Home /News /uttar-pradesh /

UP: गाजियाबाद में मेट्रो स्टेशनों के बाहर लगी लंबी कतारें, यात्री बोलीं- 2 घंटे से लाइन में खड़ी हूं!

UP: गाजियाबाद में मेट्रो स्टेशनों के बाहर लगी लंबी कतारें, यात्री बोलीं- 2 घंटे से लाइन में खड़ी हूं!

50 प्रतिशत क्षमता के साथ मेट्रो चलाने के आदेश के बाद से ही इसका असर दिखाई देने लगा है.

50 प्रतिशत क्षमता के साथ मेट्रो चलाने के आदेश के बाद से ही इसका असर दिखाई देने लगा है.

Ghaziabad News: मेट्रो स्टेशन के बाहर लाइन में लगीं एक युवती ने अपनी अपनी परेशानी का जिक्र करते हुए कहा कि मैं रोजाना एक घंटे में दफ्तर पहुंच जाती हूं, लेकन आज दो घंटे से लाइन में ही खड़ी हुई हूं. ऐसे पता नहीं कितने बजे तक ऑफिस पहुंचेंगे. वहीं, नोएडा के सेक्टर-52 में काम करने वाले मुकेश ने बताया कि इससे अच्छा तो मेट्रो को ही बंद कर दिया जाए. वैसे ही समय काफी बर्बाद हो रहा.

अधिक पढ़ें ...

गाजियाबाद. कोरोना वायरस (Corona Virus) के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron Variant) के खतरे को देखते हुए दिल्ली में येलो अलर्ट (Delhi Yellow Alert) लागू कर दिया गया है. ज‍िसके बाद कुछ पाबंद‍िया भी लगा दी गई हैं. दिल्ली में मेट्रो में पाबंदी लागू होने के बाद गाजियाबाद (Ghaziabad) में भी उसका असर लगातार देखने को मिल रहा है. गुरुवार को लगातार दूसरे दिन भी यहां के मेट्रो स्टेशनों पर लंबी-लंबी कतारें देखने को मिल रही है. दरअसल 50 प्रतिशत क्षमता के साथ मेट्रो चलाने के आदेश के बाद से ही इसका असर दिखाई देने लगा है.

मेट्रो अथॉरिटी प्लेटफार्म पर उतनी ही क्षमता के लोगों को अंदर भेज रही है और उन लोगों के मेट्रो चढ़ जाने के बाद अन्य लोगों को प्लेटफार्म पर जाने दिया जा रहा है. यही वजह है जिसके कारण मेट्रो स्टेशन के बाहर लंबी कतारें देखने को मिल रही है. यहां लाइन में लगे लोगों का कहना है वह काफी देर से कतार में लगे हैं जिससे उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. पहले ऑफिस जाने में मेट्रो से समय कम लगता था. वहीं अब उनके यात्रा करने के दौरान जो समय खर्च होता था, वह लाइन में लगे रहने में ही लग जा रहा है.

भीड़-भाड़ से खत्म हुई नियमों की अनदेखी
इस वजह से उन्हें ऑफिस पहुंचने में देरी का सामना करना पड़ रहा है. कुछ लोग अपने निर्धारित समय से पहले भी आकर मेट्रो की कतार में खड़े हो गए पर उन्हें भी देरी का सामना करना पड़ा. यात्रियों का कहना है अब उनका ट्रैवलिंग टाइम एक से डेढ़ घंटे बढ़ गया है जिससे उन्हें अन्य समस्याओं का सामना भी करना पड़ रहा है. सरकार को इस बारे में कुछ सोचना चाहिए क्योंकि जिस उद्देश्य के साथ मेट्रो में 50% की क्षमता को कोरोना से बचाव के लिए नियम बनाया गया है. उन सारे नियमों की अनदेखी बाहर लाइन और भीड़-भाड़ में खत्म हो जाती है. तो ऐसे में उस नियम का फायदा नहीं हो रहा है.

पता नहीं कब पहुंचेंगे ऑफिस
मेट्रो स्टेशन के बाहर लाइन में लगीं एक युवती ने अपनी अपनी परेशानी का जिक्र करते हुए कहा कि मैं रोजाना एक घंटे में दफ्तर पहुंच जाती हूं, लेकन आज दो घंटे से लाइन में ही खड़ी हुई हूं. ऐसे पता नहीं कितने बजे तक ऑफिस पहुंचेंगे. वहीं, नोएडा के सेक्टर-52 में काम करने वाले मुकेश ने बताया कि इससे अच्छा तो मेट्रो को ही बंद कर दिया जाए. वैसे ही समय काफी बर्बाद हो रहा.

Tags: Corona Cases, Corona Virus, Delhi Metro, Ghaziabad News, Metro facility, Omicron Alert, UP news, गाजियाबाद

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर