होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Delhi-Meerut RRTS Corridor: सरपट दौड़ती ट्रेनों को High Tech इमारतों से किया जाएगा कंट्रोल, जानें क्या-क्या होगा

Delhi-Meerut RRTS Corridor: सरपट दौड़ती ट्रेनों को High Tech इमारतों से किया जाएगा कंट्रोल, जानें क्या-क्या होगा

गाजियाबाद के दुहाई डिपो में आरआरटीएस की प्रशासनिक इमारत तैयार.

गाजियाबाद के दुहाई डिपो में आरआरटीएस की प्रशासनिक इमारत तैयार.

Meerut News: भारत की प्रथम रीजनल रेल के परिचालन के लिए गाज़ियाबाद के दुहाई डिपो में बनाये जा रहे आरआरटीएस की प्रशासनिक ...अधिक पढ़ें

गाजियाबाद. भारत की प्रथम रीजनल रेल के परिचालन के लिए गाज़ियाबाद (Ghaziabad) के दुहाई डिपो में बनाये जा रहे आरआरटीएस की प्रशासनिक इमारत (Administrative building) के निर्माण का कार्य लगभग पूरा हो गया है. इस एडमिनिस्ट्रेटिव बिल्डिंग में state of the art तकनीक के विभिन्न मॉडर्न सिस्टम से युक्त आधुनिकतम लैब, सिमुलेटर रूम, ऑटोमेटेड फेयर कलेक्शन (एएफसी) के सेंट्रल वर्क स्टेशन, विभिन्न इक्विपमेंट रूम आदि बनाए जा रहे हैं.

इस इमारत में कई कमरे होंगे, जिसमें अलग-अलग प्रकार की सॉफिस्टिकेटेड सिस्टम युक्त लैब जैसे ऑटोमेटेड फेयर कलेक्शन (एएफसी) लैब, प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर (पीएसडी) लैब, सुपरवाइसरी कंट्रोल और डेटा एक्विज़िशन (एससीएडीए) लैब, टेलिकॉम लैब आदि, इक्विपमेंट रूम जैसे सिग्नल इक्विपमेंट रूम और टेलिकॉम इक्विपमेंट रूम, आईटी सरवर रूम, ब्रिज मैनेजमेंट सिस्टम (बीएमएस) पैनल रूम आदि शामिल हैं. यहां सिमुलेटर रूम भी बनाया गया है, जहां अपने तरह की यूनिक सिम्युलेटर से ट्रेन के प्रशिक्षुओं को ट्रेन के परिचालन और उसके सिस्टम के विषय में जानकारी दी जाएगी. साथ ही रियल टाइम और रियल सिचुएशन में कैसे कार्य किया जाए, इसकी ट्रेनिंग दी जाएगी.

यहां ट्रेनियों के लिए लेक्चर हॉल, कॉन्फ्रेंस रूम तथा लाइब्रेरी भी बनाई जा रही है. साथ ही उनके खाने-पीने और ब्रेक के लिए एक रीक्रिएशन रूम और कैफेटेरिया का भी निर्माण इसी बिल्डिंग में किया जा रहा है. आरआरटीएस की ट्रेनों के लिए दो डिपो ओर एक स्टेबलिंग यार्ड क्रमश: दुहाई डिपो, मोदीपुरम और जंगपुरा में बनाया जा रहा है. प्रायोरिटी सेक्शन के निकटतम परिचालन के लिए दुहाई डिपो को तेजी से तैयार किया जा रहा है.

रैपिड ट्रेन के कोच जिनके इंटीरियर की फैसिलिटीज का हाल में ही दुहाई डिपो में अनावरण किया गया था, शीघ्र ही गुजरात के सावली से डिपो में लाये जाएंगे. यहीं उनके रख-रखाव और बाद में साफ-सफाई का काम करने का प्रावधान होगा. इस डिपो के सम्पूर्ण कंट्रोल का काम इसी एडमिनिस्ट्रेटिव बिल्डिंग के माध्यम से किया जाएगा. दुहाई डिपो आरआरटीएस के प्रायोरिटी सेक्शन का हिस्सा है, जिसमें गाज़ियाबाद में साहिबाबाद से दुहाई तक का 17 किमी का क्षेत्र शामिल है.

दुहाई डिपो में RRTS ट्रैक बिछाने और OHE लगाने का कार्य तेज़ी से पूरा किया जा रहा है. दुहाई डिपो के प्रशासनिक इमारत से ट्रेनों के परिचालन और संबंधित प्रक्रियाओँ का कंट्रोल और मॉनिटर करने का काम किया जाएगा. एनसीआरटीसी का प्रयास है कि यात्रियों का समग्र अनुभव सुखद और आनंददायक हो और लोगों को सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए.

Tags: Ghaziabad News, India First Regional Rail, Indian Railways, UP news, Uttar pradesh news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें