Home /News /uttar-pradesh /

Gaziyabad Explainer:-गीले कूड़े से बायो गैस और सीएनजी बनाएगी लंदन की कंपनी,साथ ही मिलेंगे बायो कैश पॉइंट्स 

Gaziyabad Explainer:-गीले कूड़े से बायो गैस और सीएनजी बनाएगी लंदन की कंपनी,साथ ही मिलेंगे बायो कैश पॉइंट्स 

Filepic 

Filepic 

गाज़ियाबाद में अब लंदन की कंपनी लगाएगी शहर की गंदगी का बेडा पार.शहर में गीले कूड़े के निस्तारण को लेकर समस्या आ रही थी.अब इसके स्थायी समाधान के लिए निगम ने गीले कूड़े से बायो गैस,डीजल और सीएनजी बनाने का फैसला किया है.गीले कूड़े के निस्तारण और उससे बायो ईंधन बनाने के लिए लंदन की कंपनी 100 करोड़ की लागत से प्लांट स्थापित करेगी.

अधिक पढ़ें ...

    गाज़ियाबाद में अब लंदन की कंपनी लगाएगी शहर की गंदगी का बेडा पार.शहर में गीले कूड़े के निस्तारण को लेकर समस्या आ रही थी.अब इसके स्थायी समाधान के लिए निगम ने गीले कूड़े से बायो गैस,डीजल और सीएनजी बनाने का फैसला किया है.गीले कूड़े के निस्तारण और उससे बायो ईंधन बनाने के लिए लंदन की कंपनी 100 करोड़ की लागत से प्लांट स्थापित करेगी.प्लांट की क्षमता प्रतिदिन 200 टन गीला कूड़ा निस्तारण करने की होगी. ये प्लांटराजनगर एक्सटेंशन में लगाया जायेगा जो चार माह में बनकर तैयार हो जाएगा.नगर आयुक्त ने कंपनी प्रतिनिधियों से एक सप्ताह के अंदर प्लांट और उसके संचालन संबंधी एक सप्ताह में विस्तृत प्रपोजल जमा करने के निर्देश दिए हैं.

    प्लांट के लिए कंपनी की मांग के अनुसार राजनगर एक्सटेंशन में पांच एकड़ जमीन उपलब्ध कराई जा सकती है.एक जो खास बात है कि गीला कूड़ा देने पर बायो कैश प्वॉइंट भी दिये जाएंगे.निगम अधिकारियों के सामने वर्तमान में सबसे बड़ी चुनौती शहरवासियों को गीला और सूखा कूड़ा अलग-अलग कर उन्हें उपलब्ध करवाने की है. इसके लिए ही गीला कूड़ा कलेक्शन में कंपनी की योजना है कि लोगों को गीला कूड़ा अलग करने को प्रोत्साहित करेगी.डोर टू डोर गीला कूड़ा एकत्रित करने के बाद कंपनी की ओर से लोगों को बायो कैश प्वॉइंट दिए जाएंगे.प्लांट की शुरुआत के साथ ही कंपनी बायो डीजल, गैस और सीएनजी के केंद्र स्थापित करेगी.फिर बायो कैश प्वॉइंट को इन केंद्रों पर इस्तेमाल कर ईधन खरीद में 50 फीसदी तक की छूट पाई जा सकती है.

    फिलहाल इस तरीके के प्लांट तीन राज्यों में ही संचालित हो रहे है. जिनमे महाराष्ट्र , दिल्ली और हरियाणा शामिल है.इसलिए अगर ये प्रोजेक्ट आगे बढ़ता है तो यह उत्तर प्रदेश का यह पहला प्लांट होगा. इसके साथ ही निगम द्वारा जागरुकता अभियान भी चलाया जा रहा हैं.गीला व सूखा कूड़ा अलग करके देने के लिए लगातार चल रहे अभियान मे भी पूरी तरह से सफलता नहीं मिली है.अगर गीले कूड़े का निस्तारण हो जाता है तो समस्या 60 फीसदी अपने आप खत्म हो जाएगी.ऐसे में पायलट प्रोजेक्ट के तहत कंपनी ने प्रजेंटेशन दिया है. एक सप्ताह में विस्तृत प्रस्ताव आने के बाद आगे की प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर