दिल्ली कूच को अड़े किसानों पर पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले, किया लाठीचार्ज

गाजियाबाद के वैशाली के पास किसानों ने पुलिस की लगाई बैरिकेडिंग को तोड़ दिया. इस बीच पुलिस और पैरा मिलिट्री के जवानों ने किसानों पर पानी की बौछारें भी कीं. इस दौरान पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े, जिसमें कई किसानों के घायल होने की भी सूचना है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 2, 2018, 2:23 PM IST
दिल्ली कूच को अड़े किसानों पर पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले, किया लाठीचार्ज
गाजियाबाद बॉर्डर पर दिल्ली कूच को तैयार हजारों किसान
News18 Uttar Pradesh
Updated: October 2, 2018, 2:23 PM IST
अपने 15 सूत्रीय मांगों को लेकर दिल्ली की ओर बढ़ रहे किसानों और केंद्र सरकार के बीच सोमवार को बातचीत बेनतीजा रही. इसके बाद मंगलवार को हजारों की संख्या में किसान दिल्ली में प्रवेश करने पर अड़े हैं. गाजियाबाद के वैशाली के पास किसानों ने पुलिस की लगाई बैरिकेडिंग को तोड़ दिया. इस बीच पुलिस और पैरा मिलिट्री के जवानों ने किसानों पर पानी की बौछारें भी कीं. इस दौरान पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े, जिसमें कई किसानों के घायल होने की भी सूचना है.

दरअसल, किसानों ने शर्त रखी है कि सरकार के प्रतिनिधि केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह बात करने के लिए मंगलवार को किसान घाट आएं. उन्होंने दिल्ली में घुसने पर रोक और धारा 144 हटाने की भी शर्त रखी. इस बीच लखनऊ से हेलिकॉप्टर के द्वारा 2 आईएएस किसानों से मिलने के लिए रवाना हो चुके हैं. वे हेलिकॉप्टर से गाजियाबाद आ रहे हैं. ये भी सूचना मिल रही है कि किसानों की मुलाकात दोपहर 12 बजे गृहमंत्री से भी होगी.

वहीं पुलिस अधिकारियों का कहना है कि किसानों को यूपी गेट से आगे नहीं जाने दिया जाएगा. मौके पर आरएएफ और भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. बार्डर को पूरी तरह से सील कर दिया गया है. किसानों को गिरफ्तार करने के लिए बसों का भी इंतजाम किया गया है.

बता दें कि करीब 50 हजार किसान गाजियाबाद के हिंडन घाट पर डेरा डाले हुए हैं. भारतीय किसान यूनियन के प्रतिनिधि की सोमवार देर शाम केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात होनी थी, लेकिन नहीं हुई. इसके बाद गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर केंद्र के प्रतिनिधि के तौर पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कराई गई, लेकिन एक घंटे तक चली बातचीत बेनतीजा रही.

ये हैं किसानों की मांगें:

  • स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को लागू किया जाए.

  • Loading...

  • आत्महत्या करने वाले किसानों के परिजनों का पुनर्वास

  • किसानों की कर्ज माफ़ी

  • किसानों को बिजली मुफ्त में दी जाए.

  • किसानों की फसलों की सरकारी खरीद की गारंटी

  • फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य लागत से 50 प्रतिशत जोड़कर मिले

  • बकाया गन्ना भुगतान ब्याज सहित अविलंब कराया जाए.

  • 10 साल पुराने डीजल वाहनों पर लगी रोक हटाई जाए.

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ सीधे किसानों को दिया जाए

  • किसानों की न्यूनतम आमदनी सुनिश्चित हो

  • आवारा पशु व जंगली जानवरों से सुरक्षा मिले

First published: October 2, 2018, 11:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...