हापुड़: कर्ज से परेशान गन्ना किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 28, 2019, 6:32 PM IST
हापुड़: कर्ज से परेशान गन्ना किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
हापुड़ कर्ज से परेशान गन्ना किसान ने लगाई फांसी

हापुड़ (Hapur) जनपद में गढ़ तहसील के पावटी गांव में कर्ज से परेशान एक गन्ना किसान (Farmer) सेंसरपाल ने फांसी लगाकर जान दे दी. किसान का शव खेत पर पेड़ से लटका हुआ मिला. पता चला है कि किसान पर करीब 3 बैंकों का 6 लाख रूपये से अधिक का कर्ज था, जिसे लेकर वह परेशान रहता था.

  • Share this:
हापुड़ (Hapur) जनपद में गढ़ तहसील के पावटी गांव में कर्ज से परेशान एक गन्ना किसान (Farmer) सेंसरपाल ने फांसी लगाकर जान दे दी. किसान का शव खेत में पेड़ से लटका हुआ मिला. जानकारी के मुताबिक किसान पर तीन बैंकों का 6 लाख रूपये से अधिक का कर्ज था, जिसे लेकर वो परेशान रहता था. कर्ज न चुका पाने के चलते किसान पिछले कई दिन से परेशान था. बुधवार को किसान सेंसरपाल ने खेत में जाकर आत्महत्या कर ली.

बताया जा रहा है कि किसान का गन्ना मिल पर 4 से 5 लाख रूपये गन्ना भुगतान बकाया था. मिल की तरफ से भुगतान किसान को नहीं दिया गया. गांववालों के अनुसार अगर समय रहते किसान को मिल से गन्ने का भुगतान मिल जाता तो शायद आज वह जिंदा होता. वहीं अब तहसील प्रशासन किसान परिवार को मदद देने की बात कह रहा है.

hapur farmer suicide SDM
हापुड़ एसडीएम विजयवर्द्धन के अनुसार आत्महत्या करने वाले किसान के परिवार को हर संभव मदद की जा रही है.


मामले में एसडीएम विजयवर्द्धन ने कहा कि किसान द्वारा आत्महत्या की सूचना मिलने के बाद चौकी इंचार्ज मौके पर पहुंचे थे. शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. एसडीएम ने कहा कि जांच कर रहे हैं कि आत्महत्या का कारण क्या था, और साथ ही किसान के परिवार को क्या-क्या मदद दी जा सकती है, ये देख रहे हैं. उसके परिवार को कृषक दुर्घटना बीमा आदि का लाभ देने के विषय में भी देख रहे हैं. एसडीएम ने कहा कि किसान पर कोऑपरेटिव से कर्ज लेने की जानकारी हुई है, उसे हम जांच रहे हैं. चीनी मिल से बकाए की बात भी सामने आएगी तो उसका भुगतान भी हम कराएंगे.

(रिपोर्ट: विपिन गिरी)

ये भी पढ़ें:

यूपी में बच्चा चोरी की अफवाह से भीड़ का शहर-शहर तांडव
Loading...

शाहजहांपुर छात्रा अपहरण केस का NCW ने लिया स्वत: संज्ञान

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गाजियाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 6:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...