होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /शख्स का पानी को लेकर हुआ बीवी से झगड़ा! पत्नी, बेटी को फावड़े से काट डाला

शख्स का पानी को लेकर हुआ बीवी से झगड़ा! पत्नी, बेटी को फावड़े से काट डाला

गाजियाबाद में शख्स ने की पत्नी और बेटी की हत्या. (सांकेतिक तस्वीर)

गाजियाबाद में शख्स ने की पत्नी और बेटी की हत्या. (सांकेतिक तस्वीर)

गाजियाबाद में एक शख्स ने कथित तौर पर पानी को लेकर हुए झगड़े के बाद अपनी पत्नी और नाबालिग बेटी की सोते समय फावड़े से काट ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

गाजियाबाद में एक शख्स ने अपनी पत्नी और नाबालिग बेटी की फावड़े से काटकर हत्या की.
कहा जा रहा है कि कथित तौर पर पानी को लेकर हुए झगड़े के बाद शख्स ने किए ये मर्डर.
पति और पत्नी के संबंध खराब थे और पिछले चार महीने से दोनों अलग रह रहे थे.

गाजियाबाद. गाजियाबाद में एक शख्स ने कथित तौर पर पानी को लेकर हुए झगड़े के बाद अपनी पत्नी और नाबालिग बेटी की सोते समय फावड़े से काटकर हत्या कर दी. संजय पाल को शुक्रवार दोपहर के करीब शहर से भागने की कोशिश करते हुए ओल्ड बस अड्डा से गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने कहा कि पाल और उसकी पत्नी के बीच संबंध पहले से खराब थे. संजय और उसका बेटा कुणाल (18 वर्ष) नंदग्राम में एक दो मंजिला इमारत के भूतल पर रहते थे, जबकि उनकी पत्नी रेखा (36) और बेटी तासु (15) ऊपर की मंजिल पर रहती थीं.

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के मुताबिक गाजियाबाद के एसएसपी मुनिराज जी (Muniraj G) ने कहा कि पति और पत्नी पिछले चार महीने से अलग रह रहे थे. रात में संजय और उसकी पत्नी के बीच गरमागरम बहस हुई. क्योंकि उसने टैंक से भूतल पर पानी की सप्लाई बंद कर दी थी. वह अपनी पत्नी के कमरे तक गया और उसे थप्पड़ मारा. लेकिन फिर वह भूतल पर लौट आया और सोने के लिए चला गया. करीब 3 बजे संजय उठा और फिर रेखा के कमरे में चला गया. उसने कथित तौर पर पास में पड़ा एक फावड़ा उठाया और उसके चेहरे पर वार किया. इसके बाद उसने उससे उसका गला काट दिया. संजय छत पर गया जहां उसकी बेटी सो रही थी. उसने उसका गला भी काट दिया.

सुबह करीब सात बजे संजय ने मुख्य दरवाजा बंद किया और बाहर चला गया. दोपहर करीब 12.15 बजे उसने अपने परिवार के सदस्यों में से एक को फोन किया और उसे हत्याओं के बारे में बताया. संजय ने यह भी कहा कि वह बस स्टैंड पर था और जल्द ही शहर छोड़ने की योजना बना रहा था. लेकिन इससे पहले कि वह भाग पाता, पुलिस उसे गिरफ्तार करने में कामयाब रही.

PFI के थे खतरनाक मंसूबे, यूपी ATS की जांच के दौरान हुए कई चौंकाने वाले खुलासे

गाजियाबाद के एसपी (सिटी) निपुण अग्रवाल ने संजय से पूछताछ की. उन्होंने कहा कि वह एक बेकरी चलाता था, लेकिन भारी नुकसान के बाद छह साल पहले इसे बंद करने के लिए मजबूर हो गया था. फिर उसने परिवार चलाने के लिए एक ई-रिक्शा खरीदा. अग्रवाल ने कहा कि इस दंपति के बीच अक्सर कम आमदनी को लेकर झगड़ा होता रहता था. संजय को अपनी पत्नी के चरित्र पर भी शक था. दंपति का 18 वर्षीय पुत्र कुणाल जो अपने पिता के साथ रह रहा था, लापता है. रेखा के भाई की शिकायत पर संजय और कुणाल के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या) के तहत एफआईआर दर्ज की गई है.

Tags: Crime News, Ghaziabad News, Murder

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें