Home /News /uttar-pradesh /

यूपी के इस शहर में एक महीने में काटे 82 हजार चालान, जानिए सबसे ज्यादा किसके कटे

यूपी के इस शहर में एक महीने में काटे 82 हजार चालान, जानिए सबसे ज्यादा किसके कटे

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में कई एनजीओ और स्कूल-कॉलेज के साथ मिलकर सड़क पर जागरुकता अभियान भी चलाया गया था. . (सांकेतिक फोटो)

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में कई एनजीओ और स्कूल-कॉलेज के साथ मिलकर सड़क पर जागरुकता अभियान भी चलाया गया था. . (सांकेतिक फोटो)

 नोएडा (Noida) में बुलेट सवारों की तो मानों शामत आ गई है. आरटीओ (RTO) विभाग लगातार बुलेट मोटर साइकिल की चेकिंग कर रहा है. सबसे ज्यादा परेशान वो हैं जो बुलेट के साइलेंसर को मॉडिफाइड करके चला रहे हैं. उससे पटाखे (Crackers) जैसी तेज आवाज़ निकाल रहे हैं. ऐसी ही बुलेट (Bullet) के खिलाफ आरटीओ ने अभियान छेड़ा हुआ है. कुछ ही दिनों में 500 से ज्यादा बुलेट के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 75 लाख रुपये का जुर्माना वसूल किया है. वहीं दुकानदारों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है. उन्हें नोटिस भेजे गए हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) जिस महीने में यातायात माह मना रही थी, उसी महीने में वाहन चालकों ने नियमों को ताक पर रखा हुआ था. यही वजह है कि सिर्फ नवंबर में ही ट्रैफिक पुलिस ने गौतम बुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar) में 82 हजार चालान काटे हैं. यह ट्रैफिक पुलिस का एक रिकॉर्ड है. साल 2021 के जनवरी से लेकर अक्टूबर तक किसी भी महीने में ट्रैफिक पुलिस ने इतने चालान नहीं काटे हैं जितने नवंबर में काटे गए हैं. खास बात यह है कि सबसे ज्यादा चालान बिना हेलमेट बाइक या स्कूटी चलाते हुए और बिना सीट बेल्ट के कार चलाते हुए काटे गए हैं. गौरतलब रहे नोएडा (Noida) और ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में कई एनजीओ और स्कूल-कॉलेज के साथ मिलकर सड़क पर जागरुकता अभियान भी चलाया गया था.

    इस अप्रैल के बाद नवंबर में काटे गए हैं ज्यादा चालान

    गौतम बुद्ध नगर ट्रैफिक पुलिस की मानें तो पुलिस हर रोज ही सड़क पर चेकिंग अभियान चलाती है. चेकिंग के साथ ही वाहन चालकों को जागरुक भी किया जाता है. अगर हर रोज होने वाली चेकिंग के दौरान वाहनों के काटे गए चालान की संख्या की बात करें तो जनवरी में ट्रैफिक पुलिस ने 52 हजार चालान काटे थे.

    इसी तरह से मार्च में 56 हजार, अप्रैल में 57 हजार और सितम्बर में 52 हजार वाहनों का चालान ट्रैफिक पुलिस की ओर से काटा गया था. जानकारों की मानें तो इस आंकड़े में वो चालान शामिल नहीं हैं जो आरटीओ दफ्तर के अधिकारियों ने चेकिंग के दौरान काटे.

    पहले डेल्टा, अब ओमिक्रॉन… क्या कोरोना के वैरियंट ग्रेटर नोएडा से निकले हैं? चर्चा में NCR का शहर

    21 हजार चालान काटे बिना हेलमेट-सीट बेल्ट के

    ट्रैफिक पुलिस के आंकड़ों पर जाएं तो नवंबर में कुल 82 हजार वाहनों के चालान काटे गए हैं. इसमे सबसे  बड़ा नंबर बिना हेलमेट वाले दोपहिया वाहन और बिना सीट बेल्ट के कार का है. कुल 20912 चालान बिना हेलमेट और सीट बेल्ट के काटे गए हैं. वहीं दूसरे नंबर पर 12880 चालान का आंकड़ा नो पार्किंग का है. अक्सर देखा गया है कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में अक्सर कुछ वाहन चालाक रांग साइड चलते हैं.

    चेकिंग के दौरान ट्रैफिक पुलिस ने रांग साइड चलने वाले वाहन चालकों 7710 चालान काटे हैं. 2698 चालान रेड लाइट जम्प करने पर काटे गए हैं. बिना लाइसेंस और बीमा के चलने वाले 2375 वाहनों के चालान काटे गए हैं. वहीं 632 चालान बिना प्रदूषण चेक कराए चलने वाले वाहनों के काटे गए हैं.

    Tags: Greater noida news, Noida news, Traffic Police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर