3 बेटियों और पत्‍नी की हत्‍या के बाद कर ली आत्महत्या, जानिए मर्डर मिस्‍ट्री में काली टेप की पहेली?

बेड पर प्रदीप और उनकी तीन बच्चियों जिनकी उम्र 3 साल, 5 साल और 8 साल की लाश पड़ी थी. जबकि पत्‍नी संगीता फर्श पर लहूलुहान हालत में पड़ी थी.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 8:16 PM IST
3 बेटियों और पत्‍नी की हत्‍या के बाद कर ली आत्महत्या, जानिए मर्डर मिस्‍ट्री में काली टेप की पहेली?
गाजियाबाद के मसूरी में भी शुक्रवार को एक ही परिवार के पांच लोगों के शव मिले हैं. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 8:16 PM IST
उत्‍तर प्रदेश के गाजियाबाद से दिल्‍ली के महरौली और हरियाणा के गुरुग्राम जैसा मामला सामने आया है. गाजियाबाद के मसूरी में शुक्रवार को एक ही परिवार के पांच लोगों के शव मिले हैं. इस घटना के बाद इलाके के लोग सहमे हुए हैं. इससे ठीक एक साल पहले दिल्‍ली के बुराड़ी में भी एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत के मामले ने लोगों का दिल दहला दिया था.

ताजा मामला गाजियाबाद के मसूरी इलाके स्थित शताब्‍दीपुरम का है. यहां पर एक परिवार में बुजुर्ग माता-पिता, उनके बेटे, बेटी, बहु और तीन बच्‍चे रहते थे. बुजुर्ग का बेटा प्रदीप बेरोजगार था और उसकी पत्‍नी संगीता नर्स के तौर पर काम करती थी. बेरोजगार प्रदीप को शराब की लत लग गई और वह पत्‍नी से लड़ाई झगड़ा करता था. इस बीच गुरुवार-शुक्रवार की रात परिवार में कुछ ऐसा हुआ कि पूरा घर तबाह हो गया. परिवार की पांच जिंदगियां खत्‍म हो गईं.

काली टेप, हत्‍या और आत्‍महत्‍या
दरअसल, प्रदीप और संगीता अपने तीन बच्‍चों के साथ एक कमरे में सो रहे थे. शुक्रवार की सुबह जब कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो घर के लोग दरवाजा खटखटाने लगे, लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं मिला. शक होने पर लोगों ने जब खिड़की से अंदर देखा तो सबके होश उड़ गए.



बेड पर प्रदीप और उनकी तीन बच्चियों जिनकी उम्र 3 साल, 5 साल और 8 साल की लाश पड़ी थी. जबकि पत्‍नी संगीता फर्श पर लहूलुहान हालत में पड़ी थी. संगीता के सिर पर गंभीर चोट के निशान थे. उसके बगल में खून से सना एक हथौड़ा भी पड़ा था. प्रदीप और तीन बच्चियों के मुंह पर लगभग 4 इंच चौड़ी काले रंग की टेप लिपटी हुई थी.

पुलिस ने क्‍या कहा?
Loading...

परिजनों ने पुलिस को सूचना दी. घटनास्‍थल पर पहुंचने के बाद पुलिस ने देखा की संगीता की सांसें अभी चल रही हैं. हालांकि कुछ देर के बाद संगीता की भी मौत हो गई. मामले पर पुलिस ने बताया कि उन्‍हें शुक्रवार सुबह लगभग 5:40 बजे सुसाइड की सूचना दी गई थी. जब अंदर पहुंचकर उन्‍होंने दरवाजा तोड़ा तो प्रदीप और तीन बच्चियों की लाशें पड़ी थी. जबकि सिर पर गंभीर वार होने के कारण महिला गंभीर रूप से घायल थी.



अभी तक की जांच पड़ताल के आधार पर ऐसा बताया जा रहा कि प्रदीप ने बच्चियों के मुंह पर काली टेप बांधकर उन्‍हें मारा, अपनी पत्‍नी के सिर पर हथौड़े से जोरदार वार किया और फिर आत्‍महत्‍या कर ली. दूसरे कमरे में सोने के कारण प्रदीप के माता-पिता और बहन तक उनकी आवाज नहीं पहुंची.

प्राथमिक जांच के आधार पर पुलिस ने कहा कि यह मामला आत्‍महत्‍या का है. पुलिस को प्रदीप की लाश के पास एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें शक की बात लिखी है. हालांकि घटना का कारण अभी तक साफ नहीं हो पाया है. पुलिस सुसाइड नोट के साथ ही घटना की हर एक एंगल से जांच कर रही है. इस घटना के बाद से इलाके के लोग सहमे हुए हैं.

दिल्‍ली के महरौली की घटना

अभी कुछ दिन पहले ही दिल्ली के महरौली इलाके में आरोपी उपेंद्र शुक्ला ने अपने तीन बच्चों सहित पत्नी की हत्या कर दी थी. बताया जा रहा है कि उपेंद्र लंबे समय से अवसाद में था और इसी के चलते उसने यह कदम उठाया. उपेंद्र की दिमागी हालत इस कदर खराब थी कि उसने अपने पूरे परिवार को कटर से काट डाला.

 



आरोपी ने हत्या करने के बाद एक नोट भी लिखा जिसमें उसने अपने पूरे परिवार की हत्या करने की बात कबूली है. पुलिस ने बताया कि आरोपी ने हत्या करने के बाद खुद को भी चाकू से घायल करने की कोशिश की. इसके बाद वह मौके से कहीं नहीं भागा और पुलिस ने उसे घर से ही गिरफ्तार कर लिया.
गुरुग्राम सामूहिक हत्याकांड: वैज्ञानिक ने खत्म कर दिया था परिवार

अभी कुछ दिन पहले ही गुरुग्राम के उप्पल साउथ एंड सोसायटी में रहने वाले वैज्ञानिक डॉ. प्रकाश सिंह की आत्महत्या और उनकी पत्नी, बेटे एवं बेटी की हत्या की वजह को लेकर पुलिस अब भी उलझन में है. लेकिन पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने काफी और चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. डॉक्टरों की मानें तो गहरी नींद में सोते हुए परिवार को मौत के घाट उतारा गया है.



गुरुग्राम के उप्पतल साउथ एंड सोसायटी में परिवार के मुखिया ने अपने ही परिवार के तीन लोगों को मौत के घाट उतार दिया. जबकि खुद भी आत्महत्या कर मौत को गले लगा लिया. इस घटना से पूरे देश को सन्न कर रख दिया हैं. उधर पोस्टमार्टम करने वाली डॉक्टरों की टीम ने बेहद ही चौंकाने वाले और अहम खुलासे किए हैं. पता चला है कि डॉ प्रकाश ने सबसे पहले अपनी पत्नी को मौत के घाट उतारा और उसके बाद बेटी और उसके बाद बेटे को भी मौत के घाट उतार कर खुद आत्महत्या कर ली.



दिल्‍ली का बुराड़ी कांड

दिल्ली के बुराड़ी स्थित एक घर से ग्यारह लोगों के शव मिले थे. मृतकों में तीन नाबालिगों सहित 7 महिलाएं और 4 पुरुष शामिल थे. यह घटना बुराड़ी स्थित संत नगर की गली नंबर-2 की थी. पुलिस जब घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची तो उन्हें संदिग्ध हालत में दस लाश जाल से लटकी मिलीं. इनमें से कई के मुंह और आंखों पर पट्टी बंधी हुई थी, तो कुछ के पैर भी बंधे हुए पाए गए. वहीं एक बुज़ुर्ग महिला का शव जमीन पर पड़ा था. वह महिला इन बच्चों की मां थी. महिला के गले पर उंगलियों के निशान मिले थे.

ये भी पढ़ें: वक्त पर पहुंची पुलिस ने फंदे पर लटकी महिला को बचाया

ये भी पढ़ें: एयर इंडिया के क्रू से बदसलूकी करने वाली महिला ने की खुदखुशी
First published: July 5, 2019, 6:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...