Home /News /uttar-pradesh /

Ghaziabad Explainer :- जिले मे लगने वाले है बिजली के स्मार्ट मीटर

Ghaziabad Explainer :- जिले मे लगने वाले है बिजली के स्मार्ट मीटर

X

विद्युत निगम को घाटे से न उबार पाने के बाद अब जिले में प्री-पेड स्मार्ट मीटर लगाने की कवायद शुरू हो गई है.इसके लिए विद्युत निगम ने सर्वे पूरा कर लिया है.जिले में एक हजार करोड़ रुपये से विद्युत व्यवस्था में सुधार कार्यों के प्रस्ताव में प्री-पेड स्मार्ट मीटर लगाना भी शामिल हैं.

अधिक पढ़ें ...

    गाज़ियाबाद में अब स्मार्ट मीटर लगने जा रहे है.ऐसा इसलिए क्योंकि तमाम कोशिशों के बावजूद विद्युत निगम घाटे से नहीं उबार पाया है.अब जिले में प्री-पेड स्मार्ट मीटर लगाने की कवायद शुरू की है. इसके लिए विद्युत निगम ने सर्वे पूरा कर लिया है.जिले में एक हजार करोड़ रुपये से विद्युत व्यवस्था में सुधार कार्यों के प्रस्ताव में प्री-पेड स्मार्ट मीटर लगाना भी शामिल है.इसके तहत घरेलू, वाणिज्यिक और औद्योगिक उपभोक्ताओं के यहां प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे.विद्युत निगम के अधिकारियों के मुताबिक योजना के तहत साल 2023 तक घरेलू, वाणिज्यिक और औद्योगिक उपभोक्ताओं के यहां स्मार्ट मीटर लगाने की कवायद शुरू हो जाएगी.

    विगत दिनों विद्युत निगम ने पुर्नोत्थान योजना के तहत बिजली व्यवस्था में सुधार के लिए सर्वे कराया था.इसमें 12 बिदुओं पर विकास कार्यों को शामिल किया था,जिसमें उपकेंद्र बढ़ाना, जर्जर तार बदलना, ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाने आदि कार्यों के अलावा प्री-पेड स्मार्ट मीटर लगाने की योजना भी शामिल थी.विद्युत निगम के मुताबिक प्रस्ताव पास होने और बजट जारी होने के बाद मीटर की लागत तय होगी.मामले में सर्वे की रिपोर्ट मुख्यालय और शासन को भेजी जाएगी.

    ख़ास बात ये है कि मोबाइल पर ही दिखेगा बिजली का खर्च प्री-पेड विद्युत स्मार्ट मीटर को उपभोक्ताओं के मोबाइल से जोड़ा जाएगा. इससे उपभोक्ता घर, दुकान और फैक्ट्री की विद्युत रीडिग को मोबाइल पर देख सकेंगे.विद्युत रीडिग में उपभोक्ता को कहीं कुछ भी गलत नजर आता है तो वह तुरंत इसकी शिकायत कर सकेंगे.वहीं, किसी उपभोक्ता का कनेक्शन काटना है तो कर्मचारियों को मौके पर जाने की जरूरत नहीं होगी.संबंधित उपकेंद्र से मीटर की आपूर्ति बंद की जा सकेगी.अब जानते है की प्री-पेड स्मार्ट मीटर काम कैसे करेगा तो प्री-पेड स्मार्ट मीटर में लगी डिवाइस आसपास के मोबाइल टावर के जरिए विद्युत निगम कार्यालय में मीटर रीडिग पहुंचाएगी.मीटर को रिचार्ज करने के बाद ही उपभोक्ताओं को विद्युत आपूर्ति मिलेगी.

    इसके बाद मीटर रीडर का काम भी खत्म हो जाएगा.मीटर से छेड़छाड़ करना भी उपभोक्ताओं के लिए संभव नहीं होगा.मीटर से छेड़छाड़ करने पर संबंधित बिजलीघर में सिग्नल के जरिए विद्युत विभाग को जानकारी मिलेगी.मोबाइल पर मैसेज से उपभोक्ताओं को रिचार्ज खत्म होने की जानकारी उपभोक्ता कों मिलेगी.

    Tags: Electricity, गाजियाबाद

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर