Home /News /uttar-pradesh /

गाज़ियाबाद :-वसीम रिजवी से जीतेन्द्र त्यागी बनने के पीछे की वज़ह जानकर हैरान हो जाएंगे आप 

गाज़ियाबाद :-वसीम रिजवी से जीतेन्द्र त्यागी बनने के पीछे की वज़ह जानकर हैरान हो जाएंगे आप 

Filepic 

Filepic 

शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने आज डासना स्थित देवी मंदिर में यति नरसिंहानंद सरस्वती की उपस्थिति मे हिन्दू धर्म अपना लिया.अब वसीम रिजवी नए नाम यानी जीतेन्द्र त्यागी के नाम से जाने जाएंगे. वसीम से जीतेन्द्र बनने के पीछे एक रोचक कहानी हैं.

अधिक पढ़ें ...

    यूपी के प्रमुख मुस्लिम चेहरों में शामिल और शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने आज डासना स्थित देवी मंदिर में यति नरसिंहानंद सरस्वती की उपस्थिति मे हिन्दू धर्म अपना लिया.अब वसीम रिजवी नए नाम यानी जीतेन्द्र त्यागी के नाम से जाने जाएंगे. वसीम से जीतेन्द्र बनने के पीछे एक रोचक कहानी हैं.जब न्यूज़ 18 लोकल ने उनसे पूछा कि आपने धर्म परिवर्तन क्यू किया तोह वो बोले कि धर्म परिवर्तन की यहां कोई बात नहीं हैं.जब मुझे इस्लाम से निकाल दिया गया,तब यह मेरी मर्जी है कि मैं किस धर्म को स्वीकार करूं.सनातन धर्म दुनिया का सबसे पहला धर्म है और उसमें इतनी अच्छाइयां हैं.इंसानियत है कि हम समझते हैं कि इतनी किसी और धर्म में नहीं हैं. वसीम रिजवी एक लंबे समय से विरोध झेलते हुए आ रहे हैं.उनका सर काट देने की भी उन्हें धमकियां मिलती रही हैं.आगे के जीवन पर और जीतेन्द्र त्यागी बनने पर उन्होंने खुशी जाहिर की और कहां की मै धर्म की लड़ाई शुरू से लड़ता आया हूं और आगेभी लडता रहूंगा.

    इस्लाम के प्रति रिजवी साहब जमकर बरसे और बोले आज दुनिया मे इस्लाम आतंक के नाम से पहचाना जाता हैं. इस्लाम का दूसरा नाम ही आतंक हैं.रिजवी ने बताया की मेरे परिवार कों भी इस्लाम छोड़ देना चाहिए.अगर वो इस्लाम नहीं छोड़ते तो मै उनका त्याग करूंगा.रिजवी कों जान का खतरा भी लगातार बना हुआ हैं.
    रिजवी कहते हैं मुझे तो तब भी डर था.जब मै मुस्लमान था और वो आये दिन मुझे धर्म से निकालते थे.तो वो मेरे पहले भी दुश्मन थे और आज भी दुश्मन हैं.वसीम रिजवी कुरान की आयतें हटाने की याचिका से भी विवादों में रहे थे.उन्होंने कुरान की 26 आयतों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर