DELHI-NCR में क्या होगा कांवड़ियों का रूट, इन रास्तों पर जाने से बचें

19 जुलाई से कांवड़ यात्रा की शुरुआत हो रही है. 22 जुलाई को सावन का पहला सोमवार है. दिल्ली-एनसीआर में कांवड़ यात्रियों की सुरक्षा को लेकर विशेष प्रबंध किए गए हैं.

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 4:49 PM IST
DELHI-NCR में क्या होगा कांवड़ियों का रूट, इन रास्तों पर जाने से बचें
बुधवार को यूपी पुलिस और दिल्ली ट्रैफिक पुलिस द्वारा कांवर यात्रा को लेकर विशेष तैयारी की गई है
Ravishankar Singh
Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 4:49 PM IST
19 जुलाई से कांवड़ यात्रा की शुरुआत हो रही है. 22 जुलाई को सावन का पहला सोमवार है. दिल्ली-एनसीआर में कांवड़ यात्रियों की सुरक्षा को लेकर विशेष प्रबंध किए गए हैं. दिल्ली-एनसीआर में कांवड़ियों के चलने के लिए रूट्स भी तैयार हो गए हैं. इन रूट्स पर बैरिकैडिंग का काम भी लगभग पूरा हो गया है. ट्रैफिक पुलिस ने कांवड़ यात्रा के दौरान हाईवे पर भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी है. इसके तहत हर शुक्रवार की शाम से ही दिल्ली हाईवे पर भारी वाहनों पर प्रतिबंध लगाकर डायवर्जन लागू कर दिया जाएगा, जो सोमवार तक रहेगा. सोमवार से गुरुवार तक ट्रैफिक पुलिस अपने अनुसार प्लान में बदलाव भी कर सकती है.

शुक्रवार की शाम छह बजे डायवर्जन लागू कर दिया जाएगा
पूरे सावन महीने में प्रत्येक सोमवार के लिए यानी दो दिन पूर्व शुक्रवार की शाम छह बजे डायवर्जन लागू कर दिया जाएगा. जो सोमवार की दोपहर 2 बजे तक लागू रहेगा. ऐसे में सप्ताह में तीन दिन तक भारी वाहनों को बदले मार्गों से निकाला जाएगा. इतना ही नहीं कांवड़ियों की सुरक्षा की दृष्टि से यूपी में एनएच-24 हाईवे के 15 कटों को चिह्नित कर उन्हें बंद कराने का काम शुरू कर दिया गया है. यहां पुलिस की तैनाती रहेगी.

कुछ लोग पैदल, तो कुछ साइकिल, जीप और मिनी ट्रक से अपनी कांवड़ यात्रा पूरी करते हैं


बता दें कि दिल्ली से सटे गाजियाबाद में भी कांवड़ रूट को लेकर विशेष तैयारी की गई है. गाजियाबाद के आस-पास जिलों में कांवड़ रूट को सुपर जोन, जोन, सब जोन और सेक्टर में विभाजित किया गया है. कांवड़ यात्रियों की सुरक्षा के लिए यूपी पुलिस के साथ-साथ आरएएफ और बीएसएफ की टुकड़ियां भी लगाई गई हैं. साथ ही यूपी पुलिस की कोशिश है कि पूरी कांवड़ यात्रा को कैमरे की जद में लाया जाए.

दिल्ली-एनसीआर का ट्रैफिक प्लान तैयार
मेरठ जोन के सभी जिलों मेरठ, हापुड़, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, बुलंदशहर, सहारनपुर, शामली और अन्य जिलों के अलावा दिल्ली, उत्तराखंड पुलिस को भी प्रस्तावित प्लान भेज दिया है. बीते सोमवार को ही नोए़़डा पुलिस और दिल्ली पुलिस ने कांवड़ यात्रा को लेकर एक मीटिंग की थी.
Loading...

यूपी पुलिस ने दिल्ली-मेरठ हाईवे और एनएच-58 पर बैरिकेडिंग का काम भी शुरू किया था, जो लगभग पूरा कर लिया गया है. गाजियाबाद पुलिस का कहना है कि 18 जुलाई की रात से एनएच-58 पर भारी वाहनों का डायवर्जन कर दिया जाएगा. 23 जुलाई से एनएच-58 पर वनवे व्यवस्था और 26 जुलाई से हाईवे को बंद करना प्रस्तावित है.

कांवड़ियों के लिए ट्रैफिक पुलिस ने डायवर्जन भी शुरू कर दिया है


कांवड़ यात्रा

19 जुलाई से 12 अगस्त तक रहेगा रूट डायवर्जन.

सावन भर हर शुक्रवार शाम 6 से सोमवार दोपहर 2 बजे तक रहेगा डायवर्जन

तीन दिन भारी वाहन वैकल्पिक मार्गों से निकलेंगे

सुरक्षा के लिए बहुत से कट बंद किए जाएंगे

पूरे यात्रा में पुलिस की तैनाती भी होगी

कांवड़ियों के दो मार्ग

हरिद्वार से मेरठ, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर, दिल्ली, हापुड़, बुलंदशहर की ओर एनएच-58 से दूरी 45 किमी

गंगनहर पटरी के जरिये लंबाई 42 किमी

कांवड़िये हरिद्वार से दिल्ली, बुलंदशहर और गाजियाबाद के लिए दो रास्तों से आ सकते हैं


यातायात व्यवस्था में ये होंगे बदलाव

- दिल्ली, गाजियाबाद की ओर से आने वाले भारी वाहन जिन्हें मुजफ्फरनगर, हरिद्वार, सहारनपुर और बिजनौर जाना है, ऐसे सभी वाहन अब गाजियाबाद से हापुड़ होकर साइलो चौकी-2 से मुजफ्फरनगर की ओर जा सकेंगे.

- देहरादून, हरिद्वार, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर और बिजनौर की ओर से आने वाले भारी वाहन जिन्हें दिल्ली, गाजियाबाद, हापुड़ व बुलंदशहर की ओर जाना है. ऐसे भारी वाहन परीक्षितगढ़ रोड की ओर डायवर्ट किए जाएंगे.

- मुरादाबाद से मेरठ-दिल्ली की ओर जाने वाले भारी वाहनों को तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय के बगल से मवाना होते हुए भेजा जाएगा.

- बरेली से दिल्ली जाने वाले भारी वाहनों को आंवला से नरौरा होते हुए भेजा जाएगा.

- रामपुर से दिल्ली की ओर जाने वाले भारी वाहनों को बुलंदशहर होते हुए भेजा जाएगा.

- अमरोहा से दिल्ली जाने वाले भारी वाहनों को गाजियाबाद होते हुए भेजा जाएगा.

- गजरौला से दिल्ली की ओर जाने वाले भारी वाहनों को बुलंदशहर होते हुए भेजा जाएगा.

- संभल से दिल्ली जाने वाले भारी वाहनों को बुलदंशहर के रास्ते भेजा जाएगा.

- हसनपुर से दिल्ली जाने वाले भारी वाहनों को बुलंदशहर होते हुए भेजा जाएगा.

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी के खिलाफ अरविंद केजरीवाल ने क्यों अपना रखा है नरम रुख?

गाड़ियों पर क्यों लिखते हैं लोग अपनी जातियां, क्या कहते हैं मनोवैज्ञानिक?

दिल्ली पुलिस हाल के वर्षों में अपराध होने के बाद ही हरकत में क्यों आती है?

आज से FIR के लिए आपको नहीं जाना पड़ेगा थाने, नोएडा पुलिस खुद आएगी आपके पास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गाजियाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 3:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...