Home /News /uttar-pradesh /

ghaziabad virat kohli cricketer friend anshul gupta in front of whom ishant sharma was also afraid to bowl

Ghaziabad: विराट कोहली का क्रिकेटर दोस्त, जिसके सामने कभी बॉलिंग करने से कतराते थे इशांत शर्मा

इस शख्स का नाम है अंशुल गुप्ता, जो गाजियाबाद में रहते हैं. अंशुल एक जमाने में विराट कोहली के साथ मिलकर विपक्षी टीम के छक्के छुड़ा दिया करते थे. विराट कोहली (Virat Kohli ) ने दिल्ली की अंडर-17 (under 17) टीम में खेलने के दौरान इनसे पूरे विश्वास के साथ कहा था कि 'एक दिन हम दोनों इंडियन टीम के लिए एक साथ खेलेंगे'.आज विराट कोहली क्रिकेट के क्षेत्र का ऐसा सितारा हैं, जो पूरी दुनिया में चमक रहा है तो वहीं अंशुल अब नेवी में अफसर हैं.

अधिक पढ़ें ...

    विशाल झा
    गाज़ियाबाद.
    आज हम आपको एक ऐसे खिलाड़ी की कहानी दिखाने जा रहे हैं, जो कभी भारतीय टीम के कप्तान और लोकप्रिय खिलाड़ी विराट कोहली के साथ क्रिकेट खेलता था. विराट कोहली (Virat Kohli ) ने जिससे दिल्ली की अंडर-17 (under 17) टीम में खेलने के दौरान पूरे विश्वास के साथ कहा था कि देखना एक दिन ‘हम दोनों इंडियन टीम के लिए एक साथ खेलेंगे’. जी हां! इस शख्स का नाम है अंशुल गुप्ता, जो गाजियाबाद में रहते हैं. अंशुल एक जमाने में विराट कोहली के साथ मिलकर विपक्षी टीम के छक्के छुड़ा दिया करते थे. आज विराट कोहली क्रिकेट के क्षेत्र का ऐसा सितारा हैं, जो पूरी दुनिया में चमक रहा है तो वहीं अंशुल अब नेवी में अफसर हैं.

    ऐसे शुरू हुआ क्रिकेट का सफर
    अंशुल आज 32 साल के हो गए हैं. इनके पिता हरीश चंद्र पेशे से वकील हैं. अंशुल बताते हैं कि क्रिकेटर बनने के सपने में इनकी मां का बड़ा योगदान रहा है. यह बात उस वक्त की है, जब गाजियाबाद में क्रिकेट स्टेडियम नहीं हुआ करते थे और ना ही दिल्ली आने-जाने के लिए आज जितने साधन थे. उस वक्त अंशुल की मां उनको सुबह ट्रेन से दिल्ली के क्रिकेट स्टेडियम में प्रैक्टिस करवाने के लिए लाती थीं.

    दिल्ली टीम के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर की फाइल फोटो

    अंशुल बताते हैं कि उनकी मां की इस प्रेरणा के कारण ही उनका दिल्ली की अंडर 15 टीम के लिए सिलेक्शन हुआ था. इसके बाद अंशुल लगातार दिल्ली की टीम में बने रहे और फिर अंडर-17 टीम में उन्हें विराट कोहली और इशांत शर्मा जैसे क्रिकेटरों के साथ खेलने का मौका मिला. अंशुल के मुताबिक, वह पुल और कटशॉर्ट बहुत बेहतरीन खेलते थे और इसी कारण उस वक्त इशांत शर्मा इन्हें शॉर्ट बॉल डालने से डरा करते थे. इसी बीच अंशुल ने एक बार विराट कोहली को कहा कि तुम बढ़िया खेलोगे और टीम इंडिया में जाओगे तब विराट कोहली ने उन्हें जवाब दिया था कि मैं नहीं हम दोनों ही टीम इंडिया के लिए खेलेंगे.

    नेवी की टीम से मिला खेलने का न्योता
    अंशुल गुप्ता ने वर्ष 2004 से वर्ष 2010 तक दिल्ली की टीम के लिए क्रिकेट खेला, जिसके बाद वह अंडर -22 टीम के लिए सिलेक्ट हो गए. अंडर 22 की टीम से खेलते वक्त नेवी के कोच की नजर उनपर पड़ी और उन्होंने सर्विसेज की तरफ से क्रिकेट खेलने का न्यौता दे दिया. इसके साथ ही नेवी में नौकरी करने का भी ऑफर दिया.

    फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अंशुल गुप्ता का शानदार रिकॉर्ड

    परिवार वालों से ग्रीन सिग्नल मिलते ही अंशुल सर्विसेज के लिए क्रिकेट खेलने लगे और वर्ष 2012 में सर्विस के लिए रणजी खेला. वर्ष 2016-17 में वे सर्विसेज टीम के कप्तान तक बने. अंशुल ने रणजी ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी और फर्स्ट क्लास क्रिकेट में बेहतरीन खेल दिखाया. 10 साल में उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में लगभग 45 मैच खेले, जिनमें 43.3 की औसत से 2246 रन बनाए.

    IPL में इस कारण नहीं मिल पाया खेलने का मौका
    आईपीएल में खिलाड़ियों की बोली लगती है, जिसके बाद वह एक टीम के लिए खेलना शुरू करते हैं. इसी बात पर बीसीसीआई और सर्विस के मैनेजमेंट के बीच सहमति नहीं बन पाई. सर्विसेज़ के खिलाड़ियों को मैनेजमेंट ने यह कहकर आईपीएल में जाने से मना कर दिया कि ये खिलाड़ी हमारे देश के फौजी हैं और एक फौजी कभी बिक नहीं सकता. लगभग 5 साल तक सर्विसेज़ की टीम ने आईपीएल में खेलने पर बैन लगा रखा था. वर्ष 2017 के बाद नेवी ने आईपीएल से बैन हटाया, लेकिन बीसीसीआई ने सर्विसेज़ के इस फैसले का स्वागत नहीं किया. अंशुल वर्ष 2011 से 2019 तक मुंबई में नेवी ऑफिसर के पद पर जॉब करते थे, अब उनका ट्रांसफर विशाखापट्टनम कर दिया गया है.

    Tags: Cricket news, Ghaziabad News, Virat Kohli

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर