गाजियाबाद सीवरेज मौत मामले में बड़ी कार्रवाई, जल निगम के 4 अधिकारी सस्पेंड

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 22, 2019, 10:51 PM IST
गाजियाबाद सीवरेज मौत मामले में बड़ी कार्रवाई, जल निगम के 4 अधिकारी सस्पेंड
प्रतीकात्मक तस्वीर

जानकारी के मुताबिक सीवर की जहरीली गैस ने इन मजजूरों की जान ले ली. पांचों मृतक मजदूर बिहार के समस्तीपुर के रहनेवाले थे.

  • Share this:
गाजियाबाद (Ghaziabad) के सीवर (Sewer) में पांच मजदूरों की मौत के मामले में गाजियाबाद जल निगम के चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है. प्रथमदृष्टया लापरवाही सामने आने पर निलंबन की कार्रवाई की गई है. कृष्ण मोहन यादव जीएम, रविंद्र सिंह एक्सईएन, प्रवीण कुमार एई और अजमत अली जेई को निलंबित किया गया है. साथ ही ठेकेदार फर्म के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराकर ब्लैकलिस्ट करने के आदेश जारी किए गए हैं.

बता दें कि यह गाजियाबाद में सिहानीगेट क्षेत्र के नंदग्राम इलाके की घटना है. जानकारी के मुताबिक सीवर की जहरीली गैस ने इन मदजूरों की जान ले ली. पांचों मृतक मजदूर बिहार के समस्तीपुर के सिंधिया गांव के रहनेवाले थे.

नगर निगम और जलकल विभाग एक दूसरे पर लगा रहे आरोप
5 लोगों की मौत के बाद अब नगर निगम और जलकल विभाग एक दूसरे पर ठीकरा फोड़ रहे हैं. मगर इन पांच लोगों की मौत का असल जिम्मेदार कौन है, इसका जवाब किसी के पास नहीं है.

कर्मचारियों के पास नहीं थे सेफ्टी मास्क
दरअसल तकरीबन 80 करोड़ की लागत से अमृत योजना के तहत बनाया जा रहे सीवर लाइन में यह हादसा हुआ. हादसे में 5 लोगों की जान गई. जलकल विभाग के सफाई कर्मचारी सीवर सफाई करने के लिए पहुंचे थे. पहले एक कर्मचारी सीवर सफाई करने के लिए नीचे उतरा और जहरीली गैस होने की वजह से नीचे ही बेहोश हो गया.

इसी क्रम में एक के बाद एक 5 कर्मचारी नीचे उतरे लेकिन सभी जहरीली गैस की चपेट में आ गए. सभी नीचे बेहोश हो गए बाद में सभी को कड़ी मशक्कत के बाद निकाला गया. आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां पर डॉक्टर ने सभी को मृत घोषित कर दिया. आसपास के लोगों के मुताबिक इन कर्मचारियों को किसी भी तरह का कोई सेफ्टी प्रबंध मसलन मास्क, जैकेट आदि समान नहीं दिया गया था.
Loading...

ये भी पढ़ें-

MCI ने दी सैफई यूनिवर्सिटी की मान्यता रद्द करने की चेतावनी

जम्मू-कश्मीर से 30 कैदियों की दूसरी खेप पहुंची आगरा जेल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गाजियाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 9:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...