडिया में कई बार अपराधियों और हिस्ट्रीशीटरों को सुधरने के लिए कहा था. उसके बाद से उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हो रहे एनकाउंटर को देखते हुए प्रदेश के अपराधी आत्मसमर्पण कर रहे हैं या फिर प्रदेश छोड़कर भाग रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज