लाइव टीवी

गाजियाबाद में उल्लुओं के साथ दो तस्कर गिरफ्तार, करोड़ों में है कीमत

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 23, 2019, 2:02 PM IST
गाजियाबाद में उल्लुओं के साथ दो तस्कर गिरफ्तार, करोड़ों में है कीमत
गाजियाबाद में उल्लुओं के साथ तस्‍करों को गिरफ्तार किया गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

दिवाली (Diwali) पर तंत्र-मंत्र की सिद्धि के लिए उल्लुओं (Owls) की तस्करी की जा रही थी. उल्‍लू को लक्ष्‍मी जी का वाहन माना जाता है, इसलिए दिवाली में इसका महत्‍व बढ़ जाता है.

  • Share this:
गाजियाबाद.उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गाजियाबाद (Ghaziabad) में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां पुलिस ने दो पक्षी तस्करों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने तस्करों के पास से कई उल्लू (Owl) भी बरामद किए हैं. कहा जा रहा है कि दिवाली पर तांत्रिक क्रियाओं की सिद्धि करने के लिए उल्लू की तस्करी करने की कोशिश की जा रही थी. फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज करा जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक, मामला गाजियाबाद के इंदिरापुरम का है. पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर दो पक्षी तस्करों को गिरफ्तार किया. बताया जा रहा है कि दिवाली पर्व पर तांत्रिक क्रिया की सिद्धि के लिए उल्लुओं की तस्करी की जा रही थी. एसपी सिटी मनीष मिश्रा ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर तस्करों को गिरफ्तार किया गया है. इनके कब्जे से पुलिस ने पांच उल्लुओं को बरामद किया है.



हिन्‍दू मान्यताओं के अनुसार, दीपवाली के दिन लक्ष्मी जी की पूजा होती है. वहीं, उल्लू को लक्ष्मी जी का वाहन माना जाता है. कहा जाता है कि इस दिन तांत्रिक  तांत्रिक क्रिया की सिद्धि के लिए उल्लुओं की बलि देते हैं. वे उनके अंगों के ताबीज बनाते हैं. वहीं, इन उल्लुओं की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ों रुपये में हैं. फिलहाल वन विभाग को इन उल्लुओं को सुपुर्द कर दिया गया है.

बता दें कि हिन्‍दू धर्म में उल्लू को समृद्धि और धन का प्रतिक भी माना जाता है. साथ ही जादू और टोने-टोटके में भी उल्लू के नाखून, पंख आदि का उपयोग किया जाता है. इस कार्य के लिए लोग उल्लू को पकड़ते हैं. उल्‍लू के तकरीबन 200 प्रकार पाए जाते हैं. उल्लू के पंजे बहुत ही ताकतवर होते हैं, जिसके कारण वे अपने शिकार को आसानी से पकड़ लेते हैं. सबसे बड़ी खासियत यह है कि ये पक्षी अपने सिर को लगभग 270 डिग्री तक घुमा सकता है.

ये भी पढ़ें- 

Bigg Boss: लड़के-लड़कियों के बेड पार्टनर बनने से ब्राह्मण महासभा सलमान से खफा
Loading...

अपने पहले ही सफर में तेजस एक्सप्रेस को झेलना पड़ा विरोध, रोकने की कोशिश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गाजियाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 1:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...