यूपी: 3 बच्चों और पत्नी के हत्यारे ने सुसाइड नोट में लिखा- बहुत प्यार करता था लेकिन...

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 7, 2019, 7:17 AM IST
यूपी: 3 बच्चों और पत्नी के हत्यारे ने सुसाइड नोट में लिखा- बहुत प्यार करता था लेकिन...
क्लेश से मुक्ति पाने को प्रदीप 4 को मार की सूसाइड. (प्रदीप के परिवार की फाइल फोटो)

प्रदीप ने सुसाइड नोट में लिखा, 'बीमार रह रही पत्नी का इलाज कराया. उसके रूम में एसी लगवाई, लेकिन एसी का बिल मैं भरता हूं. वह मुझे अपने पास सोने भी नहीं देती है. उसकी हर खुशी का मैंने ध्यान रखा, मुझे उस पर शक है.'

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के मसूरी थाना क्षेत्र के न्यू शताब्दीपुरम में प्रदीप नाम के युवक ने बीते दिनों तीन बेटियों और पत्नी की हत्या कर खुदकुशी कर ली थी. प्रदीप ने पत्नी के सिर पर हथौड़े से वार कर और तीनों बच्चियों के मुंह पर टेप चिपकाकर गला घोंट दिया था. उसके बाद अपने मुंह पर टेप चिपकाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस को अब प्रदीप का सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने हत्या किए जाने के पीछे की वजहों का खुलासा किया है.

जेब से मिले 6 पन्नों के सुसाइड नोट में प्रदीप ने इस हत्याकांड को अंजाम देने की वजह का खुलासा किया है. सुसाइड नोट में उसने पत्नी के लिए प्यार भरी बातें भी लिखी हैं. प्रदीप ने लिखा है, ‘पत्नी मुझे प्यार नहीं करती है, अपने पास सोने भी नहीं देती है. मुझे उस पर शक है. फिर भी मैं उसे बहुत प्यार करता हूं. पापा मेरे शव को संगीता के साथ ही जलाना. हमारे शवों का पोस्टमार्टम भी मत कराना. फांसी देने वाले की आखिरी इच्छा पूरी की जाती है. मेरी भी आखिरी इच्छा पूरी कर देना.’

पत्नी की हर खुशी का मैंने ध्यान रखा, लेकिन मुझे उस पर शक है
प्रदीप ने अपने सुसाइड नोट में शादी से लेकर अब तक की कई खास बातें लिखी हैं. उसने लिखा है कि, ‘शादी के बाद पत्नी काफी बीमार रहती थी, उसका इलाज कराया. उसके बाद बच्चे हुए. उसके रूम में एसी लगवाई, लेकिन एसी का बिल मैं भरता हूं. वह मुझे अपने पास सोने भी नहीं देती है. उसकी हर खुशी का मैंने ध्यान रखा, लेकिन मुझे उसकी हरकतों से शक होने लगा है. मैं बेरोजगार हूं, नौकरी की तलाश भी कर रहा हूं. उसके बावजूद वह मेरी कोई बात नहीं मानती है. हमेशा लड़ती रहती है. मैं उसकी हरकतों से तंग आ चुका हूं. मुझे उस पर शक है. इसके बाद प्रदीप ने लिखा कि पापा-मम्मी छोटी बहन रीना की शादी कर देना. अपना ध्यान रखना. क्लेश के कारण मैं तीनों बेटी, पत्नी की हत्या करने के बाद सुबह आत्महत्या कर लूंगा. आखिरी में फिर उसने लिखा की पांचों में से किसी के भी शव का पोस्टमार्टम मत कराना और मेरे शव को संगीता के साथ ही जलाना.’

पिता से कहा, कुछ देर बाद दरवाजा खोलता हूं
प्रदीप मूलरूप से मेरठ के गांव अघैड़ा निवासी प्रदीप (37) पुत्र न्यू शताब्दीपुरम में माता-पिता, बहन, पत्नी संगीता (35) और बेटियों मनस्वी (8), यशस्वी (5) व ओजस्वी (3) के साथ अपने घर में रह रहा था. संगीता एम्स में स्टाफ नर्स थी. मनस्वी कक्षा तीन, यशस्वी कक्षा दो और ओजस्वी प्ले-वे स्कूल में थी. शुक्रवार सुबह 4:30 के बाद बच्चियों के रोने की आवाज सुनकर प्रदीप के पिता ने उसे दरवाजा खोलने को कहा तो उसने कहा कि कुछ देर बाद दरवाजा खोलता हूं. कुछ ही देर में कमरे से आवाज आनी बंद हो गई.

फॉरेंसिक टीम ने जुटाए कई साक्ष्य
Loading...

पिता ने पड़ोसियों को बुलाकर ऊपर जाकर देखा तो सभी बेड पर पड़े थे. मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो पांचों के शव बेड पर पड़े थे. पुलिस की जांच में पता चला कि कमरे में कोई जहरीला पदार्थ, शीशी या रैपर नहीं मिला है. फोरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर घटना संबंधी कई साक्ष्य जुटाए हैं. कमरे को सील कर दिया गया है, जिससे कोई साक्ष्य नष्ट न किया जा सके.

ये भी पढ़ें -

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गाजियाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 7, 2019, 6:25 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...