होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /शूटिंग में कमाल करने वाली सबा ने बताई संघर्ष और कामयाबी की कहानी

शूटिंग में कमाल करने वाली सबा ने बताई संघर्ष और कामयाबी की कहानी

Ghaziabad News: नेशनल सिविल सर्विसेज एथलीट में चयन होने के बाद सबा अपनी नौकरी करने के बाद पूरा समय प्रैक्टिस को दे रही ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट: विशाल झा

गाजियाबाद. गाजियाबाद (Ghaziabad) की रहने वाली सबा ने जिले का नाम रोशन किया है. पेशे से सरकारी कर्मचारी सबा को अपने स्पोर्ट्स करियर में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. पर सबा ने ठान लिया था कि वो सबको जवाब अपने मैडल से देंगी. बचपन से ही सबा को खेलों में रूचि रही है. स्कूल के समय वो एथलीट (Athlete) में हिस्सा लिया करती थी. वहीं आगे चलकर उनके पैशन में तब्दील हो गया. फिर सबा ने कई बार जिले का नाम रोशन किया और दर्जनों मैडल अपने नाम किए.

पहली बार उठाया हथियार
सबा को शूटिंग प्रतियोगिता (Shooting Competition ) के बारे में ऑफिस के दोस्तों से पता चला था. जिसके बाद उनकी इच्छा शूटिंग में हाथ आजमाने लगी. बिना ट्रेनिंग लिए सबा ने शूटिंग रेंज में हथियार थाम लिया और फिर 8 राउंड फायर के बाद परिणाम चौंका देने वाले थे. दरअसल शूटिंग के दौरान प्रतिभागी को शूट करते हुए ग्रुप बनाना होता है और सबा ने बिलकुल सटीक ग्रूप बनाया था. जिसके बाद वहां मौजूद कोच ने उन्हें आगे खेलने के लिए प्रोत्साहित किया.

सबा ऑफिस से रोज शूटिंग रेंज पर प्रैक्टिस करने जाने लगी. पर इस बारे में उन्होंने अपने परिवार में किसी को नहीं बताया. जब परिवार पूछता की तुम्हें इतनी देर क्यों होती है तो वो पढ़ाई का बहाना कर देती. फिर वो दिन आ गया जब सबा को शूटिंग में अपना पहला गोल्ड मैडल मिला, इस दिन उन्होंने परिवार को बताया तो सब चौंक गए.

मुस्लिम महिलाओं को करना है जागरूक
सबा ने सपोर्टिंग करियर में बहुत सारे ताने सुने जो उनको कभी -कभी मायूस करके रख देते थे. सबा ने News 18 Local को बताया की मेरे धर्म में लड़कियों को खेल में बहुत कम भेजा जाता है. इसलिए आप बहुत कम किसी फीमेल मुस्लिम स्पोर्ट्स पर्सनालिटी के बारे में जानते है. मैं हमारे समाज की इस खाई को खत्म करना चाहती हूं और मुस्लिम लड़कियों को खेलों में हिस्सा लेने के लिए जागरूक करना चाहती हूं.

नेशनल सिविल सर्विसेज की तैयारी
नेशनल सिविल सर्विसेज एथलीट में चयन होने के बाद सबा अपनी नौकरी करने के बाद पूरा समय प्रैक्टिस को दे रही है.

उनका कहना हैं कि खेल आपको मानसिक तौर पर चुस्त रखते है. और एक स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क का वास होता है.

Tags: Ghaziabad News, Indian Shooting Team, Sports news, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें