पहले पिता ने बेच दिया, फिर बार-बार हुआ गैंगरेप, पुलिस ने भी नहीं सुनी तो लगा ली आग

महिला के बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद दिल्ली महिला आयोग ने मामले का संज्ञान लिया है. आयोग ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर दोषी पुलिसवालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 13, 2019, 2:37 PM IST
पहले पिता ने बेच दिया, फिर बार-बार हुआ गैंगरेप, पुलिस ने भी नहीं सुनी तो लगा ली आग
दिल्ली के निजी अस्पताल में जिन्दगी और मौत से जूझ रही है महिला
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 13, 2019, 2:37 PM IST
उत्तर प्रदेश में एक महिला के साथ यौन उत्पीड़न, प्रताड़ना और पुलिस की अनदेखी का सनसनीखेज मामला सामने आया है. लगातार गैंगरेप की शिकार इस महिला की मदद जब पुलिस ने नहीं की तो उसने खुद को आग लगा ली. 80 फ़ीसदी जल चुकी ये महिला अब दिल्ली के एक निजी अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है. उधर पुलिस की बेरुखी और महिला के बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद दिल्ली महिला आयोग ने मामले का संज्ञान ले लिया है. आयोग ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर दोषी पुलिसवालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की है.

महिला के साथ हुई प्रताड़ना की कहानी किसी के भी रोंगटे खड़े कर देने वाली है. शादी के बाद पहले महिला को पति ने छोड़ दिया, इसके बाद उसके अपने ही पिता ने उसे 10 हजार में बेच दिया. उसे खरीदने वाले ने कई लोगों से उधार ले रखा था. जिसके एवज में वह महिला को उनके घर पर काम करने के लिए भेजता. जहां उसके साथ यौन हिंसा की जाती थी. इस प्रताड़ना से तंग आकर जब महिला ने पुलिस से गुहार लगाई तो वहां भी उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई. आहात होकर उसने 28 अप्रैल को खुद को आग के हवाले कर दिया.



मामला बाबूगढ़ थाना क्षेत्र का है, जहां एक गांव में रहने वाली महिला ने गैंगरेप के आरोपियों पर कोई कार्रवाई न होने के चलते खुद को आग लगा ली. महिला को गंभीर हालत में अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. महिला करीब 80 प्रतिशत झुलस चुकी है. पीड़िता के बयान की वीडियो वायरल होने के बाद दिल्ली महिला आयोग ने इसका संज्ञान लिया तो हापुड़ पुलिस की भी नींद टूटी. आनन-फानन में पुलिस ने 14 लोगों के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज जांच शुरू कर दी है. इस मामले में हापुड़ एसपी यशवीर सिंह का कहना है कि महिला के साथ दो साल पहले गैंगरेप की घटना हुई थी, उस समय पुलिस द्धारा कोई कार्यवाही नहीं हुई, जिसके बाद महिला मुरादाबाद में रहने लगी और वहीं उसने आग लगाई है. महिला के बयानों के आधार पर 14 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इस मामले को सीएम योगी आदित्यनाथ के समक्ष रखते हुए महिला को न्याय दिलाने की मांग की है. महिला आयोग द्वारा भेजे गए पत्र में लिखा गया है कि हापुड़ पुलिस ने महिला के साथ अविश्वसनीय प्रताड़ना की है. लगातार शिकायतों के बाद भी कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई. पुलिस की इस असंवेदनशील और शर्मनाक रवैये के चलते महिला ने मजबूर होकर खुद को आग के हवाले कर दिया. गंभीर हालत में उसका इलाज चल रहा है.

दिल्ली महिला आयोग ने महिला को उचित मुआवजा देने और मामले में हापुड़ पुलिस की भूमिका की जांच की भी मांग की है. वायरल वीडियो में महिला ने जो बयान दिया है, उसके मुताबिक उसने एसपी से भी मामले की शिकायत की थी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. आरोपी उसे लगातार धमकी दे रहे थे. जिसके बाद उसने यह कदम उठाया.

(इनपुट: विपिन गिरि)

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...