होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /गाजियाबाद में ट्रेन से कटकर B.SC और 12वीं क्लास की छात्रा की मौत, ट्रेन चालक ने बताई सच्चाई

गाजियाबाद में ट्रेन से कटकर B.SC और 12वीं क्लास की छात्रा की मौत, ट्रेन चालक ने बताई सच्चाई

रेलवे ने कहा कि उसने अनधिकृत प्रवेश को रोकने के लिए पटरियों के दोनों ओर सीमाएं बनाई हैं. (सांकेतिक फोटो)

रेलवे ने कहा कि उसने अनधिकृत प्रवेश को रोकने के लिए पटरियों के दोनों ओर सीमाएं बनाई हैं. (सांकेतिक फोटो)

Ghaziabad News: उत्तर रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक, ट्रेन चालक से पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि जब ट्रेन अप लाइन प ...अधिक पढ़ें

    गाजियाबाद. गाजियाबाद (Ghaziabad) के मोदीनगर में नई दिल्ली-देहरादून जनशताब्दी एक्सप्रेस (New Delhi-Dehradun Janshatabdi Express in Modinagar) की चपेट में आने से दो छात्राओं की मौत हो गई. अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि हादसे में मारी गई छात्राओं की पहचान प्रिया (17) और शिवानी (20) के रूप में की गई है और वे गाजियाबाद के मोदीनगर की नंदनगरी कॉलोनी (Nandnagari Colony) की रहने वाली थीं. उन्होंने बताया कि शुक्रवार की शाम लगभग साढ़े चार बजे यह घटना उस समय हुई जब वे घरेलू सामान खरीदकर घर लौट रही थीं.

    उत्तर रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक, ट्रेन चालक से पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि जब ट्रेन अप लाइन पर थी तो डाउन लाइन पर एक मालगाड़ी थी. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि मालगाड़ी को देखकर लड़कियां क्रॉसिंग पर रुक गईं, लेकिन जनशताब्दी ट्रेन को नहीं देख पाईं. अधिकारियों ने कहा कि चालक ने दावा किया कि उसने दो लड़कियों को पटरियों पर खड़ा देखा जहां से जनशताब्दी गुजर रही थी और अपने बयान में उसने कहा है कि उसने कई बार हॉर्न बजाया और यहां तक कि आपातकालीन ब्रेक भी लगाए, लेकिन लड़कियों को बचाने के लिए समय पर ट्रेन को नहीं रोका जा सका.

    दोनों लड़कियों के शव बिना पोस्टमार्टम किए उन्हें सौंप दिए गए
    रेलवे ने कहा कि उसने अनधिकृत प्रवेश को रोकने के लिए पटरियों के दोनों ओर सीमाएं बनाई हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रिया 12वीं कक्षा में थी और शिवानी बीएससी कर रही थी. राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) मोदीनगर के चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक बाबूराम सिंह ने बताया कि शव माता-पिता को सौंप दिए गए हैं. रेलवे ने कहा कि उनके माता-पिता के अनुरोध के बाद, दोनों लड़कियों के शव बिना पोस्टमार्टम किए उन्हें सौंप दिए गए.

    दोनों के कानों में ईयरफोन लगा हुआ था
    बता दें कि पिछले साल थुरा के थाना जमुनापार क्षेत्र में मथुरा-कासगंज रेलवे ट्रैक पर लक्ष्मीनगर के पास ट्रेन की चपेट में आने से किशोर समेत दो की मौत हो गई थी. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया था. बताया जा रहा था कि दोनों के कानों में ईयरफोन लगा हुआ था और मोबाइल पर ऑनलाइन पबजी ‘PUBG’ गेम चलता मिला था. माना जा रहा था कि मोबाइल में गेम खेलते समय दोनों हादसे का शिकार हुए.

    (इनपुट- भाषा)

    Tags: Ghaziabad News, Train news, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें