होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Good News: अब रोजगार के लिए नहीं भटकेंगे खिलाड़ी, गाज़ियाबाद IMT की पहल बनेगी नया विकल्प

Good News: अब रोजगार के लिए नहीं भटकेंगे खिलाड़ी, गाज़ियाबाद IMT की पहल बनेगी नया विकल्प

गाजियाबाद स्थित आईएमटी राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों के लिए विशेष तोहफा लाया है. स्पोर्ट्स शोध पर आधारि ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

विशाल झा

गाजियाबाद. अक्सर देखा गया है कि मैदान पर पसीना बहाकर, अपने आप को कड़ी मेहनत की भट्ठी में तपा कर जब कोई खिलाड़ी मेडल जीतता है, देश और प्रदेश का विश्व में मान-सम्मान बढ़ाता है तो उसकी जमकर तारीफ की जाती है. पीठ थपथपाई जाती है, लेकिन कुछ साल या फिर एक वक्त के बाद उन्हें भुला दिया जाता है. गुजरते वक्त के साथ ऐसे खिलाड़ी गुमनामी की जिंदगी जीने को मजबूर हो जाते हैं, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा.

ऐसा नहीं है कि देश-प्रदेश का मान-सम्मान बढ़ाने वाले यह पदकवीर खिलाड़ी खेलों के सिवा अन्य किसी क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन नहीं कर सकते. जरूरत होती है तो सिर्फ उनमें वो सभी गुण डालने की जो रोजगार दिलाने के लिए आवश्यक होती है. इसको ध्यान में रखते हुए गाजियाबाद स्थित आईएमटी राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों के लिए विशेष तोहफा लाया है. स्पोर्ट्स शोध पर आधारित नया कोर्स ‘रोजगार परक’ खिलाड़ियों के लिए रोजगार का नया विकल्प बनेगा.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

दिल्ली-एनसीआर
दिल्ली-एनसीआर

प्रतिभाओं का पंख बनेगा IMT
आईएमटी गाजियाबाद के स्पोर्ट्स रिसर्च सेंटर के प्रभारी डॉ. कनिष्क पांडे ने न्यूज़ 18 लोकल को बताया कि हमारे द्वारा एक अनोखा सर्टिफिकेट प्रोग्राम लॉन्च किया गया है जो ऐसे बहुत सारे खिलाड़ियों की मदद करेगा जो ग्राउंड पर जमकर पसीना बहाते हैं और देश का मान बढ़ाते हैं, लेकिन दुख की बात है कि बाद में उन्हें नौकरी नहीं मिल पाती हैं. दरअसल 35 वर्ष की उम्र में खिलाड़ियों को रिटायर कर दिया जाता है. इसके बाद वो आजीविका के लिए भटकते रहते हैं. ऐसे में रोजगार परक कोर्स खिलाड़ियों में ऐसी स्किल डेवेलप करेगा जो उन्हें रोजगार दिलाने में सहायता करेगा.

जानिए कोर्स के लिए क्या है जरूरी
डॉ. कनिष्क पांडे ने बताया कि स्पोर्ट्स के क्षेत्र में काफी शोध करने के बाद इस कोर्स को लाया गया है. कोर्स का पहला सत्र जनवरी 2023 से शुरू किया जाएगा. पांच महीने के इस पाठ्यक्रम के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री जरूरी होगी. साथ ही इसमें राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के खिलाड़ी ही पात्र होंगे. वहीं, खिलाड़ी स्वत:, सरकार या फिर निजी क्षेत्र के माध्यम से स्पॉन्सरशिप कोर्स भी जॉइन कर सकते हैं. विभिन्न क्षेत्रों में स्पोर्ट्स कोटे से जो खिलाड़ी नौकरी प्राप्त कर चुके हैं. ऐसे खिलाड़ी भी प्रोफेशनल और मैनेजेरियल स्किल डेवलप करने के लिए कोर्स जॉइन कर सकते हैं.

इस दौरान खिलाड़ियों को 16 मूल्यों पर प्रशिक्षित किया जाएगा जिसमें उनको एमएस ऑफिस, एबिलिटी स्किल, इफेक्टिव टाइम मैनेजमेंट, प्रोब्लम सॉल्विंग स्किल, ऑर्गेनाइजेशन स्किल, कॉनफ्लिक्ट मैनेजमेंट स्किल, प्रेजेंटेशन स्किल जैसे कोर्स करवाए जाएंगे.

Tags: Employment News, Employment opportunity, Ghaziabad News, Good news, Up news in hindi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें