सफाई के लिए टीचर को मिली सजा,महीने भर बाद भी कार्रवाई नहीं

पूरा मामला गाजियाबाद के इंदिरापुरम स्‍थित ज्ञान खंड का है. यहां के निवासी और टीचर उदय सिंह ने कुछ समय पहले एक युवक को सड़क पर कूड़ा डालने से रोका था. उस दिन से यह युवक इस टीचर से रंजिश रखने लगा था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 4, 2018, 3:19 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 4, 2018, 3:19 PM IST
यूपी के गाजियाबाद में सड़क पर कूड़ा फेंकना मना करने पर दबंगों द्वारा हुई टीचर की पिटाई के मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई  है. एक महीने से ज्‍यादा का वक्‍त बीतने के बाद भी टीचर इंसाफ के लिए दर- दर भटक रहे हैं. वहीं पुलिस इस पूरे मामले में लापरवाही बरत रही है.

पूरा मामला गाजियाबाद के इंदिरापुरम स्‍थित ज्ञान खंड का है. यहां के निवासी और टीचर उदय सिंह ने कुछ समय पहले एक युवक को सड़क पर कूड़ा डालने से रोका था. उस दिन से यह युवक इस टीचर से रंजिश रखने लगा था. इसके बाद युवक ने मौका देख कर 25 जुलाई की शाम रात 9:30 बजे यह युवक समेत कुछ अन्‍य दबंगों ने टीचर को घर से खींचकर पिटाई कर दी. पीड़ित शिक्षक ने 100 नंबर कॉल की. करीब ढाई घंटे की देरी से मौके पर पुलिस आई. टीचर का आरोप है कि आरोपी परिवार के घर बैठकर पुलिस वाले वापस चले गए. इसके बाद पीड़ित अध्यापक ने पुलिस के तमाम अधिकारियों को अपनी शिकायत लिखित में दी. सीसीटीवी फुटेज वीडियो भी दिया, लेकिन बावजूद इसके आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई. एक महीने से ज्यादा का वक्त बीत गया. टीचर दबंगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने और इंसाफ पाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं. टीचर का आरोप है कि इंदिरापुरम पुलिस इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रही है.

 यह भी पढ़ें: एनडीए में कौन नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनते नहीं देखना चाहता? 

PHOTOS: क्यों भोजपुरी सिनेमा के शाहरुख, सलमान और आमिर हैं ये एक्टर्स?
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर