होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Surya Grahan Timing in Ghaziabad: आपके शहर में कब लग रहा सूर्य ग्रहण? जानिए क्या करें क्या न करें

Surya Grahan Timing in Ghaziabad: आपके शहर में कब लग रहा सूर्य ग्रहण? जानिए क्या करें क्या न करें

गाज़ियाबाद समेत प्रमुख शहरों में सूर्य ग्रहण का समय जानिए.

गाज़ियाबाद समेत प्रमुख शहरों में सूर्य ग्रहण का समय जानिए.

ज्योतिष गणना के अनुसार पिछले 1300 सालों के बाद सूर्य ग्रहण दो प्रमुख त्योहारों के बीच पड़ने के साथ बुध, गुरु, शुक्र और श ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – विशाल झा

    गाजियाबाद. दीवाली और गोवर्धन पूजा के बीच सूर्य ग्रहण का दुर्लभ संयोग कई सालों के बाद देखा जा रहा है. आज 25 अक्टूबर को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण है. देश में उत्तरी पश्चिम भागों में आसानी के साथ सूर्यग्रहण देखा जा सकेगा, जबकि देश के पूर्वी भागों में यह ग्रहण नहीं दिखेगा क्योंकि यहां सूर्यास्त जल्दी हो जाएगा. भारत में ग्रहण की शुरूआत शाम 4 बजे के बाद बताई जा रही है. दिल्ली, राजस्थान, पश्चिमी मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू, श्रीनगर लेह और लद्दाख इन जगहों पर सूर्यग्रहण देखा जा सकेगा. पहले समय के बारे में जानिए.

    दिल्ली – शाम 4 बजकर 29 मिनट से शाम 5 बजकर 42 मिनट तक
    कोलकाता – शाम 5 बजकर 52 मिनट से शाम 5 बजकर 3 मिनट तक
    मुंबई – शाम 4 बजकर 49 मिनट से शाम 6 बजकर 9 मिनट तक
    गाज़ियाबाद – शाम 4 बजकर 29 मिनट से शाम 5 बजकर 40 मिनट तक

    ज्योतिष से जानिए क्या करें और क्या नहीं

    गाज़ियाबाद स्थित शिव शंकर ज्योतिष एवं वास्तु अनुसंधान केंद्र के आचार्य शिव कुमार शर्मा ने NEWS 18 LOCAL से खास बतचीत में बताया सूर्य ग्रहण होने पर 12 घंटे पहले और चंद्र ग्रहण लगने पर 5 घंटे पहले सूतक काल शुरू हो जाता है. जब सूतक काल लग जाता है, तब पूजा-पाठ, धार्मिक अनुष्ठान और शुभ काम नहीं किए जाते. मंदिर के पट बंद हो जाते हैं. ग्रहण में खाना भी नहीं पकाया जाता और न ही खाया जाता है. ग्रहण के बाद गंगाजल से स्नान और दान किया जाता है. ज्योतिषीय सलाह इस प्रकार दी जाती है.

    – ग्रहण के दौरान शुभ काम और देवी देवताओं की पूजा न करें
    – ग्रहण के दौरान भोजन पकाने और खाने से भी बचें
    – ग्रहण के दौरान तुलसी समेत अन्य पेड़ पौधों को न छुएं

    सूर्य ग्रहण में क्या करें

    – सूतक काल शुरू होने से पहले ही खाने पीने की चीज़ों में तुलसी पत्ते तोड़कर डालें
    – ग्रहण के दौरान अपने इष्ट देवी देवताओं के नाम का स्मरण करें
    – ग्रहण के असर को कम करने के लिए मंत्रों का जाप करें
    – ग्रहण के खत्म होते ही पूरे घर में गंगाजल का छिड़काव करें
    – ग्रहण के दौरान इस मंत्र का जाप करें : ओम आदित्य विदमहे दिवाकराय धीमहि तन्नो: सूर्य: प्रचोदयात.

    ज्योतिष के अनुसार सूर्य ग्रहण के दौरान अच्छी सेहत और दोष से मुक्ति के लिए भगवान शिव को समर्पित महामृत्युंजय मंत्र का भी जाप करना चाहिए. शास्त्रों के हवाले से कहा जाता है कि सूर्य ग्रहण के दौरान दान और गंगा स्नान का विशेष महत्व है.

    सूर्य ग्रहण से सेहत पर प्रभाव

    – थकान और सुस्ती
    – पाचन तंत्र पर दुष्प्रभाव
    – मेंटल हेल्थ में परेशानी
    – गर्भवती महिलाओं पर बुरा असर

    Tags: Ghaziabad News, Surya Grahan

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें