दिल्ली के सबसे अमीर बसपा नेता की हत्या का आरोपी 'बाबा' गिरफ्तार

आईएएनएस
Updated: September 16, 2017, 6:51 PM IST
दिल्ली के सबसे अमीर बसपा नेता की हत्या का आरोपी 'बाबा' गिरफ्तार
हत्या का आरोपी महेंद्र नाथ उर्फ बाबा प्रतिभानंद गिरफ्तार
आईएएनएस
Updated: September 16, 2017, 6:51 PM IST
गाजियाबाद पुलिस ने शनिवार को खुद को बाबा बताने वाले एक शख्स को 2013 में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के नेता दीपक भारद्वाज की हत्या में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया है. वह चार साल से फरार था.

गाजियाबाद के एसएसपी एच.एन. सिंह ने कहा कि महेंद्र नाथ उर्फ बाबा प्रतिभानंद के सिर पर दिल्ली पुलिस ने एक लाख रुपये का इनाम रखा था. उसे शुक्रवार रात पुलिस अधीक्षक (शहर) आकाश तोमर के नेतृत्व में एक टीम ने यहां रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया.

पुलिस ने महाराष्ट्र के बीड के रहने वाले प्रतिभानंद की मौजूदगी की सूचना पर उसे फौरन गिरफ्तार कर लिया.

पूछताछ के दौरान उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है और उसके पास से .32 बोर का एक पिस्तौल और कारतूस बरामद हुआ है.



प्रतिभानंद ने स्वीकार किया कि मंदिर में आयुर्वेदिक दवाइयां बेचने के दौरान वह वकील बलजीत सहरावत के संपर्क में आया, जिनके जरिये उसकी पहचान भारद्वाज के छोटे बेटे नितेश से हुई. उसकी (नितेश) और उसकी मां के रिश्ते भारद्वाज के साथ अच्छे नहीं थे और उन लोगों ने भारद्वाज की हत्या करने के लिए प्रतिभानंद को पांच करोड़ रुपये की सुपारी दी थी.

हथियार और अन्य सामान जैसे-हमलावरों के लिए वाहन खरीदने के लिए 50 लाख रुपये एडवांस में दिए गए. प्रतिभानंद ने भारद्वाज की हत्या को अंजाम देने के लिए अपने ड्राइवर पुरुषोत्तम राणा और अन्य को साथ मिला लिया.



भारद्वाज की 26 मार्च 2013 को गुरुग्राम के टोल प्लाजा के पास 34 एकड़ में फैले उनके (भारद्वाज के) नितेश कुंज फार्म हाउस में मोटरबाइक सवार दो-तीन अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी गई.

कथित बाबा ने पुलिस को बताया कि भारद्वाज की हत्या करने के लिए इसलिए राजी हो गया था, ताकि उसे पर्याप्त धन मिल सके और वह हरिद्वार में एक आश्रम की स्थापना करने और एक 'मठ' का संचालन करने के अपने बचपन के सपने को साकार कर सके.

साल 2009 में बसपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ चुके भारद्वाज दिल्ली में सबसे अमीर उम्मीदवार थे, जिन्होंने 600 करोड़ रुपये की संपत्ति घोषित की थी.
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर