Home /News /uttar-pradesh /

गाजियाबाद के इस अस्पताल में नसबंदी कराने गई थी महिला, इंजेक्शन लगाते ही हो गई मौत

गाजियाबाद के इस अस्पताल में नसबंदी कराने गई थी महिला, इंजेक्शन लगाते ही हो गई मौत

गाजियाबाद के अस्पताल में नसबंदी कराने पहुंची एक महिला की मौत हो गई. (फाइल फोटो)

गाजियाबाद के अस्पताल में नसबंदी कराने पहुंची एक महिला की मौत हो गई. (फाइल फोटो)

गाजियाबाद (Ghaziabad) के जिला महिला अस्पताल (MMG Hospital) में एक महिला (Woman) की मौत हो गई. महिला अस्पताल में नसबंदी (Vasectomy) कराने पहुंची थीं. परिजनों ने महिला के शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया. महिला की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर बवाल काटा. वहीं, अस्पताल प्रशासन का कहना है कि महिला को हार्ट अटैक से मौत हो गई.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. बुधवार को गाजियाबाद (Ghaziabad) के जिला महिला अस्पताल (MMG Hospital) में एक महिला (Woman) की मौत हो गई. महिला अस्पताल में नसबंदी (Vasectomy) कराने पहुंची थीं. परिजनों ने महिला के शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया. महिला की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर बवाल काटा. वहीं, अस्पताल प्रशासन का कहना है कि महिला को हार्ट अटैक से मौत हो गई. जबकि, मृतक महिला के परिजनों का आरोप है कि अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से मौत हुई है.

    बता दें कि बुधवार को गाजियाबाद के अर्थला न्यू हिंडन विहार के रौनक अपनी पत्नी को जिला महिला अस्पताल लेकर पहुंचे थे. रौनक के अनुसार सारी कागजी कार्रवाई करने के बाद चिकित्सकों ने उनकी पत्नी को एक इंजेक्शन लगाया. इसके कुछ देर बाद ही मेरी पत्नी को ऑपरेशनन के लिए ले जाया भी गया. लेकिन, कुछ देर के बाद ही डॉक्टरों ने उन्हें बुलाया और कहा कि आपकी पत्नी की तबीयत खराब हो गई है. इसके कुछ ही देर बाद मेरी पत्नी की मौत हो गई.

    Ghaziabad news, Woman died, after injected, Ghaziabad hospital, mmg hospital, sterilization, vasectomy, गाजियाबाद न्यूज, नसबंदी से पहले ही महिला की मौत, इंजेक्शन देने के बाद महिला की मौत, इंफेक्शन, एनेसथेसिया, हार्ट अटैक

    धवार को गाजियाबाद के अर्थला न्यू हिंडन विहार के रौनक अपनी पत्नी को जिला महिला अस्पताल लेकर पहुंचे थे.(File Photo)

    नसबंदी कराने आईं थी महिला, हो गई मौत
    इस घटना पर गाजियाबाद के एमएमजी अस्पताल के सीएमएस का कहना है कि काफी मान-मनौव्वल के बाद भी महिला के शव का पोस्टमार्टम नहीं किया जा सका. इससे महिला का मौत का कारण पता चल जाता. महिला अस्पताल में नसबंदी कराने आईं थीं.’

    परिजनों का अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप
    गौरतलब है कि भारत में महिलाओं को नसबंदी से बड़ा खतरा रहता है. महिलाओं पर काम करने वाली कई संस्थाओं का कहना है कि पुरुष की तुलना में महिला को ही क्यों नसबंदी कराया जाता है? महिला पर इसके लिए किसी तरह का दबाव नहीं होना चाहिए और न तो सरकार का और न ही किसी स्वास्थ्य अधिकारी का होना चाहिए.

    churu news, Pandit Deendayal Upadhyay Medical College, complaint in whatsapp number, churu hospital complaint number, churu News in hindi, churu News hindi me, churu ki taja khabar, rajathan news

    पंडित दीनदयाल उपाध्याय मेडिकल कॉलेज में रिश्वतखोरों की शि्कायत करने पर मिलेगा इनाम. (फाइल फोटो)

    नसबंदी के दौरान महिलाओं को दिया जाता है एनस्थीसिया
    नसबंदी के दौरान महिलाओं को एनस्थीसिया दिया जाता है. नसबंदी की प्रक्रिया में इन्फेक्शन का डर सबसे ज्यादा रहता है. इसलिए यह बेहद जरूरी है कि सभी मेडिकल औजार साफ-सुथरे होने चाहिए. लेकिन, भारत के अस्पतालों में इस पर कोई खास ध्यान नहीं दिया जाता है. नतीजा यह होता है कि महिला को इन्फेक्शन फैल जाने के बाद मौत हो जाती है.

    ये भी पढ़ें: RML अस्पताल की नर्स से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्या बातचीत हुई? PM के बारे में क्रिस्टीना ने क्या कहा?

    गाजियाबाद जैसी घटना भारत के दूसरे शहरों में भी देखने को मिलता है, जिसमें नसबंदी के बाद कई महिलाओं की मौत हुई है. स्वास्थ्य अधिकारी एक लक्ष्य तय कर लेते हैं और उस लक्ष्य को पूरा करने के लिए वे ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को शिविरों तक ले आते हैं. बाद में बदइंतजामी के कारण इस तरह के हादसे हो जाते हैं.

    Tags: Death, Ghaziabad News, Hospital, Woman

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर