Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav 2022: लोनी में न अली, न बाहुबली, सिर्फ बजरंगबली, विवादित बयान के बाद बदले बीजेपी MLA नंद किशोर गुर्जर के सुर

UP Chunav 2022: लोनी में न अली, न बाहुबली, सिर्फ बजरंगबली, विवादित बयान के बाद बदले बीजेपी MLA नंद किशोर गुर्जर के सुर

चुनाव आयोग ने इस विवादित बयान के संबंध में गुर्जर से तीन दिन के अंदर लिखित में जवाब मांगा है.

चुनाव आयोग ने इस विवादित बयान के संबंध में गुर्जर से तीन दिन के अंदर लिखित में जवाब मांगा है.

UP assembly election: सोशल मीडिया पर जब लोनी विधायक नंद किशोर गुर्जर का विवादित बयान वायरल हुआ तो चुनाव आयोग के पास भी पहुंचा. इसके बाद चुनाव आयोग ने उन्हें पत्र भेजकर जवाब मांगा है. इसमें कहा गया है कि 8 जनवरी से प्रदेश में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है. इस दौरान सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक विवादित बयान देते नजर आ रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

लोनी. प्रदेश में चुनावी (UP Assembly Elections 2022) दंगल में रोज नए किस्से सुनने को मिलते हैं. हाल ही लोनी (Loini Assembly Seat) से बीजेपी के विधायक नंद किशोर गुर्जर (BJP MLA Nand Kishore Gurjar) ने सोशल ​मीडिया पर एक वीडियो जारी किया था. इसमें उन्होंने कहा था कि “लोनी में न अली, न बाहुबली, लोनी मे सिर्फ बजरंगबली”. इस बयान की काफी चर्चा हुई थी, लेकिन अब चुनाव आयोग की नजर भी गुर्जर पर पड़ गई है. चुनाव आयोग ने इस विवादित बयान के संबंध में गुर्जर से तीन दिन के अंदर लिखित में जवाब मांगा है. उधर, चुनाव आयोग की चि​ट्ठी के बाद गुर्जर का कहना है कि उनकी बात को गलत अर्थ में लिया जा रहा है.

सोशल मीडिया पर जब लोनी विधायक नंद किशोर गुर्जर का विवादित बयान वायरल हुआ तो चुनाव आयोग के पास भी पहुंचा. इसके बाद चुनाव आयोग ने उन्हें पत्र भेजकर जवाब मांगा. इसमें कहा गया है कि 8 जनवरी से प्रदेश में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है. इस दौरान सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक विवादित बयान देते नजर आ रहे हैं. निर्वाचन आयोग के अनुसार वर्तमान में ऐसी कोई भी गतिविधि या बयान मान्य नहीं है, जिससे धार्मिक या जातिगत घृणा या तनाव पैदा हो. ऐसे में इस विवादित बयान के संबंध में गुर्जर से लिखित में तीन दिनों के अंदर स्पष्टीकरण मांगा गया है.

उधर, जब इस बारे में नंद किशो गुर्जर से बात की गई तो उनका कहना था कि मुझे चुनावा आयोग की ओर जानकारी मिली है. उनका कहना है कि वे बजरंग बली के भक्त हैं और यह उनकी आस्था का विषय है. जहां तक अली की बात है तो जो मोहम्मद अली जिन्ना था, उसने कत्लेआम करवाया था. देश का बंटवारा करवाया था. साथ ही कहा गया था कि बाहुबलियों को टिकट नहीं मिलना चाहिए फिर भी यहां से बाहुबली को टिकट मिला है. उसी संदर्भ में मैंने अपनी बात कही है. मेरा किसी की धार्मिक भावनाएं आहत करने का उद्देश्य नहीं है. मेरी बातों को राजनीति से जोड़कर प्रस्तुत करना गलत है.

Tags: UP Assembly Election 2022, UP chunav

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर