Home /News /uttar-pradesh /

Explainer Gaziabad:-सावधान रहिए! जिले मे दौड़ रही हैं यमराज की सवारी 

Explainer Gaziabad:-सावधान रहिए! जिले मे दौड़ रही हैं यमराज की सवारी 

Filepic

Filepic

गाजियाबाद जनपद में 350 ऐसी बसें सड़कों पर दौड़ रहीं हैं जो अनफिट हैं.यही बसें लोगों की जान के लिए खतरे का सबब बन रही हैं. पिछले कुछ माह से जिले मे लगातार बस हादसों के मामले सामने आ रहे हैं. जिसका कारण अक्सर बस मे खराबी या उपकरण खराब होना बताया जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद जनपद में 350 ऐसी बसें सड़कों पर दौड़ रहीं हैं जो अनफिट हैं.यही बसें लोगों की जान के लिए खतरे का सबब बन रही हैं. पिछले कुछ माह से जिले मे लगातार बस हादसों के मामले सामने आ रहे हैं. जिसका कारण अक्सर बस मे खराबी या उपकरण खराब होना बताया जा रहा है.बीते बुधवार को भाटिया मोड़ स्थित फ्लाईओवर पर रात को तेज रफ्तार निजी बस ने बाइक सवार युवक को कुचलते हुए अनियंत्रित होकर पुल से नीचे गिर गई. इस घटना में बाइक सवार युवक की मौत हो गई और अन्य तीन लोग घायल हो गए थे. जांच में सामने आया था कि बस का टायर फटने की वजह से हादसा हुआ था. इस हादसे के बाद से सबसे बड़ा सवाल बसों की फिटनेस को लेकर उठा.
    जिले में करीब 350 ऐसी बसें हैं,जिनकी फिटनेस खत्म हो गई है. लापरवाही का आलम यह है कि बस चालक ना तो वाहनों की फिटनेस जांच करा रहें हैं और ना ही नवीनीकरण करा रहें हैं. दरअसल परिवहन विभाग की ओर से 30 जुलाई को फिटनेस खत्म होने वाले वाहनों को तीन महीने की रियायत दी गई थी.जिसकी वहज से 30 सितंबर तक बिना फिटनेस की जांच के वाहन चला सकते थे, लेकिन अभी भी कई वाहनों की फिटनेस का नवीनीकरण नहीं हुआ है.
    परिवहन विभाग ने मीडिया कों बताया कि ऐसी बस जिनकी फिटनेस खत्म हो गई है या कोई उपकरण खराब है उनकी तरफ हम ध्यान दे रहे हैं. इसके अलावा मानकों का उल्लंघन करते हुए जो बसें सड़क पर चल रही है.उन पर निरंतर कार्यवाही की जा रही है. एक माह में करीब मानकों के विरुद्ध चल रही 70 बसों के चालान किए गए हैं.

    रिपोर्ट
    विशाल झा 

    Tags: Bus, गाजियाबाद

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर