शक करती थी पत्नी इसलिए उसे मार डाला, 3 बच्चों की भी हत्या कर लगाई फांसी

प्रदीप और तीनों बच्चों के मुंह पर करीब 4 इंच चौड़ा काले रंग का टेप बुरी तरह लिपटा हुआ था. जबकि 40 वर्षीय पत्नी संगीता बिस्तर से नीचे लहूलुहान हालत में पड़ी हुई थी. उसके सर में गंभीर चोट थी और वह तड़प रही थी. पास में ही खून से सना एक हथौड़ा पड़ा हुआ था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 5, 2019, 12:23 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 5, 2019, 12:23 PM IST
राजधानी दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के मसूरी थाना इलाके के न्यू शताब्दीपुरम कॉलोनी में शुक्रवार की सुबह उस वक्त अफरा-तफरी का माहौल हो गया, जब लोगों ने एक शख्स द्वारा अपने तीन बच्चों और पत्नी समेत आत्महत्या करने की खबर सुनी. जैसे ही इस खबर को लोगों ने सुना तो भीड़ मौके पर पहुंच गई. इसकी सूचना आनन-फानन में स्थानीय पुलिस को दी गई. सूचना के आधार पर मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे के अंदर से बंद दरवाजे को मुश्किल से तोड़ा, तो पुलिसकर्मियों के भी होश उड़ गए, क्योंकि बेड पर पत्नी लहूलुहान हालत में तड़प रही थी और पति और उनके तीन बच्चे मृत अवस्था मे पड़े हुए थे.

आनन-फानन में पुलिस ने तड़प रही महिला को अस्पताल पहुंचाया और उसके पति व तीनो बच्चों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. लेकिन अभी तक यह जानकारी नही मिल पाई है कि आखिर इतना बड़ा कदम उस शख्स ने किस लिए उठाया. फिलहाल पुलिस घर मे मौजूद अन्य लोगों से गहन पूछताछ करते हुए मामले की जांच में जुटी हुई है.



मिली जानकारी के मुताबिक, 42 वर्षीय प्रदीप नाम का एक शख्स अपने माता-पिता, बहन और पत्नी एवं तीन बच्चों के साथ थाना मसूरी इलाके की न्यू शताब्दीपुरम कॉलोनी में पिछले काफी समय से रह रहे थे. प्रदीप और उनकी पत्नी एवं तीनों बच्चे अपने कमरे में सोए हुए थे. शुक्रवार की सुबह जब उनके कमरे का दरवाजा नहीं खुला और कोई हलचल नहीं दिखाई दी, तो घर में मौजूद अन्य लोगों ने उनका दरवाजा खटखटाया लेकिन उसके बाद भी उन्हें अंदर से कोई जवाब नहीं मिला तो परिवार वालों को शक हुआ और उन्होंने खिड़की से अंदर देखा, तो बिस्तर पर प्रदीप और उसके तीनों बच्चे 8 वर्षीय मनस्वी, 5 वर्षीय यशस्वी और 3 वर्षीय ओजस्वी के शव पड़े दिखे.
Loading...

बच्चों और खुद के मुंह पर लगा दी थी टेप
प्रदीप और तीनों बच्चों के मुंह पर करीब 4 इंच चौड़ा काले रंग का टेप बुरी तरह लिपटा हुआ था. जबकि 40 वर्षीय  पत्नी संगीता बिस्तर से नीचे लहूलुहान हालत में पड़ी हुई थी. उसके सर में गंभीर चोट थी और वह तड़प रही थी. पास में ही खून से सना एक हथौड़ा पड़ा हुआ था.

पुलिस ने आनन-फानन में संगीता को अस्पताल पहुंचाया. जहां इलाज के दौरान संगीता की मौत हो गई. इसके अलावा प्रदीप और तीनों बच्चों के शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है और घर में मौजूद अन्य लोगों से पुछताछ की जा रही है.

पुलिस द्वारा की गई शुरुआती जांच में ऐसा लगता है कि प्रदीप ने पहले अपनी पत्नी के सर में हथौड़े से वार किए उसके बाद तीनों बच्चों के मुंह पर टेप लगाकर उनकी हत्या की है. उसके बाद खुद भी अपने मुंह पर टेप लपेट कर आत्महत्या कर ली है. जिस कमरे में यह पूरा परिवार था, उस कमरे का अंदर की तरफ से दरवाजा बंद था. पुलिस के द्वारा ही दरवाजे को कड़ी मशक्कत के बाद तोड़ा गया.

पुलिस मामले की जांच में जुट गई है
बताया जा रहा है कि प्रदीप निजी कंपनी में जॉब करता था और इस मकान में उनके माता-पिता एक बहन और इनकी पत्नी एवं तीन बच्चे रहते थे. माता पिता और बहन घर के दूसरे कमरे में थे. उनका भी कहना है कि उन्होंने किसी तरह की कोई चीख पुकार नहीं सुनी. सुबह जब रोजाना की तरह उनका दरवाजा नहीं खुला तो उन्हें खिड़की के माध्यम से देखा तो इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई. पुलिस ने ही दरवाजा तोड़कर सभी को बाहर निकाला है.

उधर घटना की जानकारी मिलते ही गाजियाबाद के एसएसपी भी मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया. फिलहाल पुलिस अभी पूरे मामले की जांच में जुटी है कि आखिरकार प्रदीप ने ऐसा कदम किस लिए उठाया है.

(रिपोर्ट- शक्ति सिंह)

ये भी पढ़ें-

शराब पीने के दौरान पिटा आतिब, 'जय श्रीराम' नहीं बुलवाया गया!

छेड़छाड़ करने वाले शोहदे को युवती ने बीच चौराहे पर पीटा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गाजियाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 7:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...