Home /News /uttar-pradesh /

गाजीपुर बॉर्डर 15 दिसंबर तक कर देंगे पूरी तरह खाली, किसानों की घर वापसी पर बोले राकेश टिकैत

गाजीपुर बॉर्डर 15 दिसंबर तक कर देंगे पूरी तरह खाली, किसानों की घर वापसी पर बोले राकेश टिकैत

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि बॉर्डर 15 दिसंबर तक पूरी तरह से खाली कर देंगे. (फाइल फोटो)

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि बॉर्डर 15 दिसंबर तक पूरी तरह से खाली कर देंगे. (फाइल फोटो)

Farmers Return Home: कृषि कानून वापस लेने और किसानों की अन्य मांगों पर संयुक्त किसान मोर्चा व केंद्र सरकार के बीच सहमति भी बन गई है. ऐसा होते ही किसान भी शनिवार को घर लौट गए. 2 दिन के अंदर टिकरी बॉर्डर पर डटे 80% से ज्यादा किसान अपना सामान समेटकर घर वापसी कर चुके हैं. कुछ जगह अभी झोपड़ी और टेंट हटाने का काम चल रहा है. इस बीच दिल्ली पुलिस ने बैरिकेड हटाने शुरू कर दिए हैं.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा है कि किसान 15 दिसंबर तक यहां दिल्ली सीमा (Delhi Border) पर अपना आंदोलन स्थल पूरी तरह से खाली कर देंगे. उन्होंने कहा कि किसानों का पहला समूह शनिवार को उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हो गया. इस बीच यहां के किसानों ने मिठाइयां बांटकर तीन कृषि कानूनों को निरस्त होने का जश्न मनाया.

    भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार ने अपने विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त कर दिया है और अन्य समस्याओं को सुलझाने के लिए सहमत हो गई है. उन्होंने कहा कि रविवार को गाजीपुर बॉर्डर का एक बड़ा हिस्सा खाली कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि हालांकि इसे पूरी तरह से 15 दिसंबर तक खाली किया जाएगा. टिकैत ने कहा कि वह सभी किसानों को भेजकर घर लौटेंगे.

    टिकरी बॉर्डर से 80 फीसदी किसान वापस लौटे

    बता दें कि कृषि कानून वापस लेने और किसानों की अन्य मांगों पर संयुक्त किसान मोर्चा व केंद्र सरकार के बीच सहमति भी बन गई है. ऐसा होते ही किसान भी शनिवार को घर लौट गए. 2 दिन के अंदर टिकरी बॉर्डर पर डटे 80% से ज्यादा किसान अपना सामान समेटकर घर वापसी कर चुके हैं. कुछ जगह अभी झोपड़ी और टेंट हटाने का काम चल रहा है. इस बीच दिल्ली पुलिस ने बैरिकेड हटाने शुरू कर दिए हैं.

    टिकरी बॉर्डर पर चला बुलडोजर

    इधर, आज सुबह से शाम तक टिकरी बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस का बुलडोजर चला. रोहतक के टीटोली गांव से दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर किसान आंदोलन के दौरान पक्के मकान हुए थे, उन्हें हटाने और तोड़ने का काम पूरे दिन चला. आंदोलन स्थल पर बने इन पक्के मकानों ने सबका ध्यान अपनी और आकर्षित किया. इसी कड़ी में टिकरी बॉर्डर के मंच के पास मौजूद ईंट सीमेंट और गारे से बने एक पक्के मकान पर शनिवार को बुलडोजर चला दिया गया.

    ये मकान टिकरी बॉर्डर पर मौजूद मंच के पास में ही बने हुए था, और पिछले दिनों जब भी कोई टिकरी बॉर्डर पर जाता था उनकी सबसे पहले नज़र इसी मकान पर पड़ती थी, जिसको आज जेसीबी मशीन से बड़ी मशक्कत के बाद तोड़ दिया गया. और खास बात ये है कि इन मकान में पंखा, ऐसी, टीवी, फ्रिज जैसी तमाम सुविधाएं मौजूद थी.

    (भाषा से इनपुट के साथ)

    Tags: Delhi Border, Delhi Singhu Border, Farmers, Farmers Agitation, Farmers Protest on Delhi Border, Kisan Aandolan, Rakesh Tikait

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर