राहुल सक्सेना मर्डरः सुबूत मिटाने आए तीन आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े

ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 15, 2017, 1:04 PM IST
राहुल सक्सेना मर्डरः सुबूत मिटाने आए तीन आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़े
प्रतीकात्मक तस्वीर
ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 15, 2017, 1:04 PM IST
दिल्ली कारोबारी राहुल सक्सेना मर्डर केस में आरोपी तीन बदमाशों को गाजियाबाद पुलिस ने मंगलवार को एक मुठभेड़ में दबोच लिया हैं. बिना नंबर की इटियोस कार से कविनगर इलाके में जा रहे बदमाशों ने पुलिस को देखते ही फायरिंग शुरू कर दी, लेकिन पुलिस की जबावी फायरिंग में तीनों बदमाश अंततः दबोच लिए गए.

दिलचस्प बात यह है कि तीनों बदमाशों के दबोच जाने से पहले गाजियाबाद पुलिस को जरा भी आशंका नहीं थी कि गिरफ्तार बदमाश राहुल सक्सेना मर्डर केस में वांछित थे. पुलिस के मुताबिक तीनों बदमाशों वारदात स्थल पर सुबूत मिटाने के लिए जा रहे थे. गिरफ्तार बदमाशो के नाम है क्रमशः शीलू, आकाश और विजेंदर है.

गौरतलब है गत 7 नवंबर को दिल्ली कारोबारी राहुल सक्सेना की हत्या कर दी गई थी और उसकी लाश को गाज़ियाबाद के कविनगर इलाके ठिकाने लगाया गया था. यही नहीं, पुलिस को गुमराह करने के लिए आरोपियों ने 20 लाख रुपए की डिमांड भी की गई थी.

रिपोर्ट के मुताबिक राहुल सक्सेना को उसके दिल्ली के शोरुम से निकलने के बाद अपहरण कर लिया गया था और उसे गाजियाबाद के मधुबन बापूधाम इलाके में लाकर गटर में उल्टा लटका दिया था, जिससे दम घुटने से उसकी मौत हो गई थी. राहुल सक्सेना का शव पुलिस ने 9 नवंबर को सीवर से बरामद किया था.

पुलिस के मुताबिक म़तक राहुल सक्सेना की हत्या उसके दोस्त शीलू ने इसलिए की थी, क्योंकि शीलू की गर्लफ्रेंड शीलू को छोड़कर मृतक राहुल सक्सेना के प्यार में पड़ गई. नाराज शीलू राहुल से बदला लेना चाहता था इसलिए उसने पहले राहुल का अपहरण किया और उसके बाद उसकी हत्या कर दी. राहुल सक्सेना की अपहरण की रिपोर्ट दिल्ली के सुलतानपुरी में दर्ज की गई थी.

एसपी सिटी गाजियाबाद आकाश तोमर ने बताया कि आरोपी शीलू गर्लफ्रेंड के धोखा देने से बेहद आहत था, जिसने उसे छोड़कर राहुल सक्सेना का दामन थाम लिया था. शीलू ने बदले के इरादे से राहुल सक्सेना की हत्या को अंजाम देने के लिए आकाश और विजेंदर की मदद से पहले राहुल का अपहरण किया फिर उसकी हत्या कर दी.

उन्होंने आगे बताया कि पुलिस ने केस की जांच शुरू ही की थी कि मंगलवार को कविनगर में कार में सवार होकर आए तीनों बदमाश अचानक पुलिस के हत्थे चढ़ गए. पुलिस ने तीनों के पास से मृतक का एटीएम कार्ड व अन्य दस्तावेज भी बरामद किए हैं. पुलिस अब अन्य साथियों की तलाश में जुट गई है.
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर